तीखी तकरार के बाद प्रियंका के आगे झुकी योगी सरकार
तीखी तकरार के बाद प्रियंका के आगे झुकी योगी सरकार|Priyanka Sahu -RE
उत्तर भारत

तीखी तकरार के बाद प्रियंका के आगे झुकी योगी सरकार

इन दिनों प्रवासी श्रमिकों के मामले पर भाजपा व कांग्रेस के बीच तीखी तकरार होने के बाद यूपी की योगी सरकार ने कांग्रेस को मजदूरों को घर पहुंचाने के लिये बसें चलाने की अनुमति को स्वीकार कर लिया है।

राज एक्सप्रेस

राज एक्सप्रेस

राज एक्‍सप्रेस। उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने कांग्रेस को प्रवासी श्रमिकों को घर पहुंचाने के लिये एक हजार बसें चलाने की अनुमति को स्वीकार कर लिया है।

सूबे के प्रमुख सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के इस बारे में लिखे गये पत्र का जवाब देते हुये कहा, ''16 मई को लिखे गये पत्र के बारे में कहना है कि प्रवासी मजदूरों के संदर्भ में आपके प्रस्ताव को स्वीकार किया जाता है। इसलिये अविलंब एक हजार बसों की सूची चालक और परिचालक के नाम पते के साथ उपलब्ध कराने का कष्ट करें जिससे इनका उपयोग प्रवासी श्रमिकों की सेवा में किया जा सके।"

इससे पहले कांग्रेस के प्रदेश दफ्तर में पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू और विधायक दल की नेता अराधना मिश्रा मोना ने प्रेस कांफ्रेंस कर योगी सरकार पर मजदूरों के प्रति बेरूखी बरतने का आरोप लगाते हुये कहा कि, सरकार जानबूझ कर कांग्रेस को बसें चलाने की अनुमति नहीं दे रही है।

प्रियंका ने की थी मांग :

पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने शनिवार को पत्र लिखकर योगी सरकार से मजदूरों के लिये बसें चलाने की अनुमति मांगी थी जबकि रविवार को कांग्रेस शासित राजस्थान सरकार ने 500 निजी और सरकारी बसें उत्तर प्रदेश सीमा पर खड़ी कर दी थी। श्रीमती वाड्रा ने अलग अलग तीन ट्वीट कर प्रदेश सरकार से बसों को अनुमति देने की अपील की थी। देर शाम तक इंतजार करने के बाद बसें वापस चली गयी थीं।

उधर, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट कर कांग्रेस पर प्रवासी श्रमिकों पर राजनीति करने का आरोप लगाया था। उन्होंने कहा था कि, वैश्विक महामारी के समय कांग्रेस द्वारा की जा रही नकरात्मक एवं कुटिल राजनीति की निंदा की जानी चाहिये। कोरोना संकट में अगर कोई संस्था अथवा दल सहयोग देने में रूचि लेना चाहता है तथा प्रदेश सरकार को प्रवासी श्रमिकों और साधनों की सूची भेजेगा तो उन्हे अवश्य अनुमति मिलेगी और उसका स्वागत भी होगा।

उन्होंने कहा था कि, औरैया में प्रवासी श्रमिकों की मौत के लिये जिम्मेदार एक ट्रक पंजाब और दूसरा राजस्थान से आया था और दोनों ही राज्यों में कांग्रेस की सरकारें हैं। राजस्थान और पंजाब समेत जो भी सरकार प्रवासी श्रमिकों की सूची यूपी सरकार को उपलब्ध करा रही हैं, उस राज्य से उनकी सुरक्षित एवं सम्मानजनक वापसी के लिये श्रमिक एक्सप्रेस तथा अन्य सुरक्षित साधन लगाये गये हैं।

डिस्क्लेमर: यह आर्टिकल न्यूज एजेंसी फीड के आधार पर प्रकाशित किया गया है। सिर्फ शीर्षक में बदलाव किया गया है। अतः इस आर्टिकल अथवा समाचार में प्रकाशित हुए तथ्यों की जिम्मेदारी राज एक्सप्रेस की नहीं होगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co