UP: 10 जिले कोरोना मुक्त, योगी बोले-लॉकडाउन में न टूटे सुरक्षा चक्र
UP: 10 जिले कोरोना मुक्त, योगी बोले-लॉकडाउन में न टूटे सुरक्षा चक्र|Social Media
उत्तर भारत

UP: 10 जिले कोरोना मुक्त, योगी बोले-लॉकडाउन में न टूटे सुरक्षा चक्र

CM योगी ने लॉकडाउन व्यवस्था की समीक्षा कर अधिकारियों से कहा, लॉकडाउन का मतलब टोटल लॉकडाउन, इसका उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए।

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

राज एक्सप्रेस। कोरोना की विपदा में हर राज्‍य की सरकार कोरोना को हराने के एक्‍शन में है और उत्तर प्रदेश की योगी सरकार में भी लगातार बैठकों का दौर जारी है। आज बुधवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ के लोकभवन में एक उच्च स्तरीय बैठक में लॉकडाउन व्यवस्था की समीक्षा की है।

लॉकडाउन व्यवस्था की समीक्षा के दौरान CM योगी ने अधिकारियों से ये बात भी कही कि, लॉकडाउन का सख्ती से शत-प्रतिशत पालन सुनिश्चित कराया जाए। लॉकडाउन का मतलब टोटल लॉकडाउन और इसका उल्लंघन कराने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए।

सतर्कता व सावधानियां बरतना आवश्यक :

योगी सरकार का कहना है कि, कोरोना संक्रमण से मुक्त जिलों में भी पूरी सतर्कता एवं सभी सावधानियां बरतना आवश्यक है। यह सुनिश्चित किया जाए कि, किसी भी दशा में सुरक्षा चक्र टूटने न पाये। जिला प्रशासन के अधिकारियों को संस्थाओं द्वारा कम्युनिटी किचन में उपलब्ध कराये जा रहे भोजन की जांच की जाये।

CM योगी ने अधिकारियों को ये निर्देश भी दिए :

  • शासन के नियमों के तहत कोरोना से मुक्त जिलों में औद्योगिक इकाइयों का संचालन कराया जाए।

  • परियोजनाओं के लिये विभिन्न प्रकार की निर्माण सामग्री के आवागमन की अनुमति दी जाए।

  • इसके तहत भट्टों से ईंट तथा बालू, मोरंग तथा सरिया को अनुमति दी जाए।

  • निर्यात परक इकाइयों से निर्यात के लिये कन्टेनर के माध्यम से इनके उत्पाद का आवागमन भी मंजूर किया जाए।

  • विभिन्न राज्यों से प्रदेश में वापस आए श्रमिकों का सर्वे कराते हुए उन्हें रोजगार सुलभ कराने की प्रभावी व्यवस्था सुनिश्चित की जाए।

UP के 10 जिले कोरोना मुक्‍त :

इसके साथ ही एक अच्‍छी खबर ये भी है कि, उत्तर प्रदेश में अब तक 10 जिले कोरोना मुक्त हो चुके हैं और राज्य के 22 जिले तो पहले से ही कोरोना मुक्त हैं।

इस बैठक में राज्‍य के CM योगी आदित्‍यनाथ ने ये भी कहा, यह सुनिश्चित किया जाए कि किसी भी व्यक्ति को खाद्यान्न का अभाव, किसानों को अपनी उपज के विक्रय में कोई असुविधा न हो एवं किसानों को उपज का न्यूनतम समर्थन मूल्य प्राप्त हो। लॉकडाउन के कारण अन्य राज्यों के प्रदेश में फंसे लोगों को यदि उनके गृह राज्य की सरकार वापस बुलाने का निर्णय लेगी, तो राज्य सरकार इसकी अनुमति प्रदान करते हुए ऐसे लोगों को वापस भेजने में सहयोग प्रदान करेगी।

रमजान पर विशेष सावधानी बरतें :

योगी सरकार ने कहा, रमजान का महीना प्रारम्भ हो रहा है, इस अवधि में विशेष सावधानी बरती जाए और यह सुनिश्चित करें कि, सहरी व इफ्तार के समय किसी भी प्रकार से भीड़ एकत्र न हो।

कोटा से प्रदेश आए बच्चों से बात करेंगे CM :

शेल्टर होम्स से घर भेजे गए लोगों तथा कोटा से प्रदेश वापस लौटे बच्चों को होम क्वारंटीन का पालन करने के लिए मुख्यमंत्री हेल्पलाइन '1076' के माध्यम से अवगत कराया जाए।
योगी आदित्‍यनाथ

इसके साथ ही उन्‍होंने ये भी बताया, एक दिन वे स्वयं कोटा से प्रदेश वापस आए बच्चों से बात कर इनकी कुशलक्षेम प्राप्त करेंगे। इसके लिए उन्होंने सचिवालय कर्मियों को एक-एक छोटा सेनिटाइजर उपलब्ध कराने के निर्देश भी दिए।

वहीं, प्रमुख सचिव कृषि ने कहा, अब तक 77 % फसल की कटाई हो गई है। अब तक मण्डियों व क्रय केन्द्रों के माध्यम से 30 लाख कुन्टल से अधिक गेहूं की खरीद हो चुकी है। इसमें से लगभग 62% खरीददारी किसानों के डोर स्टेप पर हुई है, ऐसा प्रदेश में पहली बार हुआ है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co