मजदूरों की नो एंट्री पर मचा जमकर बवाल-भीड़ ने पुलिस पर किया पथराव
मजदूरों की नो एंट्री पर मचा जमकर बवाल-भीड़ ने पुलिस पर किया पथराव|Social Media
उत्तर भारत

मजदूरों की नो एंट्री पर मचा जमकर बवाल-भीड़ ने पुलिस पर किया पथराव

दिल्ली-गुरुग्राम बॉर्डर पर प्रवासी मजूदरों को पुलिस ने हरियाणा में एंट्री नहीं दिए जाने पर हंगामा हुआ। सीमा पार करने से रोकने पर गुस्साई भीड़ ने पुलिस पर पथराव किया, जिसमें कई पुलिसकर्मी घायल हुए।

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

राज एक्‍सप्रेस। देश में कोरोना महामारी के कहर के चलते जारी लॉकडाउन से प्रवासी मजूदरों काफी परेशान हैं, लेकिन अब उनका धैर्य हद के पार हो गया है, जिसका वे जवाब देने लगे हैं। दरअसल, राष्‍ट्रीय राजधानी दिल्ली के कापसहेड़ा इलाके में रहने वाले श्रमिकों को हरियाणा की सीमा में प्रवेश करने पर रोकने यानी नो एंट्री पर आज बुधवार को जमकर बवाल मचा है।

पुलिस पर गुस्‍साई भीड़ का पथराव :

दिल्ली-गुरुग्राम बॉर्डर की सामने आई ये बड़ी खबर यह है कि, दिल्ली की तरफ से गुरुग्राम के सलापुर खेड़ा गांव की सीमा पर प्रवासी मजदूरों को एंट्री नहीं दी जा रही थी, ये लोग बॉर्डर पार करना चाहते थे, लेकिन पुलिस ने उन्हें ऐसा करने से रोक दिया, इसके चलते इन गुस्‍साई मजूदरों की भीड़ ने कथित तौर पर पुलिस पर पत्थर बरसा दिए। इस पथराव की घटना में कई पुलिसकर्मियों के घायल होने की जानकारी सामने आई है।

पुलिस के मुताबिक, ये प्रवासी मजदूर दिल्ली के रहने वाले हैं और गुरुग्राम में काम करते हैं, फिलहाल पुलिस ने मजदूरों को दिल्ली-गुरुग्राम की सीमा से हटा दिया है। पुलिस ने बताया कि, जैसे ही इस घटना की जानकारी मिली तो तुरंत ही पालम विहार और उद्योग विहार थानों के एसएचओ सहित वरिष्ठ अधिकारी मौके पर पहुंचे और पथराव के बाद से मौके पर भारी पुलिस बल तैनात किया गया है।

गुरुग्राम की सीमाएं सील :

जानकारी के अनुसार, इस पथराव की घटना के बाद ये बात सामने आई है कि, कोरोना महामारी के कारण दिल्ली से सटी डीएम के आदेश पर सील कर दिया गया था, इस दौरान केवल आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोगों को ही मूवमेंट पास और ID कार्ड देखने के बाद जिले की सीमा में प्रवेश की इजाजत दी जा रही है।

इसके अलावा ये बात भी सामने आई है कि, हजारों श्रमिक काम करने के लिए आना चाहते हैं, लेकिन गुरुग्राम पुलिस जिलाधीश के आदेश का हवाला देते हुए प्रतिदिन रोक देती है। दिल्ली-गुरुग्राम के बीच रूटीन में आवाजाही कम करने के लिए गुरुग्राम के जिलाधीश अमित खत्री ने आदेश जारी कर रखा है कि, गुरुग्राम में काम करने वाले गुरुग्राम में रहें और दिल्ली में काम करने वाले दिल्ली में रहें।

गुरुग्राम में काम करने वाले श्रमिक दिल्ली, नोएडा, गाजियाबाद और फरीदाबाद में रहते हैं। इसी प्रकार दिल्ली के कापसहेड़ा इलाके में रहने वाले बड़ी संख्या में मजदूर गुरुग्राम में काम करते हैं, लेकिन पुलिस उन्हें रोक रही है। बताया गया है कि, एक बार तो मजदूर आ-जा सकते हैं, लेकिन रोजाना आने-जाने की पाबंदी है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co