दिल्ली में ई-पास पाने हेतु हजारों आवेदनों का लगा ताता, कई आवेदन हुए रिजेक्ट
दिल्ली में ई-पास पाने हेतु हजारों आवेदनों का लगा ताताSyed Dabeer Hussain - RE

दिल्ली में ई-पास पाने हेतु हजारों आवेदनों का लगा ताता, कई आवेदन हुए रिजेक्ट

दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने पूरे राज्य में नाइट कर्फ्यू लागू कर दिया है, इस दौरान जरूरी काम के लिए लोग ई-पास लेकर अपने काम के लिए निकल सकते है। इसी ई-पास पाने लिए हजारों आवेदनों का ताता लग गया है।

दिल्ली। देश में कोरोना की रफ्तार काफी तेजी से बढ़ रही है, इसी से रोकथाम के लिए कई राज्यों की सरकारों ने नाइट कर्फ्यू का रास्ता चुना है, इन्हीं राज्यों में देश की राजधानी दिल्ली भी शामिल है। दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने पूरे राज्य में नाइट कर्फ्यू लागू कर दिया है, जिससे रात के समय किसी भी कार्य के लिए अवनजावन नहीं किया जा सकेगा, लेकिन अतिआवश्यक कार्य के लिए लोग पास बनवा कर अपने काम के लिए निकल सकते है।

आवेदनों का लग गया ताता :

दरअसल, दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने स्पष्ट किया है कि, दिल्ली में नाइट कर्फ्यू लागू करते हुए ऐलान किया था कि, नाइट कर्फ्यू के दौरान किसी भी जरूरी काम पर कोई रोक नहीं लगाई गई है, लेकिन कार्य से जुड़े व्यक्ति को अपने कार्य करने के लिए ई-पास दिखाना होगा। तब ही वह अपना काम कर सकेगा। यदि कोई व्यक्ति ई-पास के साथ कार्य करने निकलेगा तो उसक खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जाएगी। इस ऐलान के बाद से दिल्ली में ई-पास बनवाने के लिए आवेदनों का ताता लग गया है।

आवेदनों करने वालों का आंकड़ा :

आंकड़ो पर नजर डालें तो, अब तक लगभग 73 हजार से ज्यादा लोग ई-पास के लिए आवेदन कर चुके है। हालांकि, इन सभी को अब तक ई-पास मिला नहीं है, इनमें से अब तक मात्र 1,271 लोगों को ही ई-पास प्राप्त हुआ है। बाकी लोगों को अभी तक ई-पास नहीं मिल सका हैं। जबकि, 34,759 लोगों के आवेदन अब तक रद्द भी किए जा चुके हैं और लगभग 30,947 लोग अभी भी ई-पास के इंतजार में बैठे हुए हैं। बता दें, दिल्ली में रात 10 बजे से सुबह 5 बजे के बीच नाइट कर्फ्यू लगाया गया है।

केजरीवाल सरकार का कहना :

दिल्ली की केजरीवाल सरकार का कहना है कि, 'कोरोना की बढ़ती रफ्तार को थामने के लिए जरूरी उपाय किए जा रहे हैं। नाइट कर्फ्यू भी उसी का हिस्सा है और इससे संक्रमण को रोकने में काफी हद तक सहायता मिलेगी। अत्यावश्यक सेवाएं कर्फ्यू से प्रभावित नहीं होंगी। जिन लोगों को किसी जरूरी काम से रात 10 बजे से सुबह 5 बजे के बीच घर से बाहर जाना है, उन्हें पुलिस को ई-पास दिखाना जरूरी होगा।

अधिकारियों का कहना :

अधिकारियों ने दलील पेश करते हुए कहा है कि, 'ज्यादातर आवेदन इसलिए खारिज किए गए क्योंकि वे दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के आदेश के अनुसार छूट वाली श्रेणियों में नहीं आते थे। ई-पास के लिए सबसे ज्यादा आवेदन नई दिल्ली से प्राप्त हुए, यहां से 13,139 लोगों ने पास की इच्छा प्रकट की। इसके बाद दक्षिण पश्चिम से 11,661, दक्षिण से 9,947, पश्चिम से 7,673, उत्तर पश्चिम से 6,560, और पूर्वी दिल्ली से 6,065 लोगों ने ई-पास के लिए आवेदन किया।'

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co