अटल की याद में संसद में कार्यक्रम- PM मोदी ने किया पुस्तक का विमोचन
अटल की याद में संसद में कार्यक्रम- PM मोदी ने किया पुस्तक का विमोचनSocial Media

अटल की याद में संसद में कार्यक्रम- PM मोदी ने किया पुस्तक का विमोचन

संसद भवन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत के पूर्व प्रधानमंत्री, भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी द्वारा संसद में दिए गए उद्बोधनों पर आधारित पुस्तक का विमोचन किया।

दिल्‍ली, भारत। आज अर्थात 25 दिसंबर को 'क्रिसमस डे' के अलावा लोकप्रिय राजनेताओं में से एक पूर्व प्रधानमंत्री और भारत रत्न 'अटल बिहारी वाजपेयी' का जन्‍मदिन भी है। अटल बिहारी वाजपेयी की 96वीं जयंती के इस खास मौके पर उनकी याद में उनके समाधि स्थल 'सदैव अटल' पर श्रद्धांजलि कार्यक्रम के बाद संसद में भी कार्यक्रम हुआ, इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पुस्तक का विमोचन किया।

अटल जी के भाषणों पर छपी पुस्तक का विमोचन :

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संसद के सेंट्रल हाॅल में मदन मोहन मालवीय और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को उनकी जयंती पर श्रद्धांजलि देने के बाद यहां पर अटल बिहारी वाजपेयी के द्वारा संसद में दिए गए भाषणों पर छपी 'अटल बिहारी वाजपेयी इन पार्लियामेंट - ए कोमैमोरेटिव वाल्यूम' (Atal Bihari Vajpayee in Parliament : A Commemorative Volume) नाम की पुस्तक का विमोचन किया।

इस पुस्तक में क्‍या है ?

अटल बिहारी वाजपेयी इन पार्लियामेंट - ए कोमैमोरेटिव वाल्यूम नाम की इस पुस्तक का प्रकाशन लोकसभा सचिवालय ने किया है। इसमें वाजपेयी जी के जीवन और कार्यों के बारे में जानकारी के साथ-साथ संसद में दिए गए उनके कुछ प्रसिद्ध भाषण भी शामिल हैं। पुस्तक में अटल बिहारी वाजपेयी के सार्वजनिक जीवन से संबंधित कुछ दुर्लभ फोटो भी दिए गए हैं।

अटल जी के भाषण से लोग थे दीवाने :

अटल बिहारी वाजपेयी की हिन्दी पर एक जबरदस्त पकड़ थी, जिससे उनके भाषण से लोग दीवाने हो जाते थे, जब भी वह स्‍पीच देते थे तो मौके के अनुसार ही शब्‍दों का उपयोग किया करते थे। दशकों तक अपने भारतीय राजनीतिक पटल को अपने ओजस्‍वी व्यक्तित्व से चमकते सितारे की तरह देश के हर दौर को रोशन किया है एवं उनकी छवी आजाद हिन्‍दुस्‍तान के एक चमकतेे सितारेे के रूप में बनकर उभरी थी।

अटल बिहारी वाजपेयी जी एक अच्छे इंसान थे और लोगों के दिलों में अपनी खास जगह बनायी थी और अटल बिहारी वाजपेयी जी को भारत माँ के सच्चे सपूत, राष्ट्र पुरुष, राष्ट्र मार्गदर्शक, सच्चे देशभक्त ना जाने कितनी उपाधियों से पुकारा जाता है। अगर आप अटलजी के इस वर्षगांठ के मौके पर एक बार फिर उन्‍हें याद करते हुए उनके जीवन से जुड़े कुछ खास किस्‍सों से रूबरू होना चाहते हैं तो आप इस लिंक पर क्लिक कर अटल जी के जीवन के अकथनीय व्यक्तित्व की कहानी देख सकते हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co