8वीं वंदे भारत एक्सप्रेस को दिखाई हरी झंडी
8वीं वंदे भारत एक्सप्रेस को दिखाई हरी झंडीSocial Media

PM मोदी ने देश को दी बड़ी सौगात- 8वीं वंदे भारत एक्सप्रेस को दिखाई हरी झंडी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज सिकंदराबाद और विशाखापत्तनम को जोड़ने वाली वंदे भारत एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाई और अपने संबोधन में कहीं ये बातें...

दिल्‍ली, भारत। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए देश को 8वीं वंदे भारत एक्सप्रेस की सौगात दी है। उन्‍होंने सिकंदराबाद और विशाखापत्तनम को जोड़ने वाली वंदे भारत एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाई।

लोगों को वंदे भारत ट्रेन की बहुत-बहुत बधाई :

इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में कहा- उत्सवों के इस माहौल में आज तेलंगाना और आंध्र प्रदेश को एक भव्य उपहार मिल रहा है। 'वंदे भारत एक्सप्रेस' एक प्रकार से तेलंगाना और आंध्र प्रदेश की साझी विरासत को जोड़ने वाली है। मैं दोनों प्रदेशों के लोगों को वंदे भारत ट्रेन की बहुत-बहुत बधाई देता हूं। आज सेना दिवस भी है, हर भारतीय को अपनी सेना पर गर्व है। देश की रक्षा में भारतीय सेना का योगदान, भारतीय सेना का शौर्य अतुलनीय है। मैं सभी सैनिकों, पूर्व सैनिकों और उनके परिवारों को बहुत-बहुत बधाई देता हूं।

वंदे भारत ट्रेन नए भारत के नए संकल्पों और सामर्थ्य का प्रतीक है। ये उस भारत का प्रतीक है, जो तेज बदलाव के रास्ते पर है। ऐसा भारत, जो अपने सपनों और अपनी आकांक्षाओं को लेकर अधीर है। ऐसा भारत, जो तेजी से चलकर अपने लक्ष्य तक पहुंचना चाहता है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

  • वंदे भारत एक्सप्रेस भारत के लिए ताकत का प्रतीक है, जिसका लक्ष्य सब कुछ महान है, ऊंची उड़ान भरना चाहता है, हर चीज में सर्वश्रेष्ठ की आकांक्षा रखता है, और सर्वोच्च सुविधाओं के साथ लोगों की सेवा करना चाहता है।

  • 'वंदे भारत ट्रेन' भारत में ही डिजाइन हुई और भारत में ही बनी है। ये देश की ट्रेन है। बीते कुछ ही वर्षों में 7 'वंदे भारत ट्रेनों' ने कुल मिलाकर 23 लाख किलोमीटर का सफर तय किया है। इन ट्रेनों से अब तक 40 लाख ये अधिक यात्री यात्रा कर चुके हैं।

  • आज पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए विस्टा डोम कोच, किसानों की मदद के लिए किसान रेल, लॉजिस्टिक्स को मजबूत करने के लिए फ्रेट कॉरिडोर, लोगों के जीवन को आसान बनाने के लिए 2 दर्जन से अधिक शहरों में मेट्रो ट्रेनें हैं।

  • वंदे भारत एक्सप्रेस उस भारत का प्रतीक है, जो अपने नागरिकों बेहतर सुविधाएं देना चाहता है। वंदे भारत एक्सप्रेस उस भारत का प्रतीक है, जो गुलामी की मानसिकता से बाहर निकलकर 'आत्मनिर्भरता' की तरफ बढ़ रहा है।

  • देश में रीजनल रैपिड ट्रांजिट सिस्टम विकसित करने पर बहुत तेजी से काम हो रहा है। तेलंगाना में, अल्प रुपये से। 250 करोड़, रेलवे का बजट बढ़कर लगभग रु। 3,000 करोड़।

  • आंध्र प्रदेश में पिछले 8 वर्षों में 350 किलोमीटर लंबी नई रेलवे लाइन और लगभग 800 किलोमीटर मल्टी-ट्रैकिंग का काम पूरा किया गया है।

  • पहले की सरकार के समय आंध्र प्रदेश में सालाना 60 किमी. रेलवे ट्रैक का इलेक्ट्रिफिकेशन होता था। आज ये रफ्तार बढ़कर सालाना 220 किमी. से ज्यादा हो गई है। केंद्र सरकार के ये प्रयास ईज ऑफ डूइंग बिजनेस में भी वृद्धि कर रहे हैं।

  • 'गति' और 'प्रगति' का यह सिलसिला यूं ही चलेगा! इसी विश्वास के साथ, मैं इस नई वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन के लिए आंध्र प्रदेश और तेलंगाना राज्यों को अपनी शुभकामनाएं देता हूं और बधाई देता हूं।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस यूट्यूब चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। यूट्यूब पर @RajExpressHindi के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co