Uttar Pradesh : छह मई से शुरू होगा मिशन शक्ति का चौथा चरण
छह मई से शुरू होगा मिशन शक्ति का चौथा चरणSocial Media

Uttar Pradesh : छह मई से शुरू होगा मिशन शक्ति का चौथा चरण

महिला सुरक्षा, सम्मान और स्वावलंबन के लिए योगी सरकार ने प्रतिबद्धता व्यक्त करते हुए मिशन शक्ति अभियान के चौथे चरण की शुरुआत छह मई से करने का फैसला किया है।

लखनऊ। महिला सुरक्षा, सम्मान और स्वावलंबन के लिए योगी सरकार ने प्रतिबद्धता व्यक्त करते हुए मिशन शक्ति अभियान के चौथे चरण की शुरूआत छह मई से करने का फैसला किया है।

मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से रविवार को जारी बयान के अनुसार अपने चौथे चरण में मिशन शक्ति एक नए कलेवर में नजर आएगा। सरकार का दावा है कि इस अभियान की मदद से प्रदेश में महिलाओं और बेटियों के उत्थान और उनकी सुरक्षा, सम्मान व स्वावलंबन प्रदान कर ग्रामीण व शहरी क्षेत्र के परिवेश से जुड़ी महिलाओं व बेटियों को संबल मिला है। ऐसे में मिशन शक्ति के बेहतर परिणामों के चलते योगी सरकार ने अपने दूसरे कार्यकाल में इस अभियान को गति देने की इसकी कार्ययोजना तैयार की है। जिसमें सभी विभागों को चिन्हित कर महिलाओं और बेटियों पर आधारित योजनाओं को तैयार किया जा रहा है।

महिला कल्याण विभाग के निदेशक मनोज राय ने इस बारे में बताया कि प्रदेश में योगी सरकार के पिछले कार्यकाल में मिशन शक्ति अभियान में सभी जिलों में वृहद जागरूकता अभियान चला कर स्वर्णिम योजनाओं से बेटियों और महिलाओं को जोड़ा गया था। इस बार भी प्रदेश के अलग अलग विभाग मिशन शक्ति के तहत विशेष कार्यक्रमों को आयोजित कराएंगे।

महिला कल्याण विभाग की ओर से अभियान के तहत महिलाओं और बच्चों के प्रति हिंसा से जुड़े विभिन्न कानूनों व प्रावधानों के बारे में लोगों को जागरूक करने का कार्य सभी जिलों में किया जायेगा। जिसमें महिलाओं और बच्चों के साथ होने वाले उत्पीड़न, घरेलू हिंसा, नशे में मारपीट, तस्करी, बाल विवाह,भेदभाव, बालश्रम अन्य शोषणों के विरूद्ध विशेष कार्यक्रमों आयोजित होंगे।

इसके तहत प्रदेश सरकार ने बाल श्रम और बाल विवाह के विरुद्ध एक विशेष अभियान शुरू किया है। प्रदेश में मिशन शक्ति अभियान के तहत एक मई से बाल श्रम और बाल विवाह के खिलाफ 'ऑपरेशन मुक्ति' की शुरुआत रविवार से हुई। महिला कल्याण बाल विकास विभाग की ओर से प्रदेश भर में सात दिनों तक यह विशेष अभियान चलाया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि अंतरराष्ट्रीय बाल श्रम दिवस और अक्षय तृतीया के अवसर पर बाल श्रम और बाल विवाह के खिलाफ 07 मई तक विशेष कार्यक्रमों का आयोजन होगा। जिसके तहत पूरे सप्ताह जागरूकता कार्यक्रम और रेस्क्यू ऑपरेशन जैसे कार्यक्रमों का आयोजन होगा।

राय ने बताया कि इस वृहद अभियान में पुलिस, ट्रैफिक पुलिस, विशेष पुलिस इकाई, बाल कल्याण पुलिस अधिकारी, जीआरपी, श्रम विभाग, विधिक सेवा, बाल कल्याण समिति व जिला प्रशासन समेत प्रदेश के स्वयंसेवी संगठन मिलकर काम कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि रेस्क्यू ऑपरेशन के पहले सभी संबंधित विभागों को जानकारी दे दी जाएगी। रेस्क्यू ऑपरेशन में निकाले गए बच्चों की जानकारी पूरे तौर पर गोपनीय रखते हुए उनके घर वापसी मेडिकल, खाना पीना, आश्रय व दूसरे अन्य जरूरतमंद सुविधाओं का पूरा ध्यान रखा जाएगा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.