कोरोना मरीज का शव नदी में फेंका- प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप
कोरोना मरीज का शव नदी में फेंका- प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग में हड़कंपSocial Media

कोरोना मरीज का शव नदी में फेंका- प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप

उत्तर प्रदेश के बलरामपुर में कोरोना मरीज का शव राप्ती नदी में फेंका, जिसका वीडियो तेजी से वायरल होने के बाद अब पुलिस मामले की छानबीन में जुटी है एवं प्रशासन तथा स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया।

उत्तर प्रदेश, भारत। देश में महामारी कोरोना के संक्रमण का दौर जारी है। इस बीच उत्‍तर प्रदेश के बलरामपुर से मानवता को शर्मसार करने वाला एक मामला सामने आने के बाद प्रशासन तथा स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया।

राप्ती नदी में फेंका कोरोना संक्रमित का शव :

दरअसल, यूपी के बलरामपुर जिले में शनिवार दोपहर के वक्‍त कोरोना मरीज के शव को दो लोगों ने राप्ती नदी में फेंक दिया। तो वहीं, नदी में फेंके गए शव का वीडियो वायरल होने से प्रशासन हरकत में आया और आनन-फानन में नदी में शव फेंकने की जांच के निर्देश दिए हैं। साथ ही कोरोना संक्रमित मृतक सिद्धार्थनगर के शोहरतगढ़ निवासी प्रेमनाथ मिश्र (68) के भतीजे संजय कुमार व एक अन्य के खिलाफ देहात कोतवाली में महामारी अधिनियम व आपदा प्रबंधन समेत अन्य धाराओं में मुकदमा लिखा गया है, पुलिस मामले की छानबीन में जुटी है।

सामने आई जानकारी के अनुसार, एल-टू अस्पताल में भर्ती वृद्ध की देर शाम मौत हुई थी। शनिवार दोपहर उसका भतीजा अंत्येष्टि के लिए ले गया था। घटना कोतवाली नगर क्षेत्र के राप्ती नदी पर बने सिसई घाट पुल की बताई जा रही है। तो वहीं, वायरल वीडियो के संदर्भ में CMO डॉ विजय बहादुर सिंह ने बताया- राप्ती नदी में फेंका जा रहा शव सिद्धार्थनगर जिले के शोहरतगढ़ के रहने वाले प्रेम नाथ मिश्र का है। 25 मई को कोरोना संक्रमित होने पर उन्हें संयुक्त जिला अस्पताल के एल 2 वार्ड में भर्ती कराया गया था। 28 मई को इलाज के दौरान प्रेमनाथ मिश्र की मृत्यु हो गई थी।

सीएमओ की ओर से यह भी बताया गया है कि, ''कोविड प्रोटोकॉल के तहत मृतक के शव को उनके परिजनों को सौंप दिया गया था। सीएमओ ने बताया वायरल वीडियो में शव को राप्ती नदी में फेंकते हुए दर्शाया गया है। इस संबंध में कोतवाली नगर में केस दर्ज करा दिया गया है और मामले की जांच की जा रही है।''

इस मामले के वायरल वीडियो में एक शख्स पीपीई किट पहने था, इसलिए उसकी पहचान नहीं हो पा रही थी, तो वहीं दूसरे युवक ने चेहरे में मास्क तक लगाया था और उसकी पहचान घाट में काम करने वाले युवक के तौर पर हुई और उसी के जरिए जांच करते हुए टीम प्रेमनाथ के परिजनों तक पहुंची है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co