Raj Express
www.rajexpress.co
Union President Aishe Ghosh
Union President Aishe Ghosh|Social Media
उत्तर भारत

JNU हिंसा: SIT जांच में खुलासा, क्‍या बढ़ेगी आइशी घोष की मुश्किलें

JNU हिंसा मामले की एसआईटी द्वारा की गई जांच में एक बड़ा खुलासा हुआ है कि, पेरियार हॉस्टल में हुई हिंसा के समय छात्रसंघ की अध्यक्ष आइशी घोष हमलावरों का नेतृत्व कर रही थीं।

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

राज एक्‍सप्रेस। दिल्‍ली के जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) में 5 जनवरी को हुई हिंसा मामले की एसआईटी द्वारा की गई जांच के दौरान एक बड़ा खुलासा सामने आया हैै कि, पेरियार हॉस्टल में हुई हिंसा के समय JNU छात्रसंघ की अध्यक्ष आइशी घोष (Union President Aishe Ghosh) हमलावरों का नेतृत्व कर रही थीं और तो और यह बात का भी पता चला है कि, वह पेरियार हॉस्टल में हमलावरों के आगे चल रही थीं और उन्होंने अपने चेहरे पर रुमाल बांध रखा था।

बढ़ सकती हैं आइशी घोष की मुश्किलें :

एसआईटी की जांच में यह बात सामने आने केे बाद छात्रसंघ अध्यक्ष आइशी घोष की मुश्किलें बढ़ सकती हैं एवं यहीं वजह हैै कि, दिल्ली पुलिस ने आइशी घोष को JNU हिंसा मामले में आरोपी बनाया है।

वहीं, अपराध शाखा के एक वरिष्ठ अधिकारी द्वारा यह भी बताया गया हैै कि, ''आइशी घोष ने 3 व 4 जनवरी को सर्वर रूम में तोड़फोड़ भी की की थी। सिक्योरिटी गार्ड ने उनको रोका तो उससे धक्का-मुक्का की गई। इसके बाद रजिस्ट्रेशन करा रहे चार छात्रों के साथ धक्का-मुक्की और मारपीट की गई। इन छात्रों ने भी दिल्ली पुलिस को शिकायत दी हैं।''

आइशी घोष का नाम सभी जगह :

पुलिस अधिकारियों का कहना है कि, आइशी घोष का नाम सभी जगह नजर आ रहा हैं। सर्वर रूम में तोड़फोड़, सिक्योरिटी गार्ड के साथ धक्का-मुक्की की बात छात्रों से पूछताछ के दौरान सामने आई है एवं जब पेरियार हॉस्टल का वीडियो सामने आया तो इसमें वह हमलावरों के आगे चलती नजर तो आई हैै, लेकिन उनके हाथ में डंडा या पत्थर जैसी कोई भी चीजें नहीं दिखी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।