P. Chidambaram questioned the government on corona virus outbreak
P. Chidambaram questioned the government on corona virus outbreak|Kavita Singh Rathore -RE
भारत

WHO के बयान आने के बाद पी. चिदंबरम ने किया सरकार से सवाल

भारत से अब तक कोरोना वायरस के लगभग 180 मामले सामने आ चुके हैं ऐसे में सरकार इससे बचाव के लिए सरकार उचित कदम उठा रही है। वहीं, इन सब के बीच कांग्रेस नेता पि. चिदंबरम ने सरकार से सवाल किया है।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

राज एक्सप्रेस। दुनियाभर में फिसलते हुए कोरोना वायरस ने अब भारत में भी अपने पैर पसारना शुरू कर दिया है जहां भारत में अभी तक कोरोना वायरस के मामले लगातार सामने आने शुरू हो गए हैं। जी हां, भारत से अभी तक लगभग 180 मामले सामने आये है जिनमें से 3 लोगों के मौत होने की भी खबर सामने आई है। वहीं, इससे बचाव के लिए सरकार उचित कदम उठा रही है, लेकिन इस सब के बीच कांग्रेस नेता और पूर्व वित्तमंत्री पि. चिदंबरम ने सरकार पर सवाल खड़ा किया है।

पि. चिदंबरम का सवाल :

कोरोना के बढ़ते प्रकोप से देश में लॉक डाउन (Lockdown) जैसे हालात बनते नजर आ रहे हैं। इन हालातों में पी. चिदंबरम ने अपने ट्वीटर अकाउंट द्वारा सवाल किया है कि,

'आखिर सरकार लॉक डाउन के बारे में क्यों नहीं काम करती?'

WHO के महानिदेशक के कल के बयान के बाद, हमारे सभी कस्बों और शहरों में 2-4 सप्ताह के तत्काल लॉकडाउन का आदेश देने में कोई हिचक नहीं होनी चाहिए। कुछ राज्य जो केंद्र सरकार से आगे हैं, उन्हें आगे बढ़ना चाहिए और अपने शहरों और शहरों में लॉकडॉउन (तालाबंदी) करनी चाहिए।

इतना ही नहीं इसके अलावा भी चिदंबरम ने गुरुवार को ट्वीट कर पूछा, 'यह देखने के बाद भी कि इटली, ईरान और स्पेन में क्या हो रहा है, सरकार तालाबंदी का तार्किक कदम उठाने से इनकार क्यों कर रही है?'

'कुछ राज्य जो केंद्र सरकार से आगे हैं, उन्हें आगे बढ़ना चाहिए और अपने शहरों और शहरों में लॉकडॉउन (तालाबंदी) करनी चाहिए।'

चूंकि ICMR के यादृच्छिक नमूना परीक्षण से पता चला है कि अब तक कोई सामुदायिक प्रसारण (स्टेज 3) नहीं है, इसलिए यह अस्थायी लॉकडाउन की घोषणा करने और स्टेज 2 पर बीमारी को रोकने का क्षण है।

चिदंबरम का कहना :

चिदंबरम ने बातचीत के दौरान एक इंटरव्यू में ये भी कहा कि, यदि भारत को कोरोना वायरस से बचाना और सुरक्षित रखना है तो सरकार को कुछ दिनों के लिए कई शहरों को पूरी तरह बंद करना ही होगा, जिससे इस वायारस को फैलने से रोका जा सकेगा। सरकार को आर्थिक नुकसान से निपटने के साथ ही गरीबों की मदद को लेकर भी कुछ फैसले लेने चाहिए। भारत के PM ने सार्क देशों के प्रमुखों से बात तो कर ली है, लेकिन उन्हें मुख्यमंत्री से लगातार संपर्क करते रहना होगा जिससे राज्य व केंद्र की सरकारें मिलकर इस महामारी जैसी चुनौती से निपट सकें।

सरकार द्वारा उठाये कदम :

कोरोना वायरस के चलते ही सरकार ने उपाय के तौर पर मार्च में होने वाली दसवीं और बारहवीं की बोर्ड परीक्षा और अन्य प्रतियोगी परीक्षाएं रद्द कर दी हैं। इसी के साथ सरकार ने स्कूल-कॉलेज, सिनेमा हॉल, जिम, मॉल, पब, रेस्टोरेंट्स-लान्ज आदी को भी 31 मार्च तक के लिए बंद कर दिया है। कंपनियों से अपील की है कि, वो अपने कर्मचारियों को घर से कार्य करने की सुविधा उपलब्ध कराये।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co