श्रीराम चंद्र मिशन के 75 वर्ष पूर्ण, योग-ध्यान के बारे में PM ने बताई ये बात
श्रीराम चंद्र मिशन के 75 वर्ष पूर्ण, योग-ध्यान के बारे में PM ने बताई ये बातTwitter

श्रीराम चंद्र मिशन के 75 वर्ष पूर्ण, योग-ध्यान के बारे में PM ने बताई ये बात

श्रीराम चंद्र मिशन की स्थापना के 75 साल पूरे हो गए है। इस दौरान आयोजित कार्यक्रम को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संबोधित कर कहा-मैं आपके नए मुख्यालय कान्हा शांति वनम के लिए भी बहुत बधाई देता हूं।

दिल्‍ली, भारत। आज 16 फरवरी को बसंत पंचमी के पावन पर्व के अलावा गुरु राम चंद्र जी की जन्म जयंती भी है। श्रीराम चंद्र मिशन की स्थापना के 75 साल पूरे हो गए हैं। इस दौरान आयोजित कार्यक्रम को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संबोधित किया।

गुरु राम चंद्र जी की जयंती का उत्सव मना रहे :

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में कहा, ''बसंत पंचमी के इस पावन पर्व पर आज हम गुरु राम चंद्र जी की जन्म जयंती का उत्सव मना रहे हैं। मैं आपके नए मुख्यालय कान्हा शांति वनम के लिए भी बहुत बधाई देता हूं। श्रीराम चंद्र मिशन के 75 वर्ष पूर्ण होने पर आप सभी को बहुत-बहुत बधाई और शुभकामनाएं। राष्ट्र निर्माण में समाज को मजबूती से आगे बढ़ाने में 75 वर्ष का ये पड़ाव बहुत अहम है। लक्ष्य के प्रति आपके समर्पण का ही परिणाम है कि, आज ये यात्रा 150 से ज्यादा देशों में फैल चुकी है।''

कोरोना से भारत की लड़ाई दुनिया भर को कर रही प्रेरित :

PM मोदी ने कहा- आप सभी ने बाबूजी से मिली प्रेरणा को करीब से महसूस किया है। जीवन की सार्थकता प्राप्त करने के लिए उनके प्रयोग, मन की शांति प्राप्त करने के लिए उनके प्रयास हम सभी के लिए बहुत बड़ी प्रेरणा हैं। कोरोना महामारी की शुरुआत में भारत की स्थिति को लेकर पूरी दुनिया चिंतित थी, लेकिन आज कोरोना से भारत की लड़ाई दुनिया भर को प्रेरित कर रही है।

विश्व में बढ़ रही योग और ध्यान को लेकर गंभीरता :

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आगे ये भी कहा, ''पोस्ट कोरोना विश्व में अब योग और ध्यान को लेकर अब गंभीरता और बढ़ रही है। श्रीमद्भगवद्गीता में लिखा है- सिद्ध्यसिद्ध्योः समो भूत्वा समत्वं योग उच्यते। यानी, सिद्धि और असिद्धि में समभाव होकर योग में रमते हुए सिर्फ कर्म करो, ये समभाव ही योग कहलाता है। योग के साथ ध्यान की भी आज के विश्व को बहुत अधिक आवश्यकता है। ''

दुनिया के कई बड़े संस्था ये दावा कर चुकी है कि, अवसाद मानव जीवन की कितनी बड़ी चुनौती बनता जा रहा है। ऐसे में मुझे विश्वास है कि, आप अपने कार्यक्रम से योग और ध्यान के जरिए इस समस्या से निपटने में मानवता की मदद करेंगे।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

साथ ही आगे उन्‍होंने कहा- 130 करोड़ भारतीयों की सतर्कता कोरोना की लड़ाई में दुनिया के लिए मिशाल बन गई। इस लड़ाई में योग, आयुर्वेद ने भी बहुत बड़ी भूमिका निभाई है। महामारी की शुरुआत में भारत की स्थिति को लेकर पूरी दुनिया चिंतित थी, लेकिन आज कोरोना से भारत की लड़ाई दुनिया भर को प्रेरित कर रही है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

AD
No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co