शाहीन बाग प्रदर्शनकारी महिलाओं ने अमित शाह से मिलने की ठानी
शाहीन बाग प्रदर्शनकारी महिलाओं ने अमित शाह से मिलने की ठानी|Priyanka Sahu -RE
उत्तर भारत

शाहीन बाग प्रदर्शनकारी महिलाओं ने अमित शाह से मिलने की ठानी

दिल्ली के शाहीन बाग में धरने पर बैठे प्रदर्शनकारियों ने निर्णय लिया है कि, वह कल दोपहर 2 बजे गृहमंत्री अमित शाह से मिलने उनके आवास पर जाएंगे। जानिये क्‍या होगी प्रदर्शनकारियों की प्राथमिक मांग?

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

हाइलाइट्स :

  • कल दोपहर 2 बजे अमित शाह से मिलेंगी शाहीन बाग की महिलाएं

  • अमित शाह से मिलने के लिए एकजुट नहीं शाहीन बाग प्रदर्शनकारी

  • दिल्‍ली के शाहीन बाग में CAA के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन जारी रहा

राज एक्‍सप्रेस। नागरिकता संशोधित कानून (CAA) के खिलाफ सबसे अधिक विरोध-प्रदर्शन भारत की राजधानी दिल्ली के शाहीन बाग में हुआ, इसी के चलते आज फिर शाहीन बाग से जुड़ी एक बड़ी खबर सामने आ रही है। दरअसल बड़ी खबर ये है कि, शाहीन बाग में धरने पर बैठी महिलाओं ने अब यह ठान लिया है कि, रविवार यानी 16 फरवरी को वह गृहमंत्री अमित शाह से मिलने जाएंगी।

जी हां! शाहीन बाग प्रदर्शनकारियों ने अब यह फैसला किया है कि, वे गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात कर अपनी बात उनके सामने रखेंगे। हालांकि, आज यह तय कर लिया जाएगा कि, इस प्रतिनिधिमंडल में कौन-कौन शामिल होगा।

गृहमंत्री आवास पर प्रदर्शनकारियों की मुलाकात :

ताजा जानकारी के मुताबिक, यह भी बताया जा रहा है कि, शाहीन बाग की सभी प्रदर्शनकारी महिलाएं दोपहर 2 बजे अपनी मांगों के साथ गृहमंत्री के आधिकारिक आवास पर मुलाकात करेंगी। माना जा रहा है कि, शाहीन बाग प्रदर्शनकारियों की प्राथमिक मांग नागरिकता कानून को वापस लेने की हो सकती है।

वहीं, दूसरी ओर गृह मंत्री कार्यालय के सूत्रों द्वारा यह बात सामने आई है कि, इस मुलाकात को लेकर प्रदर्शनकारियों की तरफ से अब तक कोई अर्जी नहीं मिली है। मालूम हो कि, गृहमंत्री अमित शाह ने कुछ दिन पहले ही यह बात कही थी कि, ''CAA को लेकर जो भी मिलना चाहता है, वह उनसे बात करने को तैयार हैं।''

क्‍या एकजुट है शाहीन बाग के प्रदर्शनकारी?

शाहीन बाग के प्रदर्शनकारी अमित शाह से मुलाकात के लिए फिलहाल एकजुट नहीं है, क्‍योंकि धरने पर बैठे प्रदर्शनकारियों में कुछ लोगों ने तो यह निर्णय ले लिया कि, उन्‍हें अमित शाह से मिलना चाहिए, लेकिन प्रदर्शनकारियों के कुछ लोग इस निर्णय के खिलाफ हैं एवं शाह से मुलाकात के लिए तैयार नहीं है। उनका कहना है कि, अमित शाह को यहां आकर उनसे मिलना चाहिए।

बता दें कि, देशभर में हो रहे प्रदर्शनों की पहचान बन चुके शाहीन बाग में बीते वर्ष 2019 के दिसंबर माह से ही धरने पर बैठी महिलाएं CAA-NRC-NPR का विरोध-प्रदर्शन कर रही हैं, जिसे लगभग 60 दिन से भी ज्यादा हो गए हैं, परंतु फिर भी अभी तक कोई समाधान नहीं हुआ है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co