उत्‍तर प्रदेश CM योगी की सरकारी आवास पर बैठक- अधिकारियों को दिए यह निर्देश
उत्‍तर प्रदेश CM योगी की सरकारी आवास पर बैठक- अधिकारियों को दिए यह निर्देशTwitter

उत्‍तर प्रदेश CM योगी की सरकारी आवास पर बैठक- अधिकारियों को दिए यह निर्देश

उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने आज कोविड-19 के संबंध में गठित समितियों के अध्यक्षों के साथ बैठक कर यह निर्देश जारी किए हैं...

उत्‍तर प्रदेश, भारत। उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने आज सरकारी आवास में कोविड-19 के संबंध में गठित समितियों के अध्यक्षों के साथ बैठक की।

टीकाकरण करने के दिए निर्देश :

बैठक में UP के CM योगी ने टाइम स्लॉट जारी कर उसके अनुसार टीकाकरण करने के निर्देश दिए और कहा- 3.47 करोड़ से अधिक प्रदेशवासियों ने वैक्सीन की एक डोज प्राप्त कर ली है, जबकि 67.65 लाख प्रदेशवासियों ने वैक्सीन की दोनों खुराक प्राप्त कर ली हैं। टीकाकरण की सुगमता के लिए केवल उन्हीं को केंद्र तक बुलाया जाए, जिनका टीकाकरण होना है। एग्रेसिव ट्रेसिंग, टेस्टिंग और त्वरित ट्रीटमेंट की नीति के साथ-साथ तेज टीकाकरण से प्रदेश में कोरोना संक्रमण नियंत्रित स्थिति में है। 20 जुलाई तक प्रदेश में लगभग 4.15 करोड़ से अधिक वैक्सीन की डोज लगाई जा चुकी हैं। 40 जनपदों में एक्टिव केस की संख्या इकाई अंक में शेष है। विगत दिवस किसी भी जिले में दोहरे अंक में नए केस की पुष्टि नहीं हुई। वर्तमान में प्रदेश में एक्टिव कोविड केस की संख्या 1,036 है।

हर दिन ढाई लाख से तीन लाख टेस्ट हो रहे हैं :

  • मुख्यमंत्री जी को अवगत कराया गया कि हर दिन ढाई लाख से तीन लाख टेस्ट हो रहे हैं, जबकि पॉजिटिविटी दर न्यूनतम है। जनपद अलीगढ़, बलरामपुर, एटा, महोबा, ललितपुर, हाथरस, श्रावस्ती में अब कोविड का एक भी मरीज शेष नहीं है। यह जनपद आज कोविड संक्रमण से मुक्त हैं।

  • अब तक 6.30 करोड़ से अधिक सैंपल की कोविड जांच की जा चुकी है। 16.84 लाख से अधिक प्रदेशवासी कोरोना संक्रमण से मुक्त होकर स्वस्थ हो चुके हैं।

  • मुख्यमंत्री जी को अवगत कराया गया कि विगत 24 घंटे में 2.46 लाख से अधिक सैंपल की जांच की गई और 55 नए मरीजों की पुष्टि हुई, जबकि 107 मरीज स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हुए।

  • इस अवधि में पॉजिटिविटी दर 0.02% रही। प्रदेश में कोरोना की रिकवरी दर 98.6% है।

CM योगी ने दिए यह निर्देश :

  • बरसात के दृष्टिगत नदियों के जलस्तर की सतत मॉनिटरिंग की जाए। NDRFHQ, SDRF तथा आपदा प्रबंधन टीमों को हर समय एक्टिव मोड में रखा जाए।

  • प्रभावित परिवारों को हर जरूरी मदद तत्काल उपलब्ध कराई जाए। वरिष्ठ नागरिकों से अन्य जरूरतों के बारे में पूछते हुए उनकी समस्याओं का समाधान कराएं।

  • कैंसर की बीमारी से ग्रस्त अथवा डायलिसिस कराने वाले मरीजों के इलाज में कतई देरी न हो। ज्वॉइंट डायरेक्टर स्तर के अधिकारी जिलों में जाएं।

  • वरिष्ठ नागरिकों को त्वरित सहायता के लिए संचालित हेल्पलाइन नम्बर 14567 की सेवा को और बेहतर करने की जरूरत है। CM Helpline 1076 के माध्यम से भी प्रतिदिन न्यूनतम 100 वृद्धजनों को फोन कर उनके स्वास्थ्य के संबंध में जानकारी ली जाए।

  • हरा चारा-भूसा आदि के समुचित प्रबंध हों। कहीं भी अगर अव्यवस्थाओं के कारण गोवंश की मृत्यु हुई तो संबंधित अधिकारी/कर्मचारी के खिलाफ कठोरतम कार्रवाई की जाएगी।

  • प्रदेश के सभी गो-आश्रय स्थलों की गहन पड़ताल कराई जाए। संयुक्त निदेशक स्तर के अधिकारियों को जिलों में भेज कर गो-आश्रय स्थलों का निरीक्षण कराएं। एक सप्ताह में जिलावार स्थिति की रिपोर्ट प्रस्तुत की जाए।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co