Raj Express
www.rajexpress.co
सबसे ऊंचा एटीसी टावर
सबसे ऊंचा एटीसी टावर|Neha Shrivastava-RE
उत्तर भारत

आईजीआई एयरपोर्ट पर बना देश का सबसे ऊंचा एटीसी टावर

नई दिल्ली : देश के सबसे ऊंचे एयर ट्रैफिक कंट्रोल टावर और दिल्ली हवाई यातायात सेवा परिसर (डीएटीएस-परिसर) का किया उद्घाटन। एटीसी टावर में विश्व की सबसे बेहतर तकनीक स्थापित की गई।

Priyanka Yadav

Sushil Dev

Priyanka Yadav

राज एक्सप्रेस। केंद्रीय शहरी विकास मंत्री और पंजाब की अमृतसर संसदीय सीट से भाजपा उम्मीदवार हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि,आने वाले सालों में नागरिक विमानन क्षेत्र हमारी अर्थव्यवस्था का संवाहक होगा। वह यहां इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर देश के सबसे ऊंचे एयर ट्रैफिक कंट्रोल (एटीसी) टावर और दिल्ली हवाई यातायात सेवा परिसर (डीएटीएस-परिसर) का उद्घाटन किया। एटीसी टावर में विश्व की सबसे बेहतर तकनीक स्थापित की गई।

देश का सबसे ऊंचा एटीसी टावर
देश का सबसे ऊंचा एटीसी टावर
Priyanka yadav - RE

देश में सबसे ऊंचा एटीसी टावर

नवनिर्मित एटीसी टावर देश में सबसे ऊंचा और दुनिया में सबसे ऊंचे टावरों में से एक है। यहां से हवाई यातायात नियंत्रक एयरपोर्ट के रनवे, टैक्सी-वे और पार्किंग स्टैंड सहित तमाम परिचालन क्षेत्र पर हो रही गतिविधियां देख सकेंगे। उन्होंने कहा कि, कुशल, सुचारू और निर्बाध हवाई यातायात प्रबंधन को सुनिश्चित करने के लिए सेवाओं और प्रणालियों को उन्नत करने के संबंध में यह आदर्श अवसंरचना एक आवश्यक कदम है। उद्घाटन के समय कई दिग्गज अधिकारी भी उपस्थित थे।

ट्रैफिक कंट्रोलर हैं महानायक-

एएआई के प्रयासों की सराहना करते हुए हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि, भारतीय हवाई अडडों पर बढ़ते यात्री और माल यातायात से भारतीय अर्थव्यवस्था के तेज विकास का परिचय मिलता है। वहीं विमानन मंत्रालय के सचिव श्री खारोला ने कहा कि, मशीनों के पीछे काम करने वाले लोग हर संचालन के लिए महत्वपूर्ण होते हैं। उन्होंने कहा कि, आकाश में हवाई जहाजों को सुरक्षित बनाने के लिए हमारे एयर ट्रैफिक कंट्रोलर गुमनाम महानायक हैं और हम उनके प्रति कृतज्ञ हैं।

एक नजर इन ख़ास बातों पर-

  • IGI पर नए एटीसी टावर से एयर ट्रांसपोर्ट मैनेजमेंट सर्विसेस में काफी मजबूती आएगी।

  • एटीसी टावर 102 मीटर ऊंचे से IGI एयरपोर्ट के तीनों रनवे और तीनों पैसेंजर टर्मिनल के अलावा कार्गो टर्मिनल पर भी आसानी से निगरानी कर सकता है।

  • एटीसी टावर को 350 करोड़ रुपए की लागत में तैयार किया गया है।

  • एटीसी टावर के शुरू होने से 360 डिग्री मॉनिटरिंग होगी।

  • नया एटीसी टावर हवाई यातायात की सुरक्षा को पुख्ता करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।

  • नए एटीसी टावर के शुरू होने के बाद पुराने टावर को बंद नहीं किया जाएगा। पुराना सिस्टम भी कुछ महीनों तक बैकअप के तौर पर काम करता रहेगा।

  • आने वाले समय में IGI एयरपोर्ट पर बड़ा विस्तार होगा, जिसमें चौथा रनवे और कई नए पार्किंग स्टैंड व टैक्सी-वे शामिल हैं।