देव दीपावली: लाखों दीयों की रोशनी से जगमग काशी-राजघाट से PM मोदी का संदेश
देव दीपावली: लाखों दीयों की रोशनी से जगमग काशी-राजघाट से PM मोदी का संदेशPriyanka Sahu -RE

देव दीपावली: लाखों दीयों की रोशनी से जगमग काशी-राजघाट से PM मोदी का संदेश

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राजघाट पहुंचकर दीप प्रज्ज्वलित कर देव दीपावली महोत्सव का शुभारंभ किया। इसके बाद राजघाट पर PM मोदी ने इस अंदाज में अपने संबोधन शुरू किया...

वाराणसी। देव दीपावली महोत्सव का शुभारंभ करने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राजघाट पहुंचे और दीप प्रज्ज्वलित कर देव दीपावली महोत्सव का शुभारंभ किया। इस दौरान 15 लाख दीयों की रोशनी से काशी का नजारा बेहद ही खूबसूरत नजर आया और काशी आस्था के रंग में रंगी नजर आई, साथ ही देव दीपावली का भव्य उत्सव रहा।

देव दीपावली महोत्सव पर सांस्कृतिक कार्यक्रम :

इस दौरान वाराणसी में देव दीपावली महोत्सव पर सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित हुए। इसके बाद अयोध्या में भगवान श्री राम के भव्य मंदिर के निर्माण का शुभारंभ करने के बाद उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा- प्रधानमंत्री मोदी जी का काशी की इस धरती पर पहली बार आगमन हुआ है, इस अवसर पर मैं उनका स्वागत करता हूं, अभिनंदन करता हूं।

गंगा आज केवल स्नान करने नहीं बल्कि आचमन के लायक हो गई है। प्रधानमंत्री के नमामि योजना के कारण यह संभव हुआ है। गंगा और विश्वनाथ धाम को जोड़ने का काम प्रधानमंत्री के कारण ही हो रहा है। हजारों करोड़ की योजनाओं का काम पूरा हो चुका है। कई योजनाएं अब भी चल रही हैं। यूपी के विकास के लिए पीएम मोदी का उनके ही काशी में एक बार फिर से स्वागत है।

योगी आदित्यनाथ, उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री

राजघाट पर PM मोदी का संबोधन :

इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राजघाट पर काशी के कोतवाल की जय, माता अन्नपूर्णा की जय, मां गंगा की जय, जो बोले सो निहाल, नमो बुद्धाय से अपने संबोधन की शुरुआत करते हुए सभी को देव दीपावली, कार्तिक पूर्णिमा और गुरु नानक देव के प्रकाश पर्व की बधाई दी। साथ ही काशी के संतों और महापुरुषों को भोजपुरी में याद कर नमन किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा- कोरोना काल ने भले ही बहुत कुछ बदल दिया है, लेकिन काशी की ये ऊर्जा, काशी की ये भक्ति, ये शक्ति उसको थोड़ी कोई बदल सकता है।

मां गंगा के सानिध्य में काशी प्रकाश का उत्सव मना रही

PM मोदी ने अपने संबोधन में कहा, "आज मां गंगा के सानिध्य में काशी प्रकाश का उत्सव मना रही है। मुझे भी महादेव के आशीर्वाद से इस प्रकाश गंगा में डुबकी लगाने का सौभाग्य मिल रहा है। काशी के लिए एक और भी विशेष अवसर है। कल मन की बात में भी मैंने इसका जिक्र किया था। सौ साल से भी पहले माता अन्नपूर्णा की जो मूर्ति काशी से चोरी हो गई थी, वो फिर वापस आ रही है। माता अन्नपूर्णा एक बार फिर अपने घर लौटकर वापस आ रही हैं।"

हमारे देवी देवताओं की ये प्राचीन मूर्तियाँ, हमारी आस्था के प्रतीक के साथ ही हमारी अमूल्य विरासत भी हैं। ये बात सही है कि इतना प्रयास अगर पहले किया गया होता, तो ऐसी कितनी ही मूर्तियां, देश को काफी पहले वापस मिल जातीं। लेकिन कुछ लोगों की सोच अलग रही है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

काशी दुनिया को रास्ता दिखाती है :

PM मोदी ने कहा- हमारे लिए विरासत का मतलब है देश की धरोहर, जबकि कुछ लोगों के लिए विरासत का मतलब होता है, अपना परिवार और अपने परिवार का नाम। हमारे लिए विरासत का मतलब है हमारी संस्कृति, हमारी आस्था। उनके लिए विरासत का मतलब है अपनी प्रतिमाएं, अपने परिवार की तस्वीरें। ऐसा लग रहा है जैसे आज पूर्णिमा पर देव दीपावली मनाती काशी, महादेव के माथे पर विराजमान चन्द्रमा की तरह चमक रही है। काशी की महिमा ही ऐसी है। काशी सबको, पूरे विश्व को प्रकाश देने वाली है। पथ प्रदर्शन करने वाली है। हर युग में काशी के इस प्रकाश से किसी ने किसी महापुरुष की तपस्या जुड़ जाती है और काशी दुनिया को रास्ता दिखाती है।

आज ये दीपक उन आराध्यों के लिए भी जल रहे हैं, जिन्होंने देश के लिए अपने प्राण न्योछावर किये। काशी की ये भावना, देव दीपावली की परंपरा का ये पक्ष भावुक कर जाता है। इस अवसर पर मैं देश की रक्षा में अपनी शहादत देने वाले, हमारे सपूतों को नमन करता हूं।

PM का चीन पर हमला :

PM मोदी नेे कहा- देश के दुश्मनों को मुंहतोड़ जवाब दिया जा रहा है। गरीबों और जरूरतमंदों को मदद दी जा रही है। आत्मनिर्भर अभियान से देश लोकल के लिए वोकल हो रहा है। इस बार की दीपावली जैसे मनाई गई। देश के लोगों ने लोकल प्रोडक्ट और लोकल गिफ्ट के साथ त्योहार मनाए वो प्रेरणादायी है। हमारे त्योहार एक बार फिर से गरीब की मदद की प्रेरणा बन रहे हैं। गुरुनानक देव ने अपना जीवन गरीबों की सेवा में व्यतीत किया था। काशी में वह लंबे समय तक रहे। काशी का गुरुबाग गुरुद्वार इसका साक्षी है।

बता दें, इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सीएम योगी आदित्यनाथ के साथ काशी विश्वनाथ मंदिर के दर्शन के लिए पहुंचे और काशी विश्वनाथ के दरबार में PM मोदी ने बाबा विश्वनाथ का अपने हाथों से अभिषेक व विधिवत पूजा-अर्चना की।

बताते चलें, कार्तिक महीने की पूर्णिमा को देव दीपावली मनाई जाती है और कहा जाता है कि, इस दिन देवता स्वर्गलोक से धरती पर पधारते हैं। हालांकि, देव दीपावली का आयोजन हर साल होता है, लेकिन इस बार का आयोजन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी से काफी खास रहा है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co