कानपुर:लैब टेक्नीशियन की हत्‍या
कानपुर:लैब टेक्नीशियन की हत्‍या|Social Media
उत्तर भारत

कानपुर:लैब टेक्नीशियन की हत्‍या-पुलिस के सामने किडनैपर ने वसूली मोटी रकम

उत्तर प्रदेश के कानपुर में बर्रा से किडनैपिंग-हत्‍या का मामला सामने आया, जिसमें कानपुर पुलिस की लापरवाही सामने आई। यहां लैब टेक्नीशियन युवक का अपहरण, लाखाें की फिरौती वसूली और फिर युवक की हत्‍या कर दी

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

उत्तर प्रदेश, भारत। उत्तर प्रदेश राज्‍य के कई इलाकों से अपराधिक गतिविधियां लगातार सामने आ रही हैं, अब हाल ही में यूपी के कानपुर के बर्रा से एक बुरी खबर आई है। दरअसल, यहां लैब टेक्नीशियन संजीत यादव (28) का अपहरण किया और फिर उसे मौत के घाट उतार दिया।

इस मामले में 5 लोग गिरफ्तार :

बताया गया है कि, लैब टेक्नीशियन संजीत यादव का बीते दिनों 22 जून को अपहरण फिरौती के लिए उसके दोस्त ने साथियों के साथ मिलकर किया था, चार दिन तक बेहोशी के इंजेक्शन देकर उसे बंधक बनाए रखा। इसके बाद 26 जून को उसकी हत्या करके उसके शव को पांडु नदी में फेंक दी थी। हालांकि, पुलिस को चकमा देकर 13 जुलाई को 30 लाख की फिरौती भी वसूल ली थी। बृहस्पतिवार रात पुलिस ने मामले का खुलासा करते हुए दोस्त कुलदीप, रामबाबू समेत पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस द्वारा ये बात सामने आई है कि, युवक की हत्या की जा चुकी है, पुलिस अभी भी युवक की लाश की बरामदगी नहीं कर सकी है, तलाश जारी है। उधर युवक की मौत की सूचना के बाद परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। पुलिस ने मामले में 5 लोगों को हिरासत में लिया है। पुलिस ने अनुसार, कुलदीप संजीत के साथ सैंपल कलेक्शन का काम करता था। उसने रतनलाल नगर में किराये पर कमरा ले रखा है। 22 जून की रात शराब पिलाने के बहाने वह संजीत को अपने कमरे पर लाया। इसके बाद उसे बंधक बना लिया।

ये है पूरा मामला :

बर्रा पांच निवासी चमन सिंह यादव के इकलौते बेटा संजीत कुमार का 22 जून की शाम अपहरण होने के बाद दूसरे दिन परिजनों ने पूर्व थाना प्रभारी रणजीत राय से बेटे के लापता होने की तहरीर दी थी, फिर भी पुलिस हाथ पर हाथ रखे बैठी रही। 29 जून की शाम से अपहर्ताओं ने पिता को फोन कर 30 लाख की फिरौती मांगनी शुरू कर दी, हालांकि 13 जुलाई की रात पुलिस ने फिरौती की रकम लेकर परिजनों को भेजा। अपहर्ता गुजैनी पुल से फिरौती की रकम लेकर फरार हो गए और पुलिस देखती रह गई।

इस मामले में पुलिस की लापरवाही :

अब इस किडनैपिंग मामले में कानपुर पुलिस की लापरवाही सामने आ रही और पुलिस पर आरोप भी लगे हैं कि, उसने अपहृत युवक के परिजनों से अपहरणकर्ताओं को 30 लाख रुपए भी दिलवा दिए। ताे वहीं, इस इस घटना के बाद एसएसपी दिनेश कुमार पी ने इंस्पेक्टर रणजीत राय को निलंबित कर दिया था। इसके बाद एसओजी, सर्विलांस टीम और कई थानों की पुलिस खुलासे में लगाई गईं है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co