प्रियंका गांधी ने बसवार गांव पहुंच मछुआरों का दर्द सुना
प्रयागराज के बसवार गांव की महिलाओं के साथ बैठकर पुलिस जुल्म की दास्ता सुनते हुए प्रियंका गांधीSocial Media

प्रियंका गांधी ने बसवार गांव पहुंच मछुआरों का दर्द सुना

कांग्रेस की उप्र प्रभारी तथा महासचिव प्रियंका गांधी ने रविवार को प्रयागराज के चाका ब्लाक के घूरपुर में बसवार गांव पहुंच कर निषाद और मछुआरा समुदाय के लोगों से भेंट कर उनका दर्द सांझा किया।

प्रयागराज, उत्तर प्रदेश। कांग्रेस की उप्र प्रभारी तथा महासचिव प्रियंका गांधी ने रविवार को प्रयागराज के चाका ब्लाक के घूरपुर में बसवार गांव पहुंच कर निषाद और मछुआरा समुदाय के लोगों से भेंट कर उनका दर्द सांझा किया। श्रीमती गांधी अपराह्न एक बजे यहां पहुंचकर मौजूद महिलाओं और बुजुर्गों से मुलाकात की हालचाल जाना तथा बातों को ध्यान से सुना।

प्रियंका गांधी ने कहा कि यहां के लोगों की समस्याओं को आप से बेहतर कोई नहीं जानता। 1989 से सपा, बसपा व भाजपा की सरकारों ने अपने लोगों को पट्टे दिए जिन्होंने स्थानीय लोगों पर कहर बरपाया। कहा कि कांग्रेस इन वर्गो के लोगों की जीवनशैली सुधारने के सभी प्रयास करेगी। प्रियंका नदी के किनारे दो किमी पैदल भी चली। महिलाओं ने कहा कि पुलिस ने न केवल उनकी नावों को तोड़ा बल्कि उन लोगों को बेरहमी से मारा पीटा भी। हम गरीब होने के कारण मुकदमा नहीं लड़ सकते। आप मदद करें। प्रियंका ने भरोसा दिलाया। बसवार आने की खबर से प्रशासन और पुलिस महकमे में हड़कंप मचा रहा। आनन फानन टूटी नावों की मरम्मत कराई गई।

माघ मेले में आई प्रियंका गांधी पहले तो नाव चला कर कुछ सांकेतिक रूप से अपने चुनावी बिगुल का आगाज कर दिया था लेकिन अब इसका पूरी तरीके से घोषणा प्रयागराज के बसवार गांव में पहुंच कर दी। जहां पर प्रशासन के द्वारा निषादराज समाज पर बल प्रयोग और उनके नाव तोड़कर जो मुद्दा दिया है उसके प्रयोग कर कहीं विपक्ष में बैठी कांग्रेस अपने वनवास से वापस आने को तैयारी कर रही है।जिस तरह निषाद राज ने श्री राम को वनवास में नाव द्वारा पार लगाया था कहीं बसवार के नाव कांग्रेस को उसके इस वनवास से पार न लगा दे और आगामी 2021 में होने वाले आम चुनाव में उसकी विजय पर मोहर न लगा दे।

उत्तर प्रदेश में लगभग 15 करोड़ से ज्यादा निषाद समाज के लोग निवास करते हैं और राजनैतिक रूप से इनके वोट का काफी महत्व भी है और इस जनसंख्या को देखा जाय तो यदि किसी एक राजनीतिक पार्टी को समाज समर्थन देते तो लगभग 14त्न के आसपास कुल वोट संख्याओं का गुड़ा भाग देखा जा सकता है बसवार की घटना ने इस गुणा भाग को हवा दे दी है और यह जल्द ही प्रदेश के मुखिया को सोचने के लिए मजबूर कर देगी। यह गुणा भाग और थोड़ा संकीर्ण रूप से देखें तो यह साफ हो जाता है कि अकेले इस समाज के अंदर ही इतना दम है किसी को भी सता से उतार या बैठा सकती है अब कांग्रेस ने अपना बड़ा दाँव खेला है और प्रियंका गांधी जैसी नेता इस समाज की धरती पर जब बैठने की कोशिश कर रही है यह भी पुष्टि घोषित हो रहा है कि आगे यह समाज किस ओर करवट लेगा क्योंकि इस समाज का साफ कहना है कि जो हमें हमारा अधिकार देगा हम उसी को वोट देंगे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co