दिल्ली CM केजरीवाल का दावा-काबू में कोरोना के हालात
दिल्ली CM केजरीवाल का दावा-काबू में कोरोना के हालात|Twitter
कोरोना वायरस

दिल्ली CM केजरीवाल का दावा-काबू में कोरोना के हालात

दिल्ली में कोरोना संकट को लेकर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने COVID-19 के ताजा हालात पर प्रेस कॉन्फ्रेंस की और कहा कि, दिल्ली में अब स्थिति काबू में है और हर रोज ठीक होने वालों की संख्या बढ़ रही है।

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

दिल्ली, भारत। देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस की मौजूदा स्थिति क्या है, इस बारे में राज्य के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल प्रेस कॉन्फ्रेंस कर जानकारी देते रहते हैं। इसी कड़ी में आज बुधवार को उन्होंने फिर COVID-19 के ताजा हालात पर प्रेस कॉन्फ्रेंस की।

दिल्ली में कोरोना की स्थिति में सुधार :

इस दौरान दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कोरोना वायरस के मसले पर प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि, दिल्ली में अब स्थिति काबू में है, ये दिल्ली वालों की मेहनत का नतीजा है। 1 महीने पहले 30 जून तक 60,000 एक्टिव केस का अनुमान था। मुझे खुशी है कि, आज सिर्फ 26,000 एक्टिव केस ही हैं। सभी की एकजुटता और मेहनत से अब दिल्ली में स्थिति में सुधार है। पहले दिल्ली में 100 लोगों का कोरोना टेस्ट करते थे, तो उसमें से 31 लोग कोरोना से पॉजिटिव पाए जाते थे। अब 100 लोगों के टेस्ट में केवल 13 कोरोना के मरीज ही पॉजिटिव आ रहे हैं।

आज दिल्ली में सिर्फ 5,800 मरीज़ अस्पतालों में भर्ती है। पिछले हफ्ते के मुकाबले 400 मरीज अस्पतालों में कम भर्ती हुए हैं। अगर मरीजों की संख्या बढ़ती भी है तो हमने 15,000 बेड्स का इंतजाम कर लिया है।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल

दिल्लीवालों को घबराने की जरूरत नहीं :

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि, कुछ एक्सपर्ट कह रहे हैं दिल्ली में कोरोना का पीक आकर चला गया, लेकिन मैं लोगों से कहूंगा इनपर ध्यान मत दीजिए, अब दिल्लीवालों को घबराने की जरूरत नहीं है, क्योंकि अब हालात पहले से काफी सुधर गए हैं। अभी भी लोग मास्क पहनें, हाथ धोएं और नियमों का पालन करें, क्योंकि हम नहीं चाहते हैं कि, पहले जैसी स्थिति वापस आए।

CM अरविंद केजरीवाल बोले, हमारी सरकार ने अस्पतालों, बैंकट हॉल समेत काफी संस्थाओं से बात की। केंद्र सरकार से भी मदद मांगी और हर किसी को साथ लिया, एक महीने में जो भयावह स्थिति दिख रही थी, आज हमें वैसी स्थिति नहीं दिख रही है।

इस दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि, लगभग एक महीने पहले जब हमने दिल्ली में लॉकडाउन खोला था, तब बहुत तेजी से कोरोना के केस बढ़ने लगे थे। हमें तब उम्मीद थी कि केस बढ़ेंगे, मगर इतनी तेजी से बढ़ेंगे यह उम्मीद नहीं थी। केंद्र सरकार की एक वेबसाइट है, जिससे पता चलता है कि ,आगे की स्थिति क्या होगी। उसके मुताबिक, जिस स्पीड से दिल्ली में कोरोना के केस बढ़ रहे थे। उस हिसाब से दिल्ली में 30 जून तक एक लाख केस होने थे। उसमें लगभग 60 हजार सक्रिय केस होते और इसके लिए लगभग 15 हजार बेड्स की जरूरत थी। यह स्थिति बेहद गंभीर थी। इस दौरान हमने हार नहीं मानी और काम किया।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co