शर्मनाक: श्रमिक स्पेशल ट्रेन शौचालय में सड़ रहा शव-किसी को नहीं भनक
शर्मनाक: श्रमिक स्पेशल ट्रेन शौचालय में सड़ रहा शवPriyanka Sahu -RE

शर्मनाक: श्रमिक स्पेशल ट्रेन शौचालय में सड़ रहा शव-किसी को नहीं भनक

श्रमिक स्पेशल ट्रेन में एक शव मिला, जो 3-4 दिन से सड़ रहा था और इस बारे में किसी को पता नहीं, जब ट्रेन की सफ़ाई व सेनेटाइज किया जा रहा था, तभी सफ़ाईकर्मियों को शौचालय में एक लाश पड़ी हुई मिली।

राज एक्‍सप्रेस। कोरोना महामारी के चलते सरकार द्वारा हाल ही में प्रवासी मजदूरों के लिए श्रमिक स्पेशल ट्रेन की सुविधा मुहैया कराई थी, इसी को लेकर अब एक शर्मनाक खबर सामने आई है कि, श्रमिक ट्रेन में एक शव मिला है, जो 3-4 दिनों से सड़ रहा था और हैरानी की बात तो ये है कि, इस बारे में किसी को भनक तक नहीं लगी।

कैसे हुआ खुलासा :

इस मामले का खुलासा जब हुआ तब झांसी रेलवे यार्ड में जब ट्रेन को सेनेटाइज करने के लिए सफ़ाई की जा रही थी, तभी सफ़ाईकर्मियों की नजरे ट्रेन के शौचालय की ओर पड़ी तो यहां, एक सड़ी हुई लाश पड़ी हुई थी। इसके बाद जब इसकी जांच पड़ताल हुई तो पता चला ये लाश मोहनलाल शर्मा की थी।

कौन है मोहनलाल शर्मा :

बताया गया है कि, श्रमिक स्पेशल ट्रेन से जो शव मिला है, वो उत्तर प्रदेश में बस्ती के रहने वाले व्‍यक्ति मोहनलाल शर्मा का है। वे 23 मई को झांसी से गोरखपुर जाने वाली श्रमिक ट्रेन में बैठे थे और ये ट्रेन गोरखपुर जाकर 4 दिन बाद झांसी लौट आई, लेकिन मोहनलाल अपने घर नहीं पहुँचे।

कैसे हुई मौत :

झांसी में राजकीय रेलवे पुलिस के डीएसपी नईम ख़ान मंसूरी के मुताबिक, "पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में किसी तरह की बाहरी चोट नहीं लगी है। विसरा जाँच के लिए भेजा गया है, उसकी रिपोर्ट आने के बाद ही पता चल सकेगा कि मौत किस वजह से हुई है।"

रेलवे अधिकारी का कहना :

इस मामले पर उत्तर मध्य रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी अजीत कुमार सिंह का ये कहना है कि, मोहनलाल के पास 23 तारीख़ का गोरखपुर का टिकट था, लेकिन यह नहीं मालूम कि वो इसी ट्रेन से गए थे या फिर किसी और ट्रेन से। हमने ज़िला प्रशासन और पुलिस को इसकी सूचना दे दी और उन्हें बॉडी हैंडओवर कर दी। उसके बाद पोस्टमॉर्टम कराने से लेकर सारा काम उनका थ, यहाँ तक कैसे आए, इसी ट्रेन से गए थे या दूसरी ट्रेन से, इन सब बातों की पुष्टि नहीं हो पाई है। ट्रेन के जिस शौचालय में उनका मृत शरीर पड़ा मिला, वो अंदर से बंद था।

वहीं, इस बारे में डीएसपी नईम ख़ान मंसूरी के मुताबिक, ''पोस्टमॉर्टम से पता चलता है कि, उनकी मौत क़रीब चार दिन पहले यानी 24 मई को हो गई थी। साथ ही मोहनलाल के पास से उनका आधार कार्ड, कुछ अन्य सामान और 27 हज़ार रुपये भी मिले थे।''

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co