Raj Express
www.rajexpress.co
गुरूद्वारे धार्मिक पर्यटन स्थल
गुरूद्वारे धार्मिक पर्यटन स्थल |Sushil Dev
उत्तर भारत

मध्य प्रदेश के गुरुद्वारे पर कमलनाथ सरकार का बड़ा ऐलान

नई दिल्ली: CM कमलनाथ ने ऐलान किया कि, गुरूनानक देव की 550वीं प्रकाश पर्व यात्रा को ऐतिहासिक रूप दिया जाएगा, गुरुद्वारे धार्मिक पर्यटन स्थल बनेंगे।

Sushil Dev

राज एक्‍सप्रेस। मध्य प्रदेश गुरूद्वारे अब धार्मिक पर्यटन स्थलों के रूप में विकसित किया जाएगा। मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamal Nath) ने यह घोषणा गुरूवार को प्रदेश से आए सिख समाज और गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के प्रतिनिधियों से एक मुलाकात के दौरान की। उन्होंने कहा कि, धार्मिक पर्यटन स्थल को गुरूनानक देव जी के स्मृति से जुड़े स्थलों का सर्वांगीण विकास किया जाएगा और उन्हें धार्मिक पर्यटन स्थलों के रूप में विकसित किया जाएगा।

गुरु नानक देव की 550वीं प्रकाश पर्व यात्रा ऐतिहासिक :

CM कमलनाथ ने बताया कि, गुरु नानक देव की 550वीं प्रकाश पर्व यात्रा को ऐतिहासिक स्वरूप दिया जाएगा। इसके लिए सरकार द्वारा राज्य स्तरीय समिति गठित की जाएगी, जिसमें हर वर्ग एवं प्रदेश के हर अंचल के प्रतिनिधियों को शामिल किया जाएगा। उन्होंने कहा कि, समिति में राज्य सरकार की ओर से गृह, वित्त, संस्कृति और अध्यात्म विभाग के प्रतिनिधि शामिल होंगे।

पूरे देश में बने एक मिसाल :

कमलनाथ ने कहा कि, समिति एक सप्ताह मेंं गठित कर दी जाएगी। उन्होंने कहा यह यात्रा केवल सिख समाज के लिए ही नहीं बल्कि सारे प्रदेश के लिए आन बान और शान का अवसर है। यह यात्रा इतनी भव्य हो कि पूरे देश में एक मिसाल बने। मध्यप्रदेश के इंदौर जिले के श्री गुरूद्वारा इमली साहेब, श्री बेटमा साहेब, ओेंकारेश्रवर, उज्जैन के श्री गुरूनानक घाट, भोपाल के श्री टेकरी साहेब और जबलपुर के श्री ग्वारी घाट को धार्मिक पर्यटन स्थल के रूप विकसित किया जाएगा।

सिख समाज को चर्चा के लिए किया आमंत्रित :

केन्द्रीय गुरुसिंह सभा मध्यप्रदेश-छत्तीसगढ़ के महासचिव सुरजीत सिंह टुटेजा ने सिख समाज की ओर से गुरुनानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व पर मध्यप्रदेश से निकलने वाली यात्रा को यादगार बनाने के लिए सुझाव-पत्र का वाचन किया और मुख्यमंत्री को भेंट किया और मुख्यमंत्री का सम्मान किया। उन्होंने कहा कि, यह हमारे लिए गर्व की बात है कि, पहली बार किसी मुख्यमंत्री ने सिख समाज को चर्चा के लिए आमंत्रित किया है।

सिख समाज के इतिहास का उल्लेख करते हुए कमलनाथ ने कहा कि, सिख एक बहादुर और स्वाभिमानी कौम है। मानवता की रक्षा के लिए हमारे सिख गुरुओं ने जो बलिदान दिया है, वह हमेशा इतिहास के पन्नों में स्वर्ण अक्षरों में अंकित है। इस मौके पर उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी ने कहा कि, मुख्यमंत्री के सभी को निर्देश हैं की गुरुनानक जी के 550वें प्रकाश पर्व को ऐतिहासिक स्वरूप दिया जाए। उन्होंने कहा कि, इन्दौर में गुरुनानक देव जी द्वार बनाने की घोषणा पूरी होने तक वे एक टाइम भोजन करेंगे। बैठक में पूरे प्रदेश से आए सिख समाज और गुरुद्वारा प्रबंधन कमेटी के प्रतिनिधियों ने अपने सुझाव दिए।