कोरोना काल में मजदूरों का दुख दर्द सुनने सड़को पर उतरे राहुल गांधी
कोरोना काल में मजदूरों का दुख दर्द सुनने सड़को पर उतरे राहुल गांधी|Social Media
उत्तर भारत

कोरोना काल में मजदूरों का दुख-दर्द सुनने सड़कों पर उतरे राहुल गांधी

कोरोना संकट काल की इस मुश्किल घड़ी में प्रवासी मजदूर बेहद परेशान हैं, उनके इसी हालातों के बीच कांग्रेस नेता राहुल गांधी सड़कों पर निकले और बेहाल मजदूरों से जाना उनका हाल, गाड़ी से भिजवाया घर।

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

राज एक्‍सप्रेस। घातक कोरोना वायरस की आपदा में लॉकडाउन के चलते सबसे अधिक प्रवासी मजदूरों को परेशानी का सामना करना पड़ा है, कोविड-19 की इस मुश्किल घड़ी में वे बेहद मुश्किल दौर में हैं, उनके इसी हालातों के देखते हुए कांग्रेस के पूर्व अध्‍यक्ष व सांसद राहुल गांधी शनिवार को घर से बाहर सड़कों पर निकले, बेहाल मजदूरों से जाना उनका हाल और फिर गाड़ी से घर भिजवाया।

राहुल गांधी ने सुना मजदूरों का दुख-दर्द :

देश में मजदूरों की हालत चुनौतीपूर्ण है, इसी बीच कांग्रेस नेता राहुल गांधी द्वारा शनिवार को उन मजदूरों से बात की गई, जो पैदल चलकर अपने घर की ओर प्रस्‍थान कर रहे हैं। इस दौरान उन्‍होंने कुछ मजदूरों से दिल्ली के मथुरा रोड पर मोदी मिल फ्लाईओवर के पास मुलाकात की और उनके दुख-दर्द को सुना। दक्षिणी पूर्वी दिल्ली जिले के पुलिस उपायुक्त राजेन्द्र प्रसाद मीणा ने बताया कि, पुलिस को सूचना मिली थी की कांग्रेस नेता राहुल गांधी मथुरा रोड पर प्रवासी मजदूरों से मुलाकात करने के लिए आने वाले हैं। वे शाम करीब पांच बजे मोदी मिल फ्लाईओवर के पास पहुंचे।

सड़क किनारे 15 मजदूरों से राहुल की मुलाकात :

पुलिस उपायुक्त राजेन्द्र प्रसाद मीणा ने आगे यह भी बताया कि, राहुल गांधी ने यहां सड़क किनारे 15 मजदूरों से मुलाकात की और कुछ देर तक उनसे बातचीत करते रहे, यहां पर मजदूरों के दुख-दर्द सुनकर लगभग 15 से 20 मिनट तक उनके साथ गुजारने के बाद कांग्रेस नेता राहुल गांधी यहां से चले गए।

कुछ कांग्रेसी कार्यकर्ता भी मौजूद :

इस दौरान पुलिस उपायुक्त राजेन्द्र प्रसाद मीणा द्वारा यह भी कहा गया है कि, कांग्रेस नेता राहुल गांधी के साथ कुछ कांग्रेसी कार्यकर्ता भी मौजूद थे। यहां मौजूद मजदूरों को ये लोग अपने साथ ले गए। इन मजदूरों में 11 पुरुष, चार महिलाएं और एक बच्चा शामिल था।

घर पहुँचाने की मदद कराई मुहैया :

दिल्ली कांग्रेस के नेता अनिल चौधरी ने बताया कि, सभी मजदूरों को गाड़ियों से रवाना कर दिया गया। हालांकि पुलिस ने एक गाड़ी में सिर्फ दो लोगों को भेजने की अनुमति दी, फिर भी सभी मजदूरों के लिए गाड़ियों का इंतजाम करा लिया गया।

खबरों के अनुसार मजदूरों द्वारा ये बताया कि, बातचीत के दौरान राहुल गांधी ने सभी मजदूरों को मास्क, खाना और पानी दिया। इसके बाद उन्होंने कार्यकर्ताओं से बोलकर गाड़ियां मंगवाईं और मजदूरों को घर तक भेजने का इंतजाम करवाया।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co