दिल्‍ली: बेकाबू कोरोना पर गृह मंत्रालय ने मोर्चा संभाल उठाए ये बड़े कदम

दिल्ली में तेजी से कोरोना के मामलों में इजाफा होने के मद्देनजर गृह मंत्रालय ने कई बड़े फैसले लेते हुए तत्काल प्रभाव से लागू किया जा रहा हैं, यहां देखें कोरोना के खिलाफ कौन-कौन से कदम उठाए जा रहे हैं..
दिल्‍ली: बेकाबू कोरोना पर गृह मंत्रालय ने मोर्चा संभाल उठाए ये बड़े कदम
दिल्‍ली: बेकाबू कोरोना पर गृह मंत्रालय ने मोर्चा संभाल उठाए ये बड़े कदमSocial Media

दिल्ली, भारत। देश की राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में महामारी एक बार फिर बेकाबू हो गई हैै, यहां तेजी से कोरोना के मामलों में इजाफा हो रहा है। इसी के मद्देनजर पहले की तरह इस बार भी केंद्र सरकार की तरफ से गृह मंत्रालय ने मोर्चा संभाल ये बड़ा कदम उठाया है।

मीटिंग में लिए गए फैसले तत्काल प्रभाव से हो रहे लागू :

दरअसल, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और प्रदेश के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के बीच 15 नवंबर को हुई इस मीटिंग में कई बड़े फैसले लिए गए थे, जिन्हें तत्काल प्रभाव से लागू किया जा रहा हैं और इस बारे में आज बुधवार को केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा मीटिंग में लिए फैसलों पर हो रहे कामों का ब्योरा सामने आया है, जो इस प्रकार है-

गृह मंत्रालय ने 10 टीमों का किया गठन :

मंत्रालय ने बताया- कोरोना के मद्देनजर केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा विभिन्न क्षेत्रों में विशेषज्ञता वाली 10 टीमों का गठन किया है, जो राजधानी के 100 से अधिक प्राइवेट अस्पतालों का दौरा करेंगी और आईसीयू बेड के साथ ही टेस्टिंग क्षमता का आंकलन कर रही है, ताकि यह पता लगाया जा सके कि किन अस्पतालों में अतिरिक्त आईसीयू बेड लगाए जा सकते हैं।

गृह मंत्रालय ने बताया- मीटिंग में लिए गए फैसले के तहत केंद्रीय सशस्त्र बलों (CAPFs) के 45 डॉक्टर और 160 पैरामेडिकल स्टाफ दिल्ली पहुंच चुके हैं। दिल्ली एयरपोर्ट के नजदीक रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) के अस्पताल और छतरपुर के कोविड केयर सेंटर में इनकी तैनाती होगी। बाकी डॉक्टर और स्टाफ भी अगले कुछ दिनों में दिल्ली पहुंच जाएंगे।

  • वहीं, भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड (BEL) ने भी बेंगलुरू से 250 वेंटिलेटर भेज चुकी है जो संभवतः इस वीकेंड दिल्ली पहुंच जाएगी।

  • केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने दिल्ली एयरपोर्ट के पास डीआरडीओ कोविड सेंटर को 35 BIPAP मशीन दी हैं। वहीं, 25 BIPAP मशील दिल्ली सरकार को भी दी जाएंगी।

  • डीआरडीओ भी अगले चार-पांच दिनों में 35 और BIPAP बेड एयरपोर्ट वाले कोविड सेंटर में लगाएगा, इसके अतिरिक्त उसे 250 और आईसीयू बेड भी लगाने हैं।

  • केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने आईसीएमआर को निर्देश दिया है कि, वो 20 मोबाइल टैस्टिंग लैब तैनात करे ताकि घर-घर जांच में दिल्ली सरकार की मदद हो सके।

  • गृह मंत्रालय जल्द ही 750 आईसीयू बेड मुहैया कराने वाली है।

  • सरकार द्वारा उठाए गए अन्य कदमों में भारतीय रेलवे शकूर बस्ती रेलवे स्टेशन पर 800 बेड के साथ ट्रेन कोच उपलब्ध कराएगा। सीएपीएफ के डॉक्टर्स और पैरामैडिक्स की यहां पर तैनाती की जाएगी।

घर-घर सर्वे की प्रक्रिया होगी शुरू :

  • इसके अलावा दिल्ली में घर-घर जाकर सर्वे करने की प्रक्रिया भी अडवांस्ड स्टेज में है, इसी हफ्ते से सर्वे शुरू होने की संभावना है, जो 25 नवंबर को खत्म हो जाएगा।

  • भारतीय आर्युविज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) और दिल्ली सरकार आटी-पीसीआर टेस्टिंग को इस महीने के आखिर तक बढ़ाकर रोजाना 60 हजार तक करने की दिशा में काम कर रही हैं।

  • 17 नवंबर तक रोजाना 10 हजार टेस्ट करने की क्षमता प्राप्त हो चुकी थी।

  • आईसीएमआर को चरण-दर-चरण कुल 20 हजार टेस्ट की क्षमता हासिल करनी है। इसकी शुरुआत अगले हफ्ते से होनी है।

  • साथ ही आईसीएमआर दिल्ली के प्रयोगशालाओं की जांच क्षमता हर दिन 2,000 बढ़ाने में भी मदद करेगी। इसके लिए मैन पावर मुहैया कराया जाएगा। कर्मियों से ज्यादा शिफ्ट कराए जाएंगे, ज्यादा उपकरण लगाए जाएंगे और प्राइवेट सेक्टर के प्रयोगशालाओं को भी इस काम में शामिल किया जाएगा।

गृह मंत्रालय ने बताया- दिल्ली की प्रयोगशालाओं की परीक्षण क्षमता को 2000 तक पहुंचाने के लिए आईसीएमआर अधिक मैनपॉवर को तैनात कर रहा है। इसके अलावा शिफ्ट को बढ़ाया जा रहा है और निजी क्षेत्र की प्रयोगशालाओं की मदद ली जा रही है। नवंबर के आखिर तक प्रति दिन 60,000 आरटी-पीसीआर परीक्षणों के परीक्षण स्तर तक पहुंचने का लक्ष्य रखा गया है। एम्स सहित 5 आरटी-पीसीआर प्रयोगशालाओं ने पहले ही चौबीसों घंटे काम करना शुरू कर दिया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co