UP: हाथरस पीड़िता को इंसाफ दिलाने निकाला कैंडल मार्च- भूख हड़ताल पर परिजन

हाथरस की पीड़ित युवती गैंगरेप की घटना पर जबरदस्‍त आक्रोश, लोगों ने कैंडल मार्च निकाला व पीड़िता के परिजन अस्पताल के बाहर भूख हड़ताल पर बैठे। ट्वीटर पर #JusticeForManisha, #7Baje7Minute कर रहा ट्रेंड
UP: हाथरस पीड़िता को इंसाफ दिलाने निकाला कैंडल मार्च- भूख हड़ताल पर परिजन
UP: हाथरस पीड़िता को इंसाफ दिलाने निकाला कैंडल मार्च- भूख हड़ताल पर परिजनPriyanka Sahu -RE

उत्तर प्रदेश, भारत। उत्तर प्रदेश के हाथरस में 19 साल की गैंगरेप पीड़िता दलित युवती की दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में मौत होनेे के बाद देशभर में आक्रोश है। हाथरस की पीड़ित युवती के साथ हुए अमानवीय गैंगरेप की घटना को लेेकर पीड़िता के लिये इंसाफ की मांग हो रही है।

लोगों ने शाम 7 बजे, 7 मिनट के लिए जलाईं मोमबत्ती :

हाथरस की पीड़ित युवती के गैंगरेप की घटना के मामले में पीड़िता के लिये इंसाफ मांगने के लिये लोगों ने आज शाम 7 बजे, 7 मिनट के लिये मोमबत्ती जलाईं और शांतिपूर्ण प्रदर्शन किया। इसी के चलते ट्वीटर पर #JusticeForManisha, #HathrasCase, #7Baje7Minute हैशटैग ट्रेंड कर रहा हैैै।

दबंगों के हवस की घिनौनी हरकत :

गौरतलब है कि, थाना चंदपा क्षेत्र के एक गांव में 19 साल की एक दलित युवती के साथ यह घिनौनी वारदात 14 सितम्बर को तब घटी थी, जब युवती पशुओं का चारा लेने के लिए अपनी मां के साथ खेत पर गयी थी। हाथरस की निर्भया के साथ चार दबंगों ने हवस की ऐसी घिनौनी हरकत की थी कि, उसकी कमर की हड्डी तोड़ दी, चीभ काट दी। लड़की के साथ हुई हैवानियत की इस घटना से लोगों के रुह कांप उठी।

भूख हड़ताल पर बैठे युवती के परिजन :

हाथरस गैंगरेप पीड़िता की बेटी को इंसाफ और दोषियों को फांसी दिलाने की मांग को लेकर युवती के परिजन अब भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं के साथ अस्पताल के बाहर भूख हड़ताल पर बैठ गए गए हैं। इसके साथ ही कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भी मंगलवार शाम को सफदरजंग अस्पताल में कैंडल मार्च निकालकर हाथरस गैंगरेप पीड़िता के लिए इंसाफ की लड़ाई में उसके परिवार को मदद का भरोसा दिया। इसमें भीम आर्मी ने भी उनका साथ दिया।

परिजनों का आरोप :

वहीं परिजनों का आरोप है कि, उत्तर प्रदेश प्रशासन इस मामले को दबाने के लिए लीपापोती की कोशिश कर रहा है। बताया जा रहा है कि पीड़िता शव को पोस्टमॉर्टम के लिए किसी दूसरी जगह ले जाया गया है, लेकिन युवती के पिता और भाई को वहीं छोड़ दिया गया है, इसलिए वे सफदरजंग अस्पताल के बाहर ही भूख हड़ताल पर बैठे हैं। परिजनों का आरोप है कि उनकी बेटी का शव उन्हें नहीं दिया जा रहा है।

दिल्ली में हाथरस सामूहिक बलात्कार पीड़िता की मौत को लेकर भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं ने सफदरजंग अस्पताल के बाहर विरोध प्रदर्शन किया।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co