सूचना तकनीक के व्यापक उपयोग से राजस्थान ई-गवर्नेंस में अग्रणी : गहलोत
सूचना तकनीक के व्यापक उपयोग से राजस्थान ई-गवर्नेंस में अग्रणी : गहलोतSocial Media

सूचना तकनीक के व्यापक उपयोग से राजस्थान ई-गवर्नेंस में अग्रणी : गहलोत

अशोक गहलोत ने मुख्यमंत्री निवास पर वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से राजीव-2021 डिजिटल क्विजथॉन विजेताओं के पुरस्कार वितरण समारोह को संबोधित किया।

जयपुर। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आज शासन, प्रशासन और जीवन के हर क्षेत्र में सूचना तकनीक का बड़ा महत्व बताते हुए कहा है कि राज्य सरकार ने सूचना प्रौद्योगिकी का अधिकाधिक उपयोग सुनिश्चित कर ई-गवर्नेंस को बढ़ावा दिया है, जिससे राज्य संवेदनशील, पारदर्शी और जवाबदेह सुशासन की दिशा में प्रतिबद्धता के साथ आगे बढ़ा है।

श्री गहलोत शुक्रवार को मुख्यमंत्री निवास पर वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से राजीव-2021 डिजिटल क्विजथॉन विजेताओं के पुरस्कार वितरण समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि साथ ही सरकार अग्रेंजी माध्यम के महात्मा गांधी स्कूल, मुख्यमंत्री अनुप्रति योजना, राजीव गांधी स्कॉलरशिप फॉर एकेडमिक एक्सीलेंसी योजना, कालीबाई भील मेधावी छात्रा स्कूटी योजना जैसी योजनाएं संचालित कर विद्यार्थियों को बेहतर भविष्य की दिशा में आगे बढ़ा रही है।

उन्होंने कार्यक्रम में क्विजथॉन के जयपुर जिले के 20 विजेताओं को पुरस्कार प्रदान किए। इनमें प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले नौ विजेताओं को टैब और द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाले 11 विजेताओं को मोबाइल फोन दिया गया। क्विजथॉन में 29 जिलों के 165 विजेताओं को पुरस्कार दिए गए हैं। पुरस्कार स्वरूप 75 प्रतिभागियों को एक-एक टैब तथा 90 प्रतिभागियों को एक-एक मोबाइल फोन दिया गया है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि ऐसे आयोजन आगे भी जारी रखें ताकि युवाओं को प्रोत्साहन मिलता रहे।

मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर क्विजथॉन के विजेताओं से संवाद भी किया। संवाद के दौरान उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी भारत में सूचना क्रांति के जनक रहे हैं। उन्होंने ई-गवर्नेंस और आईटी का लाभ घर-घर पहुंचाने का जो सपना देखा था, आज वह साकार हो रहा है। उन्होंने कहा कि यह शुभ संकेत है कि युवा जागरूकता के साथ राज्य सरकार की योजनाओं का लाभ लेकर और आईटी का उपयोग कर आगे बढ़ रहे हैं।

श्री गहलोत ने कहा कि नई पीढ़ी राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू, सरदार पटेल, मौलाना आजाद, डॉ. भीमराव अम्बेडकर, इंदिरा गांधी, राजीव गांधी जैसे महान नेताओं की देश के विकास के प्रति सोच और सिद्धांतों को अपनाकर आगे बढ़ें। उन्होंने कहा कि शिक्षा के साथ-साथ युवा सामाजिक सेवा के क्षेत्र में भी काम करें, इससे उन्हें नये अनुभव मिलेंगे और उनके व्यक्तित्व का विकास होगा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co