बिहार तिरंगे का अपमान कराने वालों के साथ नहीं, फ्लॉप होगी मानव श्रृंखला : सुशील
बिहार तिरंगे का अपमान कराने वालों के साथ नहीं, फ्लॉप होगी मानव श्रृंखला : सुशीलSocial Media

बिहार तिरंगे का अपमान कराने वालों के साथ नहीं, फ्लॉप होगी मानव श्रृंखला : सुशील

राज्यसभा सांसद सुशील कुमार मोदी ने कृषि कानूनों के विरोध में बिहार के विपक्षी दलों की कल बनने वाली मानव श्रृंखला पर कहा कि प्रदेश तिरंगे का अपमान करने वालों के साथ नहीं है...

राज एक्सप्रेस। राज्यसभा सांसद सुशील कुमार मोदी ने कृषि कानूनों के विरोध में बिहार के विपक्षी दलों की कल बनने वाली मानव श्रृंखला पर कहा कि प्रदेश तिरंगे का अपमान करने वालों के साथ नहीं है इसलिए यह श्रृंखला पूरी तरह से फ्लॉप होगी। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता श्री मोदी ने शुक्रवार को ट्वीट किया कि नये कृषि कानून के विरुद्ध किसानों को गुमराह कर जिन लोगों ने दिल्ली को दो महीने तक घेरे रखा, करोड़ों लोगों को आर्थिक चोट पहुंचाई और गणतंत्र दिवस पर हिंसा-तोड़फोड़ करते हुए तिरंगे का अपमान किया, उन्हें अब देश के गुस्से का शिकार होना पड़ रहा है।

श्री मोदी ने कहा कि भारत-विरोधी एजेंडा चलाने वाले बिचौलियों- खालिस्तानियों का साथ देकर कांग्रेस, राष्ट्रीय जनता दल (राजद) और वामदल पूरी तरह बेनकाब हो चुके हैं। उन्होंने कहा कि ये लोग बिहार में गणतंत्र के शत्रुओं का दुस्साहस बढ़ाने के लिए जो मानव श्रृंखला बनाने वाले हैं, उसकी कड़ियां बनने से पहले बिखर जाएंगी। भाजपा नेता ने कहा कि बिहार की राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार ने वर्ष 2006 में किसानों को मंडी में फसल बेचने की बाध्यता से मुक्ति दिलायी, कृषि रोड मैप लागू किया, पहली बार किसान महापंचायत बुलाकर विशेषज्ञों की राय ली, कृषि उपकरणों की खरीद पर सब्सिडी दी और 2018 में हर गांव तक बिजली पहुंचाकर डीजल पम्प से सिंचाई का बोझ खत्म किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार ने यूरिया की कालाबाजारी बंद करने के लिए नीम लेपित यूरिया उपलब्ध कराया, किसानों की आय दोगुनी करने के लक्ष्य पर काम किया और सालाना छह हजार रुपये किसानों के खाते में डालने की शुरुआत की। श्री मोदी ने कहा कि जिन लोगों ने अपने 15 साल के राज में किसानों के लिए कुछ नहीं किया, वे किसानों के हमदर्द बनने के लिए मानव श्रृंखला बनाने के बहाने सडक पर उत्पात करना चाहते हैं।

डिस्क्लेमर : यह आर्टिकल न्यूज़ एजेंसी फीड के आधार पर प्रकाशित किया गया है इसमें राज एक्सप्रेस द्वारा कोई संशोधन नहीं किया गया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co