राज्यसभा में कांग्रेस नेता के एक फोन कॉल को याद कर PM मोदी के छलके आंसू
राज्यसभा में कांग्रेस नेता के एक फोन कॉल को याद कर PM मोदी के छलके आंसूTwitter

राज्यसभा में कांग्रेस नेता के एक फोन कॉल को याद कर PM मोदी के छलके आंसू

राज्यसभा में आज 4 सांसदों के विदाई भाषण में कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद का कार्यकाल खत्म होने पर उनसे जुड़ा एक पुराना वाक्या याद कर प्रधानमंत्री भावुक हुुए और ये बात कही...

दिल्‍ली, भारत। जम्मू-कश्मीर के 4 राज्यसभा सांसदों 'गुलाम नबी आजाद, शमशेर सिंह, मीर मोहम्मद फैयाज और नादिर अहमद' का आज 9 फरवरी को कार्यकाल खत्म हो रहा है। इस दौरान राज्यसभा में चार सांसदों के विदाई भाषण में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आंसू छलके वेे भावुक नजर आए।

इस पद को संभालेंने वाले को बहुत दिक्कत पड़ेगी :

इस दौरान राज्‍यसभा में PM मोदी ने कहा- मुझे चिंता इस बात की है कि गुलाम नबी जी के बाद जो भी इस पद को संभालेंगे, उनको गुलाम नबी जी से मैच करने में बहुत दिक्कत पड़ेगी, क्योंकि गुलाम नबी जी अपने दल की चिंता करते थे, लेकिन देश और सदन की भी उतनी ही चिंता करते थे।

PM ने इन 4 सांसदों के योगदान का किया धन्यवाद :

राज्‍यसभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, ''श्रीमान गुलाम नबी आजाद जी, श्रीमान शमशेर सिंह जी, मीर मोहम्मद फैयाज जी, नादिर अहमद जी मैं आप चारों महानुभावों को इस सदन की शोभा बढ़ाने के लिए, आपके अनुभव, आपके ज्ञान का सदन को और देश को लाभ देने के लिए और अपने क्षेत्र की समस्याओं का समाधान के लिए आपके योगदान का धन्यवाद करता हूं।''

इस वाक्ये को PM मोदी ने किया याद :

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात के यात्रियों पर जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों ने हमला कर दिया था, उस वाक्ये को याद करते हुए बोले- गुलाम नबी जी उस रात को एयरपोर्ट पर थे, उन्होंने मुझे फोन किया और जैसे अपने परिवार के सदस्य की चिंता करें, वैसी चिंता वो कर रहे थे। उस समय प्रणब मुखर्जी जी रक्षा मंत्री थे। मैंने उनसे कहा कि, अगर मृतक शरीरों को लाने के लिए सेना का हवाई जहाज मिल जाए तो उन्होंने कहा कि, चिंता मत करिए मैं करता हूं व्यवस्था। गुलाम नबी जी जब मुख्यमंत्री थे, तो मैं भी एक राज्य का मुख्यमंत्री था। हमारी बहुत गहरी निकटता रही। एक बार गुजरात के कुछ यात्रियों पर आतंकवादियों ने हमला कर दिया, 8 लोग उसमें मारे गए। सबसे पहले गुलाम नबी जी का मुझे फोन आया, उनके आंसू रुक नहीं रहे थे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

AD
No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co