दिल्‍ली: वेतन न मिलने के कारण परेशान कोरोना वॉरियर्स भूख हड़ताल पर
दिल्‍ली: वेतन न मिलने के कारण परेशान कोरोना वॉरियर्स भूख हड़ताल परSocial Media

दिल्‍ली: वेतन न मिलने के कारण परेशान कोरोना वॉरियर्स भूख हड़ताल पर

दिल्ली एनडीएमसी मेडिकल कॉलेज और हिंदू राव अस्पताल के रेजिडेंट डॉक्टर्स ने एसोसिएशन वेतन न मिलने के कारण आज से अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर चले गए हैं। ये है उनकी मांग...

दिल्‍ली, भारत। देश में महामारी कोरोना वायरस के संक्रमण के दौर में सभी लोगों से सोशल डिस्‍टेसिंग बनाए रखने को कहा जा रहा है, लेकिन कोरोना के समय डॉक्‍टर्स इस घातक बीमारी की चपेट में आने वाले कोरोना संक्रमित मरीजों का इलाज कर रहे हैं। इसी के चलते देश के डॉक्‍टरों को कोरोना वॉरियर घोषित किया गया है।

वेतन न मिलने के कारण भूख हड़ताल पर उतरे डॉक्टर्स :

इस घातक बीमारी के चलते देश के सभी स्वास्थकर्मी अपनी जान पर खेल कर हर मरीज की सेवा कर रहे हैं। आज के समय में कोरोना वॉरियर्स का जितना एहसान मानें उतना कम है, मगर वहीं, डॉक्‍टर्स (कोरोना वॉरियर्स) अपने वेतन के लिए धक्‍के खा रहे हैं और परेशान हैं, उन्‍हें लंबे समय से वेतन प्राप्‍त नहीं हुआ, इसी के चलते दिल्ली एनडीएमसी मेडिकल कॉलेज और हिंदू राव अस्पताल के रेजिडेंट डॉक्टर्स ने एसोसिएशन वेतन न मिलने के कारण आज से अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर चले गए हैं।

पिछले 4 महीनों से नहीं मिला वेतन :

जानकारी के मुताबिक, डॉक्‍टरों द्वारा बताया गया है कि, ''उन्‍हें पिछले चार महीनों से वेतन नहीं दिया गया है।'' उनका कहना है, ''जब तक उनका बकाया भुगतान नहीं किया जाता, हड़ताल जारी रहेगी। इसे लेकर उत्‍तरी नगर निगम के मेयर से भी बात की लेकिन कोई हल नहीं निकला। कई बार नोटिस देने के बाद भी जब कोई सुनवाई नहीं हुई तो वे हड़ताल पर गए हैं।''

सत्येंद्र जैन ने साधा निशाना :

बता दें कि, वेतन के जल्‍द से जल्‍द भुगतान की मांग कर रहे डॉक्‍टर गुरुवार को जंतर-मंतर पर धरने पर भी बैठे थे। रेजिडेंट डॉक्‍टर लंबे समय से वेतन देने की मांग कर रहे हैं। इस संबंध में दिल्‍ली सरकार में स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री सत्‍येंद्र जैन ने भी नगर निगम पर निशाना साधते हुए कहा था कि अगर बीजेपी से ये अस्‍पताल नहीं संभाले जा रहे हैं तो वह दिल्‍ली सरकार को दे दे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

AD
No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co