उत्‍तर प्रदेश के लखनऊ में राजनाथ और योगी ने 180 विकास परियोजनाओं का शुभारंभ किया
उत्‍तर प्रदेश के लखनऊ में राजनाथ और योगी ने 180 विकास परियोजनाओं का शुभारंभ कियाPriyanka Sahu -RE

उत्‍तर प्रदेश के लखनऊ में राजनाथ और योगी ने 180 विकास परियोजनाओं का शुभारंभ किया

उत्‍तर प्रदेश के लखनऊ में आज लगभग 1710 करोड़ रुपये की 180 विकास परियोजनाओं के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और CM योगी ने उद्घाटन और शिलान्यास किया है। साथ ही अपने संबोधन में कही ये बातें...

उत्‍तर प्रदेश, भारत। भाजपा शासित राज्‍य उत्‍तर प्रदेश में योगी सरकार के राज में कई विकास परियोजनाओं का शुभारंभ हो रहा है और आज मंगलवार को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और मुख्‍यमंत्री याेगी आदित्‍यनाथ ने लखनऊ में लगभग 1710 करोड़ रुपये की 180 विकास परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया है।

मोदी जी और योगी जी की परमात्मा ने अद्भुत जोड़ी बनाई :

इस दौरान लखनऊ में लगभग 1700 करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं के शुभारंभ समारोह को CM योगी और राजनाथ दोनों ने संबोधित भी किया। इस दौरान राजनाथ सिंह ने अपने संबोधन में कहा- खुद कोरोना संक्रमित होने के बाद भी कोरोना कालखंड में जिस तरीके से योगी आदित्यनाथ जी ने काम किया है, वो अपने आप में बेमिसाल है। सबसे बड़ी बात जो मेरे दिल को छू गई कि जिन बच्चों के अभिभावकों इस दुनिया में नहीं हैं, उनका भी जिम्मा योगी आदित्यनाथ जी ने उठा लिया है, वो काबिले तारीफ है। मैं केन्द्र में देखता हूं मोदी जी और यूपी में योगी जी। परमात्मा ने अद्भुत जोड़ी बनाई है। मैं यह बात दावे से कह सकता हूं कि देश के 90 फीसदी लोगों को किसी न किसी सरकारी योजना का लाभ मिला है। योगी जी के नेतृत्व में लखनऊ को जो विशेष तवज्जो मिली है, मैं उसका अनुभव कर रहा हूं।

मैं मुख्यमंत्री जी से कहना चाहूंगा, लखनऊ के लिए हमारा सपना है कि यातायात के नजरिए से यह एक सुगम शहर बन जाए। लखनऊ के विकास में कार्यदायी संस्थाओं की महत्वपूर्ण भूमिका है। रक्षा मंत्रालय के तहत आने वाला DRDO इसी लखनऊ की धरती पर ब्रह्मोस मिसाइल बनाएगा। यहां पर 5000 लोगों को रोजगार मिलेगा।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह

CM योगी का संबोधन :

तो वहीं, CM योगी ने अपने संबोधन में कहा- विकास की इन परियोजनाओं के माध्यम से ही आमजन के जीवन में व्यापक परिवर्तन लाया जा सकता है व उनके जीवन को एक नई दिशा दी जा सकती है। UP सरकार इस दिशा में हर संभव उपाय के साथ प्रयासरत है। आज उत्तर प्रदेश, देश में व्यावसायिक सुगमता यानि 'ईज ऑफ डूइंग बिजनेस' में दूसरे स्थान पर है। कोरोना काल में 5,000 करोड़ की सैमसंग डिस्प्ले यूनिट प्रदेश में स्थापित हुई। अब वहां उत्पादन भी प्रारम्भ हो चुका है।

  • उत्तर भारत के सबसे बड़े डाटा सेंटर के लिए भी उत्तर प्रदेश का ही चयन हुआ है। इसमें निजी क्षेत्र से तमाम निवेश प्रदेश में आ रहे हैं। कोरोना कालखंड में प्रदेश में 66,000 करोड़ से अधिक का निवेश हुआ।

  • आज के इस डिजिटल युग में डाटा का अपना महत्व होता है। इस महत्व को ध्यान में रखते हुए आज प्रदेश में कई डाटा सेंटर स्थापित हो रहे हैं।

  • आने वाला समय उत्तर प्रदेश का है। प्रदेश, 01 ट्रिलियन डॉलर की इकॉनमी बनने की ओर अग्रसर है। उत्तर प्रदेश, देश की नंबर एक अर्थव्यवस्था बनकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के संकल्प को आगे बढ़ाएगा।

  • स्मार्ट सिटी के अनुरूप हमारी सरकार ने जनप्रतिनिधियों के माध्यम से हर ओर से आधारभूत संरचना के साथ जनसुविधा को बढ़ाने का काम किया है।

  • आज उत्तर प्रदेश बदल गया है। हमारी नीतियों के अनुरूप निवेश का माहौल बना। देश में कहीं भी निवेश आता है, तो उसमें सबसे पहले यूपी का नंबर आता है। कोरोना कालखंड में ये बातें सामने आ गईं। जब चीन से निवेश भाग रहा था, तब वह निवेश उत्तर प्रदेश में आया।

  • प्रदेश सरकार बेहतरीन प्रयास कर रही है। एक्सप्रेसवे का जाल बिछाया जा रहा है। याद करिए, 14 वर्षों तक लोगों ने प्रदेश को कहां पहुंचा दिया था। हर क्षेत्र में यूपी पिछड़ता गया।

  • डिजिटल युग में डाटा का कितना महत्व है, ये आप जानते हैं। आज प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में डाटा सेंटर स्थापित हो रहे हैं। उत्तर भारत के सबसे बड़े डाटा सेंटर के लिए उत्तर प्रदेश का नाम चुना गया है

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co