स्वयं सहायता समूह से महिलाओं की आर्थिक स्थिति में सुधार: आनंदीबेन
स्वयं सहायता समूह से महिलाओं की आर्थिक स्थिति में सुधार: आनंदीबेनSocial Media

स्वयं सहायता समूह से महिलाओं की आर्थिक स्थिति में सुधार: आनंदीबेन

उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने मंगलवार को कहा कि स्वयं सहायता समूह की बदौलत महिलाओं की आर्थिक स्थिति में उल्लेखनीय सुधार हुआ है।

राजएक्सप्रेस। उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने मंगलवार को कहा कि स्वयं सहायता समूह की बदौलत महिलाओं की आर्थिक स्थिति में उल्लेखनीय सुधार हुआ है। गोरखपुर के सर्किट हाउस में स्वयं सहायता समूहों, क्षय रोग ग्रसित बच्चों एवं किसान उत्पादक संगठन, प्रगतिशील किसानों के साथ बैठक करने के बाद श्रीमती पटेल ने कहा कि स्वयं सहायता समूहों की महिलाओं की बातों को सुनकर अपार खुशी हुई है, 10 साल पहले महिलाओं की स्थिति और आज की स्थिति में बेहतर सुधार हुआ है। स्वयं सहायता के अन्दर महिलाओं को प्रशिक्षण दिया जा रहा है और आज वे इससे जुड़कर उनका आर्थिक उन्नयन हुआ है।

उन्होंने कहा कि समूह की महिलाओं को आगे आकर टीबी ग्रसित बच्चों एवं मरीजों के परिवार को अच्छे खानपान के प्रति प्रेरित करना चाहिये। गांव में ऐसे मरीजों की जानकारी समूह को करनी चाहिए। राज्यपाल ने शिक्षा पर बल देते हुए कहा कि शिक्षा जीवन उत्थान का बड़ा माध्यम होता है, समूह की महिलाओं से कहा कि वे संकल्प लें कि बेटा-बेटी में कोई भेद भाव नहीं है, दोनों एक समान है, ऐसे भाव के साथ अपने बच्चों को खूब पढ़ायें। उन्होंने कहा कि बच्चियों का सशक्त होना जरूरी है तथा उनका ब्लड टेस्ट कराया जाये और यह सुनिश्चित हो कि हीमोग्लोबीन 13 से 16 प्रतिशत से कम नहीं होना चाहिए।

उन्होंने कहा कि कुपोषण से बच्चियों के जीवन को बचाने के लिए बाल विवाह कदापि न करें, 18 साल से कम उम्र की बच्चियों की शादी करने पर सजा का भी प्रावधान है। उन्होंने कहा कि महिलाएं जब तक चुप रहेंगी तब तक यह कुप्रथा दूर नहीं हो सकती है। समाज में कुप्रथा को दूर करने के लिए महिलाओं को आगे आना होगा। स्वच्छ, स्वस्थ्य एवं शांत समाज की स्थापना की जाये। इस अवसर पर राज्यपाल ने स्वयं सहायता समूहों को सात करोड़ 33 लाख 10 हजार रूपये का डेमो चेक वितरित किये, जिसमें 1074 समूहों का रिवाल्विंग फन्ड तथा 520 समूहों को एक लाख 10 हजार सम्मिलित है तथा सामुदायिक शौचालय के तहत 2 महिलाओं को चाभी एवं सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत कोटे की एक दुकान चयन का नियुक्ति पत्र प्रदान किया। उन्होंने कहा कि स्वंय सहायता समूह से महिलाओं को मान, सम्मान, गौरव प्राप्त हुआ है। देश के विकास में महिलाओं की शक्ति को जोडऩा होगा। उन्होंने कहा कि महिलाएं अपने स्वास्थ्य पर ध्यान दें।

डिस्क्लेमर : यह आर्टिकल न्यूज एजेंसी फीड के आधार पर प्रकाशित किया गया है। इसमें राज एक्सप्रेस द्वारा कोई संशोधन नहीं किया गया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

AD
No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co