हिमाचल तथा जम्मू से पंजाब आने वालों पर सख्त निगरानी
हिमाचल तथा जम्मू से पंजाब आने वालों पर सख्त निगरानीSocial Media

हिमाचल तथा जम्मू से पंजाब आने वालों पर सख्त निगरानी

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने सोमवार से राज्य में प्रवेश करने वाले सभी लोगों के लिए कोविड टीकाकरण या आर.टी-पी.सी.आर. की नेगेटिव रिपोर्ट लाजिमी करने के आदेश दिए हैं।

चंडीगढ़। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने सोमवार से राज्य में प्रवेश करने वाले सभी लोगों के लिए कोविड टीकाकरण या आर.टी-पी.सी.आर. की नेगेटिव रिपोर्ट लाजिमी करने के आदेश दिए हैं और हिमाचल प्रदेश और जम्मू से आने वाले लोगों की सख़्त निगरानी रखने के लिए कहा गया है।

इन राज्यों में कोविड पॉजिटिव केस बढ़ रहे हैं। स्कूलों में कोविड के मामलों की रिपोर्टों के बीच मुख्यमंत्री ने मुकम्मल टीकाकरण वाले टीचिंग और नॉन-टीचिंग स्टाफ या जो हाल में कोविड से स्वस्थ हुए हैं, स्कूलों और कॉलेजों में निजी तौर पर पढ़ाएंगे और सभी बच्चों के लिए ऑनलाइन पढ़ाई का विकल्प खुला रहेगा। उन्होंने टीकाकरण के लिए अध्यापकों और गैर-अध्यापन स्टाफ को प्राथमिकता देने के आदेश भी दिए और विशेष कैंप लगाकर इसी महीने के अंदर टीकाकरण की पहली डोज़ यकीनी बनाने और दूसरी डोज़ के लिए भी उनको प्राथमिकता देने के लिए कहा।

कैप्टन सिंह ने कोविड समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए हिमाचल प्रदेश और देश के अन्य हिस्सों में पॉजिटिविटी दर पर चिंता जाहिर की। पिछले हफ्ते पंजाब में पॉजिटिविटी दर भी 0.2 प्रतिशत तक की मामूली वृद्धि दर्ज की गई और आर.ओ. 1.05 प्रतिशत तक पहुँच रहा है। उन्होंने कहा कि कैंब्रिज के अध्ययन ने भी भविष्यवाणी की है कि अगले 64 दिनों में केस दोगुने होने की संभावना है, इसलिए पहले से लागू स्वास्थ्य प्रोटोकॉल में वृद्धि करते हुए नई पाबंदियाँ घोषित की गई हैं। मुख्यमंत्री ने छात्रों तथा स्टाफ के कम-से-कम 10 हजार टैस्ट प्रतिदिन लेने के आदेश दिए। उन्होंने 0.2 प्रतिशत से ऊपर पॉजिटिविटी दर वाले जिलों/शहरों को स्थिति में सुधार होने तक चौथी और इससे नीचे की कक्षाओं के लिए निजी तौर पर पढ़ाई बंद करने के लिए कहा।

उन्होंने बताया कि मुकम्मल टीकाकरण और आर.टी-पी.सी.आर. की नेगेटिव रिपोर्ट का नियम उन प्रत्येक पर लागू होगा, जो पंजाब में सडक, रेल या हवाई मार्ग के द्वारा दाखिल होंगे। इन दोनों में से कोई भी न होने की सूरत में उस व्यक्ति का आर.ए.टी. टैस्ट लाजिमी होगा, बशर्ते कि वह हाल ही में कोविड से ठीक हुआ हो।

राज्य में कुछ कक्षाओं के लिए दोबारा खोले गए स्कूलों के बारे में उन्होंने कहा कि हालाँकि स्कूलों में उच्च पॉजिटिविटी दर की कुछ रिपोर्टें हैं लेकिन सख़्त जांच में यह वास्तविकता सामने आई है कि पिछले हफ़्ते की समूची पॉजिटिविटी दर 0.2 प्रतिशत के मुकाबले स्कूली विद्यार्थियों में यह दर 0.1 प्रतिशत है। गत 9 अगस्त से अब तक सरकारी स्कूलों में 41 विद्यार्थी और एक स्टाफ सदस्य पॉजिटिव पाए गए हैं। मुख्यमंत्री ने बताया कि कोविड के बाद की देखभाल अब सभी सरकारी मेडिकल कॉलेजों और अस्पतालों और जिला अस्पतालों में उपलब्ध है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co