साठ सालों तक विकास परियोजनाएं लटकाने की परंपरा रही : नरेन्द्र मोदी
साठ सालों तक विकास परियोजनायें लटकाने की परंपरा रही : मोदीRaj Express

साठ सालों तक विकास परियोजनाएं लटकाने की परंपरा रही : नरेन्द्र मोदी

श्री मोदी आज उत्तराखंड के कुमाऊं मंडल के हल्द्वानी दौरे पर पहुंचे। उन्होंने उत्तराखंड की जनता को लगभग साढ़े 17 हजार करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं की सौगात दी।

नैनीताल। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुरुवार को कांग्रेस पर अपरोक्ष रूप से हमला करते हुए कहा कि पिछले 60 सालों में देश में विकास परियोजनाओं का लटकाने की परंपरा रही है जिनमें से लखवाड़ बहुउद्देश्यीय परियोजना भी एक रही है जिसे 46 साल बाद उनकी सरकार पूरा करने का निर्णय लिया।

श्री मोदी आज उत्तराखंड के कुमाऊं मंडल के हल्द्वानी दौरे पर पहुंचे। उन्होंने उत्तराखंड की जनता को लगभग साढ़े 17 हजार करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं की सौगात दी। इनमें से 14127 करोड़ रुपये की विकास परियोजना की शिलान्यास किया गया जबकि 3420 करोड़ रुपये की विकास योजनाओं को लोगों को समर्पित की गयी।

प्रधानमंत्री ने जहां 300 मेगावाट की लखवाड़ बहुउद्देश्यीय परियोजना का शिलान्यास किया वहीं तराई के उधमसिंह नगर में ऋषिकेश स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के सेटेलाइट केन्द्र और पिथौरागढ़ में बाबू जगजीवन राम मेडिकल कालेज की नींव भी रखी। दोनों पर लगभग 955 करोड़ रुपये खर्च किया जायेगा।

श्री मोदी ने कहा कि आजादी के बाद देश के लोगों ने दो धारायें देखी। एक धारा पहाड़ को विकास से वंचित रखने की रही है। दूसरी धारा पहाड़ों के विकास के लिये दिन-रात एक करने की रही है। उन्होंने कांग्रेस का नाम लिये बगैर कहा कि ऐसे लोग पहाड़ों पर बिजली और सड़क पहुंचाने के लिये मेेहनत से कतराते रहे हैं। इससे कितनी पीढ़ी के लोग अच्छी सड़क व सुविधाओं के अभाव में कहीं और जाकर बस गये। आज देश की जनता ऐसे लोगों को पहचान गयी है और उनका कच्चा चिट्ठा खोल रही है।

उन्होंने कहा कि, उनकी सरकार सबका साथ, सबका विकास के नारे के साथ तेज गति से देश को आगे बढ़ाने में जुटी है। श्री मोदी ने हल्द्वानी के बुनियादी विकास के लिये अलग से 2000 करोड़ रुपये जारी करने की घोषणा भी की। उन्होंने कहा कि इससे हल्द्वानी शहर के पानी, सीवर, सड़क, पार्किंग, स्ट्रीट लाइट आदि सभी क्षेत्र में काफी विकास होगा।

श्री मोदी ने कहा कि आने वाला दशक उत्तराखंड का दशक है और वह सोच-समझकर कह रहे हैं। केन्द्र एवं राज्य की डबल इंजन सरकारें इसके लिये तेजी से कार्य कर रही है। उत्तराखंड के लोगों के सामथ्र्य से यह साबित होगा। वह उत्तराखंड के लोगों की ताकत को समझते हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co