Last day Of Nirbhaya Convicts
Last day Of Nirbhaya Convicts |Priyanka Sahu -RE
उत्तर भारत

मुलाकात और जल्लाद का ट्रायल पूरा, निर्भया दोषियों का आज आखिरी दिन

निर्भया के चारों दोषियों को फांसी से पहले लाल कपड़े पहनाए गए हैं, वहीं जल्लाद नेे ट्रायल किया है। ऐसा पहली बार है कि, तिहाड़ जेल में एक अपराध के लिए एक ही समय पर एक साथ चार दोषियों को फांसी होगी।

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

हाइलाइट्स :

  • निर्भया के दोषियों के पास आज सिर्फ आखिरी दिन

  • 20 मार्च को सुबह 5.30 पर दी जाएगी फांसी

  • तिहाड़ जेल में पवन जल्लाद ने फांसी देने का किया ट्रायल

  • चारों दोषियों को फांसी से पहले लाल कपड़े पहनाए गए

राज एक्‍सप्रेस। राजधानी दिल्ली में 16 दिसंबर, वर्ष 2012 में हुए दिल दहला देने वाले 'निर्भया गैंगरेप और हत्याकांड' के चारों गुनहगार अब तक मौत की सजा से बार-बार बचते जा रहे थे। इन गुनहगारों को बचते-बचाते 7 साल, 3 महीने और 3 दिन बीत चुके हैं, लेकिन अब इन दोषियों के पास सिर्फ आज का आखिरी दिन है। तो वहीं निर्भया को न्याय भी मिलने वाला है, क्‍योंकि चारों को कुछ घंटे बाद फांसी देकर मौत के घाट उतार दिया जाएगा।

दोषियों को पहनाए लाल कपड़े :

निर्भया के चारों गुनहगारों 'मुकेश सिंह (32), पवन गुप्ता (25), विनय शर्मा (26) और अक्षय कुमार सिंह (31)' को कल 20 मार्च को सुबह 5:30 बजे फांसी हो जाएगी। फांसी होने के कुछ घंटे पहले चारों दोषियों को लाल कपड़े पहनाए गए। बता दें कि, इतिहास में ऐसा पहली बार होगा कि, तिहाड़ जेल में एक ही अपराध के लिए एक ही समय पर एक साथ चार दोषियों को फांसी होगी।

जल्लाद ने किया फांसी देने का ट्रायल :

वहीं, दूसरी और दिल्ली की तिहाड़ जेल में निर्भया मामले के चारों गुनहगारों को फांसी पर लटकाने वाले पवन जल्लाद ने फांसी देने का ट्रायल किया है। दरअसल, ट्रायल में दोषियों का जितना वजन है, उतने ही वजन के बराबर के पुतले फंदे पर लटकाए गए हैं।

परिवारवालों से आखिरी मुलाकात :

इसके अलावा निर्भया के दोषियों ने अपने परिवारवालों से आखिरी मुलाकात भी कर ली है। इस दौरान दोषियों के परिजन बंद कमरे में मिले। बता दें कि, सिर्फ तीन दोषियों के परिजन ही उनसे मिलने आए हैं और एक दोषी अक्षय के परिवारवाले अभी उससे मिलने नहीं पहुंचे हैं।

माना जा रहा है कि, दरिंदगी करने वाले इन दोषियों के फांसी पर लटकने का पूरा देश इंतजार कर रहा है और इस बार फांसी टलने की गुंजाइश बिल्‍कुल न के बराबर है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co