यूपी में आइसोलेशन और आइसीयू बेडो का होगा विस्तार
यूपी में आइसोलेशन और आइसीयू बेडो का होगा विस्तारSocial Media

यूपी में आइसोलेशन और आइसीयू बेडो का होगा विस्तार

उत्तर प्रदेश में लगातार बढ़ते कोरोना के आंकड़ों पर लगाम लगाने और चिकित्सीय व्यवस्था को बेहतर बनाते हुए मुख्यमंत्री योगी ने सभी सरकारी गैर सरकारी अस्पतालों में बेड की संख्या बढ़ाने के निर्देश दिए हैं।

राज एक्सप्रेस। उत्तर प्रदेश में लगातार बढ़ते कोरोना के आंकड़ों पर लगाम लगाने और चिकित्सीय व्यवस्था को बेहतर बनाते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी सरकारी गैर सरकारी अस्पतालों में बेड की संख्या को बढ़ाने के निर्देश दिए हैं। आधिकारिक सूत्रों ने गुरूवार को बताया कि प्रदेश में सरकारी, निजी अस्पतालों के संग विशिष्ट चिकित्सा संस्थानों में 278 आईसीयू बेडो को बढ़ाया जाएगा। उन्होने कहा कि कोरोना संक्रमण में उपयोग होने वाली सभी दवाएं पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हैं।

ड्रग कंट्रोलर एके जैन ने बताया कि प्रदेश में सैनिटाइजर, पीपीई किट, आइवर मैक्टिन, एजिथ्रोमाइसिन समेत संक्रमण से जुड़ी सभी दवाएं व अन्य उत्पाद पर्याप्त मात्रा में हैं। उन्होंने बताया कि कोरोना काल के दौरान जांच, बेड और वेंटिलेटर की व्यवस्था के साथ अन्य संसाधनों को प्रदेश सरकार ने बढ़ाया है। साल 2020 फरवरी तक प्रदेश में हैंड सैनिटाइजर बनाने की सिर्फ 86 इकाइयां थी, जो बढ़कर अब 151 हो गईं हैं। फरवरी से अब तक सैनिटाइजर की 65 नई इकाइयों को स्थापित किया जा चुका है। प्रदेश में कोविड 19 के लेवल टू व थ्री अस्पतालों में आइसीयू के 4333 बेड है जिन्हें बढ़ाकर अब 4611 कर दिया जाएगा। इसके साथ ही प्रदेश में आइसोलेशन बेड की व्यवस्था का विस्तार करते हुए 11811 बेडों की संख्या में बढ़ोत्तरी होने पर 16422 आइसोलेशन बेड किए जाएंगे।

श्री जैन ने बताया कि खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग ने कोरोना काल के दौरान मनमानी करने वालों पर शिकंजा कसा। ड्रग्स एक्ट के तहत दवाओं की बिक्री में मनमानी पर नौ मुकदमे दर्ज कर 23 लोगों को गिफ्तार कर 85 लाख 18 हजार 855 रुपए की सामग्री को सीज की गई। इसके अलावा आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत प्रदेश में मास्क हैंड सैनिटाइजर और ऑक्सीजन से संबधित अवैध कारोबार पर 15 मुकदमें दर्ज किए गए। प्रदेश में वैश्विक महामारी कोविड-19 से निपटने के लिए व्यवस्था को सुद्रढ़ बनाते हुए दवा से लकर ऑक्सीजन की व्यवस्था को सुनिश्चित किया गया। निर्माण इकाइयों के शुरू होने से प्रदेश में अब संसाधनों की कमी नहीं पड़ेगी।

डिस्क्लेमर : यह आर्टिकल न्यूज एजेंसी फीड के आधार पर प्रकाशित किया गया है। इसमें राज एक्सप्रेस द्वारा कोई संशोधन नहीं किया गया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co