हिमाचल में धूप खिलने से पटरी पर लौटा जनजीवन
हिमाचल में धूप खिलने से पटरी पर लौटा जनजीवनSocial Media

हिमाचल में धूप खिलने से पटरी पर लौटा जनजीवन

हिमाचल प्रदेश में पिछले पांच दिनों से धूप खिलने के बाद हिमाच्छादित इलाकों में कैद लोगों का जनजीवन पटरी पर लौटने लगा है।

राज एक्सप्रेस। हिमाचल प्रदेश में पिछले पांच दिनों से धूप खिलने के बाद हिमाच्छादित इलाकों में कैद लोगों का जनजीवन पटरी पर लौटने लगा है। लेकिन मैदानी इलाकों में कोहरे ने परेशानी बढ़ा दी है। ऊपरी क्षेत्रों सहित जनजातीय क्षेत्रों में हुई बर्फबारी के बाद जनजीवन ठहर सा गया था। अभी चंबा व लाहुल-स्पीति जिलों में जनजीवन पटरी पर नहीं लौट पाया है। प्रदेश की राजधानी शिमला सहित अन्य क्षेत्रों में पिछले चार पांच दिनों से धूप खिल रही है और मौसम खुशगवार हो गया। धूप खिलने से ठंड से निजात मिली और बाजारों में दिन भर चहल पहल रही। मौसम विभाग ने आगामी 18 जनवरी तक मौसम के साफ बने रहने का अनुमान जताया है। धूप खिलने से बर्फबारी से अवरुद्ध सड़कों को बहाल करने के काम में भी तेजी आएगी।

मैदानी क्षेत्रों में धुंध छाने से पिछले कई दिन से सूरज नहीं निकलने से सभी प्राणी ठंड से बेहाल रहे। इन क्षेत्रों में मंगलवार को भी धुंध छाई रही। ऊना जिला के अलावा सिरमौर जिला का पांवटा साहिब क्षेत्र इससे अधिक प्रभावित हो रहा है। मौसम विभाग के निदेशक डॉ. मनमोहन सिंह ने बताया कि प्रदेश में 18 जनवरी तक बारिश व बर्फबारी होने के कोई आसार नहीं हैं। आने वाले दिनों में मैदानो में धुंध और घना कोहरा पडऩे की संभावना है। मौसम साफ रहने से प्रदेश में पर्यटकों की संख्या बढ़ी है। शिमला, मनाली सहित अन्य पर्यटन स्थलों में पर्यटक सुहाने मौसम का लुत्फ उठा रहे हैं।

प्रदेश के न्यूनतम व अधिकतम तापमान में दो से तीन डिग्री सेल्सियस की वृद्धि दर्ज की गई है। इसके बावजूद केलंग में न्यूनतम तापमान शून्य से कम 10 डिग्री दर्ज किया गया। कल्पा में न्यूनतम तापमान शून्य से कम दो डिग्री रहा जबकि कुल्लू जिले के भूंतर में शून्य से कम 0.5 डिग्री, सोलन में 0.8 डिग्री, मनाली में 2.4 डिग्री, पालमपुर 2.0 डिग्री, धर्मशाला 3.2 डिग्री, मंडी और सुंदरनगर 1.0 डिग्री, चंबा में 2.2 डिग्री, उना में 5.6 डिग्री, नाहन में 8.9 डिग्री और शिमला में न्यूनतम पारा 7.4 डिग्री सेल्सियस रहा।

डिस्क्लेमर : यह आर्टिकल न्यूज़ एजेंसी फीड के आधार पर प्रकाशित किया गया है इसमें राज एक्सप्रेस द्वारा कोई संशोधन नहीं किया गया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co