सिख कौम जहां भी है, अपने पुरुषार्थ के लिए जानी जाती है: CM योगी
सिख कौम जहां भी है, अपने पुरुषार्थ के लिए जानी जाती है: CM योगीRajexpress

सिख कौम जहां भी है, अपने पुरुषार्थ के लिए जानी जाती है: CM योगी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 'साहिबजादा दिवस' के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में कहा, भारत की गुरु परंपरा एक दिव्य परंपरा है...

उत्तर प्रदेश, भारत। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज सोमवार को लखनऊ में साहिब श्री गुरु गोबिन्द सिंह जी महाराज जी के चार साहिबजादों एवं माता गुजरी जी की शहादत को समर्पित 'साहिबजादा दिवस' के अवसर पर आयोजित 'गुरुबाणी कीर्तन' में सम्मिलित हुए। इस दौरान उन्‍होंने गुरुद्वारे पहुंचकर मत्था भी टेका।

भारत की भक्ति व शक्ति का एक अद्भुत संगम है सिख परंपरा :

तो वहीं, 'साहिबजादा दिवस' के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में CM योगी ने अपने संबोधन में कहा- यह मेरे लिए सौभाग्य का अवसर है कि, देश व धर्म के लिए अपना बलिदान देने वाले गुरु गोबिंद सिंह जी महाराज के उन चार साहिबजादों की शहादत में आज 'साहिबजादा दिवस' पर हम लोग मुख्यमंत्री आवास में गुरुबाणी कीर्तन करके यहां उनकी स्मृति को नमन कर रहे हैं। गुरुनानक देव जी के 550वें प्रकाशोत्सव के अवसर पर निकली कीर्तन यात्रा का पाठ करने का सौभाग्य मुझे इस मुख्यमंत्री आवास पर प्राप्त हुआ था। भारत की भक्ति व शक्ति का एक अद्भुत संगम है सिख परंपरा।

भारत को गुलाम बनाने व इस्लामिक देश में बदलने की मंशा के साथ जो विदेशी आततायी आए थे, आज उनका नामोनिशान मिट गया है। देश व दुनिया में सिख कौम जहां भी है, अपने पुरुषार्थ के लिए जानी जाती है।

उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ

CM योगी द्वारा कही गईं बातें-

  • भारत की गुरु परंपरा एक दिव्य परंपरा है। अपने इतिहास को विस्मृत करके कोई भी अपने उज्जवल भविष्य को आगे नहीं बढ़ा सकता।

  • औरंगजेब के सिपहसालार जालिम वजीर खान ने इन साहिबजादों को तमाम प्रकार के प्रलोभन देने का प्रयास किया था, लेकिन देश व धर्म के प्रति किसी भी प्रकार का विचलन चारों साहिबजादों को स्वीकार नहीं था।

  • कश्मीर से कश्मीरी हिन्दुओं व कश्मीरी पंडितों को भगाने वाले कौन थे, यह सर्वविदित है। गुलाम देश में कश्मीरी पंडितों की रक्षा करने वाले गुरु तेग बहादुर जी महाराज थे।

  • गुरु परंपरा के कार्यक्रम सिर्फ गुरुद्वारे तक सीमित न रहकर हर हिन्दू घर में होने चाहिए। हर भारतीय के घर में होने चाहिए।

  • मुख्यमंत्री आवास में कोई अन्य धार्मिक कार्यक्रम नहीं होता। लेकिन मेरा मानना है कि भारत के इतिहास को एक नई दिशा देने वाले कार्यक्रम होने चाहिए। यह कार्यक्रम भी भारत के इतिहास को नई दिशा देने वाला है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.