Raj Express
www.rajexpress.co
Sharjeel Imam
Sharjeel Imam|Social Media
उत्तर भारत

देशद्रोही बयान देकर मुश्किलों में घिरे JNU छात्र, बढ़ी रिमांड अवधि

JNU छात्र शरजील इमाम देशद्रोही बयानों के कारण मुश्किलों में घिरा हुआ है, इस दौरान कोर्ट ने उसकी रिमांड अवधि 3 दिन के लिए और बढ़ा दी है। साथ ही पूछताछ में यह अन्‍य खुलासे हुए हैं...

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

राज एक्‍सप्रेस। जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) का छात्र शरजील इमाम (Sharjeel Imam) देशद्रोही बयान देने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है, फिलहाल अभी शरजील इमाम पुलिस हिरासत में है और मुश्किलों में घिरा हुआ है, साथ ही उसकी रिमांड अवधि 3 दिन के लिए बढ़ा दी गई है।

पुलिस ने कोर्ट को बताया कि, शरजील इमाम से अभी और पूछताछ की जाना बाकी है, ऐसे में कोर्ट ने देशद्रोह के आरोप में गिरफ्तार शरजील इमाम की रिमांड अवधि तीन दिन और बढ़ा दी। अब क्राइम ब्रांच इस 3 दिन की रिमांड के दौरान उसके करीबी 10-12 लोगों को नोटिस भेजकर जांच में शामिल होने को कहा जाएगा और इन सभी से बुधवार को पूछताछ हो सकती है।

पूछताछ में हुआ यह खुलासा :

पुलिस रिमांड पर JNU छात्र शरजील इमाम ने पूछताछ के दौरान एसआईटी को बताया कि, शाहीनबाग में धरने-प्रदर्शन के दौरान एक राजनीतिक दल से जुड़े नेता ने उसकी मदद की थी, लेकिन जब धरने की चर्चा देशभर में होने लगी तो उस शख्स ने ही इसकी कमान संभाल ली।

इसके साथ ही शरजील इमाम द्वारा क्राइम ब्रांच को यह भी बताया गया है कि, एक बिरयानी वाले ने भी धरने के दौरान उसकी आर्थिक मदद की।

नेता और बिरयानी वाले की तलाश जारी :

JNU छात्र शरजील इमाम द्वारा किए गए इस खुलासे के बाद अब पुलिस उस नेता और बिरयानी वाले की तलाश में जुटी हुई है। इसके अलावा शरजील इमाम की ओर से अधिवक्ता मिशिका सिंह ने यह भी बताया कि, देर शाम में उनके मुवक्किल को मुख्य मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट पुरुषोत्तम पाठक के सामने पेश किया गया। इसके अलावा केंद्रीय जांच एजेंसियों की जाँच पड़ताल में पुलिस को शरजील इमाम के तार PFI से जुड़े बताए जा रहे हैं।

बता दें कि, शरजील इमाम ने 13 दिसंबर को जामिया और 16 जनवरी को अलीगढ़ में CAA के विरोध में सभाओं के दौरान भड़काऊ भाषण दिए थे, जो काफी वायरल भी हुए थे। इसी के चलते उसके खिलाफ देशद्रोह व धर्म के आधार पर वैमनस्‍यता फैलाने सहित कई संगीन आरोपों को लेकर FIR दर्ज हुई, फिलहाल वह अंडरग्राउंड हो गया था, लेकिन पुलिस ने उसे 28 जनवरी को बिहार के जहांनाबाद से गिरफ्तार कर लिया था।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।