Raj Express
www.rajexpress.co
VC Hato-JNU Bacho March
VC Hato-JNU Bacho March|Twitter
उत्तर भारत

JNU मामले पर छात्र और शिक्षक संघ का ‘वीसी हटाओ, जेएनयू बचाओ’ मार्च

दिल्‍ली में JNU कैंपस के छात्र और जेएनयू शिक्षक द्वार ‘वीसी हटाओ, जेएनयू बचाओ’ विरोध मार्च निकाल रहे हैं। तो वहींं, दूसरी तरफ कांग्रेस पार्टी सरकार पर निशाना साध रही है।

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

राज एक्‍सप्रेस। भारत की राजधानी दिल्ली के 'जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी' (JNU) में रविवार 5 जनवरी को हुए हमले का मामला तूल पकड़ता ही जा रहा है। अब कैंपस के छात्र और जेएनयू शिक्षक ‘वीसी हटाओ, जेएनयू बचाओ’ विरोध मार्च (VC Hato-JNU Bacho March) निकाल रहे हैं। तो वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस पार्टी भी सरकार को निशाने पर लेते हुए हमला बोल रही है।

क्‍यों निकाला जा रहा मार्च?

JNU कैंपस के छात्र और जेएनयू शिक्षक संघ द्वारा निकाले जा रहे मार्च में छात्रों की मांग है कि, यूनिवर्सिटी में फीस बढ़ोत्तरी के आदेश को वापस लिया जाए और वाइस चांसलर एम जगदीश कुमार को हटाया जाए। इसके इलावा इस मार्च में CAA और NRC के भी कुछ बैनर दिखे हैं।

मार्च में कई राजनीतिक हस्तियां शामिल :

JNU छात्रों और शिक्षकों द्वारा निकाले जा रहे इस मार्च में विपक्षी पार्टियों के कई वरिष्ठ नेता भी शामिल हुए हैं। सीपीआई (एम) से वरिष्ठ नेता सीताराम येचुरी और आरजेडी से सांसद मनोज झा मार्च में शामिल होने पहुंचे।

कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने की प्रेस कॉन्फ्रेंस :

पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि, इस हिंसा के पीछे गृहमंत्री-HRD मंत्री हैं। जिन नकाबपोश लोगों ने कैंपस में हमला किया था, उन्हें तुरंत गिरफ्तार किया जाना चाहिए।

PM 2.5 से अधिक खतरनाक है :

साथ ही कांग्रेस नेता ने यह मांग भी की है कि, यूनिवर्सिटी के वीसी को तुरंत त्याग पत्र देना चाहिए। वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने कहा- "PM 2.0 आज PM 2.5 से अधिक खतरनाक है।"

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।