370 हटाने के बाद कश्मीर में राजनीतिक परिस्थितियां सामान्‍य
Farooq Abdullah Meet Son OmarSocial Media

370 हटाने के बाद कश्मीर में राजनीतिक परिस्थितियां सामान्‍य

एनसी प्रमुख फारूक अब्दुल्ला नजरबंदी से रिहा होने के बाद आज 7 माह बाद अपने बेटे उमर अब्दुल्ला से मिलने पहुंचे। तो वहीं कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने भी श्रीनगर पहुंचकर फारूक अब्दुल्ला से मुलाकात की।

हाइलाइट्स :

  • 7 माह बाद फारूक अब्दुल्ला की बेटे उमर से मुलाकात

  • बेटे से मिलने श्रीनगर की उप-जेल पहुंचे फारूक अब्दुल्ला

  • मुलाकात के दौरान फारूक और उमर हुए भावुक

  • कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने की फारूक अब्दुल्ला से मुलाकात

राज एक्‍सप्रेस। जम्मू-कश्मीर में 370 हटाने के बाद राजनीतिक परिस्थितियां अब सामान्‍य होते नजर आ रही हैं, क्‍योंकि, नेशनल कॉन्फ्रेंस (एनसी) प्रमुख फारूक अब्दुल्ला बीते दिन यानी 13 मार्च को नजरबंदी से रिहा हुए। इसके बाद आज वे अपने बेटे उमर अब्दुल्ला से मिलने के लिए श्रीनगर की उप जेल पहुंचे और अपने बेटे से मुलाकात की।

सात महीने बाद मिले बाप-बेटे :

पिछले सात महीने में पिता और बेटे की यह पहली मुलाकात थी, इस दौरान दोनों नेता व बाप-बेटे करीब एक घंटे तक साथ रहे व भावुक भी नजर आए। साथ ही दोनों ने एक-दूसरे को गले भी लगाया।

बता दें कि, नजरबंदी से रिहाई होने के बाद फारूक अब्दुल्ला ने उमर से मिलने की इच्छा जाहिर की थी, इसी के चलते जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने उन्हें श्रीनगर के उप जेल जाकर उमर से मिलने की इजाजत दी। फारूक के साथ अब्दुल्ला परिवार के अन्य सदस्यों ने भी उमर अब्दुल्ला से मुलाकात की।

5 अगस्त को हिरासत में लिए गए थे ये नेता :

फारूक अब्दुल्ला और कश्मीर के प्रमुख नेताओं ('उमर अब्दुल्ला, महबूबा मुफ्ती और शाह फैसल') को 5 अगस्त को अनुच्‍छेद 370 हटाने के बाद घाटी में किसी भी अप्रिय घटना से बचने के लिए हिरासत में ले लिया गया था, सभी पर जन सुरक्षा कानून (PSA) भी लगाया गया है, इनमें से फारूक अब्दुल्ला को छोड़कर अभी भी बाकी नेता नजरबंद हैं।

फारूक अब्दुल्ला से मिले गुलाम नबी आजाद :

इसके अलावा कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा में विपक्ष नेता गुलाम नबी आजाद भी आज श्रीनगर पहुंचे और फारूक अब्दुल्ला से मुलाकात की।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

AD
No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co