भाजपा मुख्यालय में सन्नाटा
भाजपा मुख्यालय में सन्नाटा|Social Media
उत्तर भारत

भाजपा मुख्यालय में सन्नाटा, एंट्री को लेकर नए नियम जारी

'कोरोना वायरस' के बढ़ते मामलों के मद्देनजर भाजपा मुख्यालय 31 मार्च तक आम कार्यकर्ताओं के लिए बंद किया, तो वहीं बीजेपी ने अपने दफ्तर में एंट्री को लेकर नए नियम जारी किए हैं, जानें क्‍या है ये नए नियम?

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

हाइलाइट्स :

  • कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर भाजपा का एहतियातन कदम

  • BJP मुख्यालय में एंट्री को लेकर नए नियम हुए जारी

  • 31 मार्च तक आम कार्यकर्ताओं के लिए बीजेपी दफ्तर बंद

राज एक्‍सप्रेस। देश में 'कोरोना वायरस' का इफेक्ट तेजी से बढ़ता ही जा रही है, जिससे चलते सरकार द्वारा एहतियातन जरूरी कदम उठाए जा रही है। अब हाल ही में एक ये खबर सामने आई है कि, दिल्ली के दीनदयाल उपाध्याय मार्ग पर स्थित भारतीय जनता पार्टी (BJP) मुख्यालय आम कार्यकर्ताओं के लिए बंद कर दिया गया है, जिससे अब यहां सन्नाटा रहेंगा।

क्‍यों बंद किया BJP मुख्यालय?

दरअसल, 'कोरोना वायरस' के बढ़ते मामलों के मद्देनजर भाजपा ने ये बड़ा कदम उठाया है और 31 मार्च तक आम कार्यकर्ताओं के लिए बीजेपी दफ्तर बंद किया गया है। साथ ही नेताओं के लिए भी आदेश जारी कि है कि, जरूरत पड़ने पर ही वे कार्यालय आएं।

बता दें कि, कोरोना वायरस की वजह से देश के कई शहरों में सिनेमा हॉल, स्कूल, कॉलेज, पर्यटन स्थल लगभग सभी कुछ बंद है और अब दिल्ली के दीनदयाल उपाध्याय मार्ग पर स्थित बीजेपी केंद्रीय कार्यालय को लेकर पार्टी की ओर नए निर्देश जारी किए गए हैं।

बीजेपी कार्यालय के नए निर्देश :

  • किसी भी आम कार्यकर्ता या आम लोगों को 31 मार्च तक BJP दफ्तर में एंट्री पर रोक लगा दी गई है।

  • BJP मुख्यालय में कार्यरत कर्मचारियों की संख्याओं में भी कटौती हुई है, अब सिर्फ प्रमुख कर्मचारी ही दफ्तर आएंगे।

  • जो भी व्यक्ति भाजपा दफ्तर में आना-जाना कर रहा है, उसकी थर्मल स्कैनिंग की जा रही है और सैनिटाइजेशन किया जा रहा है।

  • हर रोज की तरह अब केंद्रीय मंत्री दफ्तर में आकर कार्यकर्ताओं की समस्याएं नहीं सुन सकेंगे, क्‍योंकि BJP ने अपना सहयोग कार्यक्रम भी 31 मार्च तक रद्द किया है।

पार्टी के मुताबिक, जब से कोरोना वायरस का प्रकाप बढ़ने लगा है, तब से मुख्यालय में आने वाले कार्यकर्ताओं की संख्या में कटौती हुई है। पहले देश के अलग-अलग हिस्सों से रोजाना करीब 400-500 कार्यकर्ता दफ्तर आते थे, लेकिन अब ये संख्या घटकर सिर्फ 40-50 रह गई है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co