स्‍वनिधि योजना के लाभार्थियों संग PM का संवाद-संबोधन में कही ये बड़ी बातें

PM मोदी आज उत्तर प्रदेश के ‘प्रधानमंत्री स्‍व निधि योजना’ के लाभार्थियों के साथ वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के जरिए संवाद कर रहे हैं, जानें स्वनिधि योजना के लाभार्थियों संग पीएम संवाद की प्रमुख बातें...
स्‍वनिधि योजना के लाभार्थियों संग PM का संवाद-संबोधन में कही ये बड़ी बातें
स्‍वनिधि योजना के लाभार्थियों संग PM का संवादTwitter

दिल्‍ली, भारत। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बीच-बीच में वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के जरिए संवाद करते हैं, इसी कड़ी में अब आज 27 अक्टूबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के जरिए उत्तर प्रदेश के ‘प्रधानमंत्री स्‍व निधि योजना’ लाभार्थियों से संवाद कर रहे हैं।

आगरा की प्रीति से PM मोदी ने की बात :

स्‍व निधि योजना की लाभार्थी आगरा की प्रीति ने PM मोदी ने बात की और बताया कि, ''लॉकडाउन के वक्त काफी परेशानी हुई थी, इस बीच हमें नगर निगम की तरफ से हमें मदद मिली और फिर से हमने अपने काम को शुरू कर दिया'' PM मोदी ने पूछा- नवरात्रि में फल की बिक्री अधिक हुई होगी, साथ ही पीएम मोदी ने डिजिटल ट्रांजैक्शन करने की तारीफ की एवं येे भरोसा दिलाया कि अफसर आपसे मिलकर समस्याओं को दूर करेंगे।

वाराणसी के अरविंद से PM ने पूछा :

वाराणसी के अरविंद से पीएम मोदी ने पूछा कि मोमोज कैसे बनाते हैं। आपको मदद कैसे मिली, जिसपर अरविंद ने बताया कि, ''सिर्फ आधार कार्ड से ही खुद ही लोन मुझे मिल गया और फिर मेरा काम शुरू हो गया।'' पीएम मोदी ने कहा कि, मैं बनारस आता हूं तो कोई मुझे मोमोज नहीं खिलाता है।

प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन ने कहा :

इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में कहा- मैंने स्वनिधि योजना के लाभार्थियों से संवाद करते हुए ये अनुभव किया कि सभी को खुशी भी है और आश्चर्य भी है। पहले तो नौकरी वालों को लोन लेने के लिए बैंकों के चक्कर लगाने होते थे, गरीब आदमी तो बैंक के भीतर जाने का भी नहीं सोच सकता था, लेकिन आज बैंक खुद आ रहा है।

हमारे रेहड़ी-पटरी वालों की मेहनत से देश आगे बढ़ता है। ये लोग आज सरकार का धन्यवाद दे रहे हैं, लेकिन मैं इसका श्रेय सबसे पहले बैंक कर्मियों की मेहनत को देता हूं। बैंक कर्मियों की सेवा के बिना ये कार्य नहीं हो सकता था।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

आत्मनिर्भर भारत के लिए आज का दिन महत्वपूर्ण :

PM मोदी नेे बताया, ''आज का दिन आत्मनिर्भर भारत के लिए महत्वपूर्ण दिन है। कठिन से कठिन परिस्थितियों का मुकाबला ये देश कैसे करता है, आज का दिन इसका साक्षी है। कोरोना संकट ने जब दुनिया पर हमला किया, तब भारत के गरीबों को लेकर तमाम आकांक्षा व्यक्त की जा रही थी।''

रेहड़ी-पटरी वाले आत्मनिर्भर होकर आगे बढ़ रहे :

PM मोदी ने अपने संबोधन में ये भी कहा, ''मेरे गरीब भाई बहनों को कैसे कम से कम तकलीफ उठानी पड़े, सरकार के सभी प्रयासों के केंद्र में यही चिंता थी। इसी सोच के साथ देश ने 1 लाख 70 हजार करोड़ से गरीब कल्याण योजना शुरू की।'' आगे उन्‍होंने कहा- ''आज हमारे रेहड़ी-पटरी वाले साथी फिर से अपना काम शुरु कर पा रहे है। आत्मनिर्भर होकर आगे बढ़ रहे है। 1 जून को पीएम स्वनिधि योजना को शुरु किया गया था। 2 जुलाई को ऑनलाइन पॉर्टल पर इसके लिए आवेदन शुरु हो गए थे। योजनाओं पर इतनी गति देश पहली बार देख रहा है।''

UP की अर्थव्यवस्था पर बोले PM :

इस दौरान PM मोदी ने UP की अर्थव्यवस्था को लेकर कहा- उत्तर प्रदेश की अर्थव्यवस्था में स्ट्रीट वेंडर्स की बहुत बड़ी भूमिका है। यूपी से जो पलायन होता था उसे कम करने में भी रेहड़ी-पटरी के व्यवसाय की बहुत बड़ी भूमिका है। इसलिए पीएम स्वनिधि योजना का लाभ पहुंचाने में भी यूपी आज पूरे देश में नंबर वन है।

इस योजना में शुरुआत से ये ध्यान रखा गया है कि रेहड़ी-पटरी वालों को किसी प्रकार की परेशानी न हो। इसलिए इस योजना में तकनीक का ज्यादा से ज्यादा उपयोग सुनिश्चित किया गया। कोई कागज नहीं, गारंटर नहीं, दलाल नहीं और किसी सरकारी दफ्तर के चक्कर लगाने की भी जरूरत नहीं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

गरीब के नाम पर राजनीति :

PM ने कहा, ''गरीब के नाम पर राजनीति करने वालों ने देश में ऐसा माहौल बना दिया था कि गरीब को लोन दे दिया तो वो पैसा लौटाएगा ही नहीं, लेकिन मैं फिर कहता हूं कि हमारे देश का गरीब आत्मसम्मान और ईमानदारी से कभी भी समझौता नहीं करता है।''

बता दें, कोरोना संकट और लॉकडाउन की वजह से रेहड़ी-पटरी वालों की आजीविका पर असर पड़ा है, इसी के चलते केंद्र सरकार ने ऐसे लोगों की मदद के लिए 'स्व निधि योजना' की शुरुआत की थी, इस योजना के तहत बिना किसी गारंटी की रेहड़ी-पटरी वालों को 10 हजार रुपये तक लोन मिलता है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co