कोरोना संकट में पाक
कोरोना संकट में पाक|Social Media
भारत

कोरोना संकट में पाक की नीच हरकत, हिंदू-ईसाइयों को नहीं दे रहा राशन

कोरोना महामारी के खतरे से लोगों को बचाने के लिए गरीबों की सहायता हेतु राशन दिया जा रहा है, वहीं पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा, इस बार पाक ने हिंदू-ईसाई समुदायों से भेदभाव किया है।

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

राज एक्सप्रेस। कोरोना जैसी महामारी के संकट से हर देश के लोग अपने नागरिकों को बचाए जाने हेतु कई कदम उठाते हुए उनकी सहायता कर रहे हैं, तो वहीं दूसरी ओर पाकिस्तान अपनी घटिया हरकत से बाज नहीं आ रहा।

हिंदू- ईसाइयों से कर रहा भेदभाव :

आखिर पाकिस्तान कब अपनी हरकतों से बाज आएगा और कब अपनी नीच हरकतें छोड़ेगा, क्योंकि कोरोना महामारी जैसे संकट के बावजूद भी अब कुछ ऐसी खबरें सामने आ रही हैं कि, पाकिस्तान में रहने वाले हिंदू- ईसाईयों के साथ भेदभाव किया जा रहा है।

प्रशासन पर भेदभाव का लगाया आरोप :

दरअसल, कोरोना संकट के बीच सिंध प्रांत में लॉकडाउन के कारण हिंदू और ईसाई धर्म के लोगों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है, क्योंकि हर बार बड़ी-बड़ी बातें करने वाली पाकिस्तान की सरकार पर अब पाकिस्तान में मौजूद अल्पसंख्यकों के साथ ही घटिया हरकत कर रही है, जिसके चलते वहां के लोगों ने प्रशासन पर भेदभाव करने का आरोप लगाया है।

अल्पसंख्यक समुदाय को नहीं दिया जा रहा राशन :

यह जानकारी तब सामने आई जब हिंदू और ईसाई समुदायों के लोगों ने बताया कि, सिंध प्रांत में रहने वाले अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों को राशन नहीं दे रहे हैं। वहीं एक हिंदू स्थानीय द्वारा यह बात कही गई है- ''लॉकडाउन के दौरान अधिकारी हमारी मदद नहीं कर रहे हैं, हमें राशन भी नहीं दिया जा रहा है, क्योंकि हम अल्पसंख्यक समुदाय का हिस्सा हैं।''

वीडियो भी आया सामने :

इसका वीडियो भी सामने आया है जिसमें एक व्यक्ति यह कहता नजर आ रहा है कि, ‘हम भी इसी मुल्क के रहने वाले हैं, हमारा भी ख्याल रखना चाहिए। दूसरे लोगों को सहायता मिल रही है, लेकिन हमें नहीं मिल रही है। कोरोना संकट हर किसी के लिए है, इसमें कोई हिंदू-मुस्लिम नहीं हो रहा है।’

बता दें कि, दुनिया के कई देशों के अलावा पाकिस्तान भी एक ऐसा देश है, जो कोरोना महामारी के खतरे से जूझ रहा है। पाकिस्तान में भी लगातार कोरोना वायरस मरीजों की संख्याओं की तादाद बढ़ती ही जा रही है और अब तक 2039 हो गई है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co