हाथरस घटना पर बोले CM योगी- कतई नहीं बचेंगे दोषी, जांच हेतु SIT का गठन

हाथरस दुर्भाग्यपूर्ण घटना पर PM मोदी ने CM योगी से बात कर कहा-दोषियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाए एवं UP सरकार ने इस मामले को फास्ट ट्रैक कोर्ट में लाने के निर्देश व जांच हेतु 3 सदस्यीय SIT गठित की।
हाथरस घटना पर बोले CM योगी- कतई नहीं बचेंगे दोषी, जांच हेतु SIT का गठन
हाथरस घटना पर बोले CM योगी- कतई नहीं बचेंगे दोषी, जांच हेतु SIT का गठनSocial Media

उत्तर प्रदेश, भारत। उत्तर प्रदेश के हाथरस में 19 साल की गैंगरेप पीड़िता दलित युवती के साथ दबंगों की हवस की घिनौनी हरकत व हैवानियत की इस दुर्भाग्यपूर्ण घटना पर जबरदस्‍त विरोध के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज बुधवार को हाथरस गैंगरेप की घटना की जांच के लिए तीन सदस्यीय विशेष जांच दल (SIT) का गठन किया।

हाथरस घटना पर जांच हेतु 3 सदस्यीय SIT गठित :

मुख्यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ जी द्वारा हाथरस की घटना पर जांच हेतु तीन सदस्यीय SIT गठित की गई है जिसमें अध्यक्ष सचिव गृह श्री भगवान स्वरूप एवं श्री चंद्रप्रकाश, पुलिस उपमहानिरीक्षक व श्रीमती पूनम, सेनानायक पीएसी आगरा सदस्य होंगे। SIT अपनी रिपोर्ट 7 दिन में प्रस्तुत करेगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने हाथरस की घटना के लिए दोषी व्यक्तियों के खिलाफ फास्ट ट्रैक कोर्ट में मुकदमा चलाने और प्रभावी पैरवी करने के स्पष्ट निर्देश दिए हैं।

CM योगी ने किया ट्वीट :

इस मामले पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने ट्वीट में लिखा- हाथरस में बालिका के साथ घटित दुर्भाग्यपूर्ण घटना के दोषी कतई नहीं बचेंगे। प्रकरण की जांच हेतु विशेष जांच दल का गठन किया गया है। यह दल आगामी सात दिवस में अपनी रिपोर्ट देगा। त्वरित न्याय सुनिश्चित करने हेतु इस प्रकरण का मुकदमा फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलेगा।

हाथरस घटना पर PM ने की CM योगी से बात :

इसके बाद एक अन्‍य ट्वीट में लिखा- आदरणीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने हाथरस की घटना पर वार्ता की है और कहा है कि दोषियों के विरुद्ध कठोरतम कार्रवाई की जाए।

परिजनों की गैरमौजूदगी में पीड़िता का अंतिम संस्कार :

बता दें, दिल्‍ली के सफदरजंग अस्‍पताल में हाथरस गैंगरेप की पीड़िता की मौत के बाद पीड़िता का शव रात करीब 12:45 हाथरस पहुंचा, एंबुलेंस को जब अंतिम संस्कार के लिए ले जाया रहा था, तो लोगों ने उसे रोक दिया और आक्रोश जताया, लेकिन पुलिस ने भारी विरोध के बावजूद परिजनों की गैर मौजूदगी में करीब 2:40 बजे बिना किसी रीति रिवाज के पीड़िता का अंतिम संस्कार कर दिया गया। ग्रामीणों के भारी आक्रोश को देखते हुए इलाके में बड़े पैमाने पर पुलिसबल की तैनाती की गई थी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co