PM Modi Interacting with citizens of kashi
PM Modi Interacting with citizens of kashi|Tweet
भारत

मोदी ने अपने संसदीय क्षेत्र काशी की जनता को संबोधित कर कही ये बात

घातक 'कोरोना वायरस' की जंग पर मोदी सरकार का पूरा फोकस है। आज फिर उन्‍होंने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कर काशी वासियों से संवाद किया, जाने इस दौरान उन्‍होंने क्‍या-क्‍या कहा?

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

राज एक्‍सप्रेस। देशभर में तेजी से पैर पसारते ही जा रहे घातक 'कोरोना वायरस' से जंग पर मोदी सरकार का पूरा फोकस है। बीते दिन ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्‍ट्र को संबोधित किया था और आज फिर उन्‍होंने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की है।

PM मोदी का काशी वासियों से संवाद :

PM नरेंद्र मोदी ने अपने संसदीय क्षेत्र काशी की जनता को संबोधित करते हुए कहा- ''लॉकडाउन का पालन करने के लिए आप सभी का आभार, देश आज संकट के दौर से गुजर रहा है। आज देश ने कोरोना से युद्ध छेड़ दिया है, हमें इस महामारी से जीतने में 21 दिन लगेंगे, 130 करोड़ महारथियों के जरिए हम इस युद्ध को जीतेंगे।"

कोरोना बीमारी के देखते हुए देशभर में व्यापक तैयारियां की जा रही हैं। सभी को इस समय घरों में रहना अति आवश्यक है। यही इस बीमारी से बचने का बेहतर उपाय है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

इस दौरान PM मोदी ने ये भी कहा कि, ''कोरोना से संक्रमित दुनिया में 1 लाख से अधिक लोग ठीक भी हो चुके हैं। भारत में भी दर्जनों लोग कोरोना के शिकंजे से बाहर निकले हैं। मनुष्य का स्वाभाव होता है कि, जो चीज हमारे अनुकूल होती हैं, उसे तुरंत स्वीकार कर ले लेते हैं। ऐसे में कई बार अहम बातें, जो प्रमाणिक होती हैं उस पर कुछ लोगों का ध्यान जाता ही नहीं है।''

काशी का अनुभव शाश्वत-सनातन-समयातीत :

PM मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में कहा- महाभारत के युद्ध में भगवान श्रीकृष्ण महारथी, सारथी थें, आज 130 करोड़ महारथियों के बलबूते पर हमें कोरोना के खिलाफ इस लड़ाई को जीतना है। इसमें काशीवासियों की बहुत बड़ी भूमिका है। काशी का अनुभव शाश्वत, सनातन, समयातीत है और इसलिए आज लॉकडाउन की परिस्थिति में काशी देश को सिखा सकती है- संयम, समन्वय, संवेदनशीलता...

काशी का तो अर्थ ही है- शिव। शिव यानी कल्याण। शिव की नगरी में, महाकाल-महादेव की नगरी में संकट से जूझने का, सबको मार्ग दिखाने का सामर्थ्य है।

कोरोना की सटीक जानकारी जानने हेतु WhatsApp नंबर जारी :

PM मोदी ने ये भी बताया कि, कोरोना वायरस से जुड़ी सही और सटीक जानकारी के लिए सरकार ने WhatsApp के साथ मिलकर एक हेल्पडेस्क भी बनाई है। अगर आपके पास WhatsApp की सुविधा है तो आप इस नंबर 9013151515 पर 'नमस्ते' खिलकर भेजेंगे तो आपको उचित जवाब मिलना शुरू हो जाएंगे।

आप सभी ने देखा होगा कि मानवजाति कैसे इस संकट से जीतने के लिए एक साथ आ गई है। इसमें सबसे बड़ी भूमिका निभा रही है हमारी बाल सेना। 4-5 साल के बच्चे अपने परिजनों को जागरूक कर रहे हैं। कई परिवारों ने सोशल मीडिया पर ऐसी वीडियो शेयर की हैं। पूरे देश से हजारों प्रबुद्ध नागरिकों ने इस महामारी से निपटने के लिए सख्ती से लॉकलाउन लागू कराने की अपील की है। जब हमारे देशवासियों में ये दृढ़ इच्छा शक्ति हो, तो मुझे विश्वास है कि देश इस महामारी को जरूर हराएगा।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

पीएम मोदी ने सलाह देते हुए ये भी कहा कि, कोरोना के संक्रमण का इलाज अपने स्तर पर बिल्कुल नहीं करना है, घर में रहना है और जो करना है डॉक्टरों की सलाह से ही करना है। फोन पर अपने डॉक्टर से बात कीजिए और अपनी तकलीफ बताइए।

काबुल हमले पर की निंदा :

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस दौरान काबुल में हुए हमले की भारी निंदा करते हुए ये कहा कि, ''काबुल के गुरुद्वारा में हुए आतंकी हमले से दुःखी हूं, सभी मृतकों के परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं।''

PM मोदी ने काशी वासियों से संवाद का लाइव वीडियो भी अपने ट्वीट पर शेयर किया है, जो आप यहां सुन व देख सकते हैैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co