PM मोदी ने एनसीसी कैडेटों और एनएसएस स्वयंसेवकों के साथ की बातचीत
PM मोदी ने एनसीसी कैडेटों और एनएसएस स्वयंसेवकों के साथ की बातचीतSocial Media

PM नरेंद्र मोदी ने एनसीसी कैडेटों और एनएसएस स्वयंसेवकों के साथ की बातचीत

एनसीसी कैडेटों और एनएसएस स्वयंसेवकों के साथ बातचीत में बोले PM मोदी- यह पहली बार है कि नेता जी की तरह तैयार इतने सारे उम्मीदवार पीएम आवास में उपस्थित हुए हैं। आप सभी को देखकर मुझे खुशी होती है।

दिल्ली, भारत। इस साल गणतंत्र दिवस कार्यक्रम के दौरान एनसीसी कैडेटों, एनएसएस स्वयंसेवकों और कलाकारों ने हिस्‍सा लिया, जिसके चलते आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नई दिल्ली में एनसीसी कैडेटों, एनएसएस स्वयंसेवकों, जनजातीय अतिथियों और झांकी कलाकारों के साथ बातचीत की।

सभी एनसीसी कैडेटों और एनएसएस स्वयंसेवकों का स्वागत :

एनसीसी कैडेटों और एनएसएस स्वयंसेवकों के साथ बातचीत के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, ''मैं अपनी शुभकामनाएं देता हूं और यहां उपस्थित सभी एनसीसी कैडेटों और एनएसएस स्वयंसेवकों का स्वागत करता हूं। यह पहली बार है कि नेता जी की तरह तैयार इतने सारे उम्मीदवार पीएम आवास में उपस्थित हुए हैं। आप सभी को देखकर मुझे खुशी होती है, मैं आप सभी को प्रणाम करता हूं। बीते कुछ हफ्तों में मुझे युवाओं से मिलने का मौका मिला।''

युवाओ से संवाद दो कारणों से मुझे विशेष महत्व के लिए होता है। एक तो इसलिए, क्योंकि युवाओं में ऊर्जा होती है, ताजगी होती है, जोश होता है, जुनून होता है, नयापन होता है। आपके माध्यम से सारी सकारात्मकता मुझे निरंतर प्रेरित करती रहती है। दूसरा युवा देश की आकांक्षाओं और सपनों का प्रतिनिधित्व करते हैं। विकसित भारत के सबसे बड़े लाभार्थी भी युवा हैं। देश के निर्माण की सबसे बड़ी जिम्मेदारी भी युवाओं के कंधे पर है

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

आगे उन्‍हाेंने यह भी कहा कि, ''केवल युवा ही 'विकसित भारत' का अधिकतम फल प्राप्त करेंगे, और यह फिर से युवा ही हैं, जिनकी 'विकसित भारत' के निर्माण की सर्वोच्च जिम्मेदारी है। NCC और NSS ऐसे संगठन हैं, जो युवा पीढ़ी को राष्ट्रीय लक्ष्यों से, राष्ट्रीय सरोकारों से जोड़ते हैं। कोरोना काल में जिस प्रकार NCC और NSS के वॉलंटियर्स ने देश के सामर्थ्य को बढ़ाया, उसका पूरे देश ने अनुभव किया है।''

  • आज देश में युवाओं के जितने नए अवसर हैं, वो अभूतपूर्व हैं। आज देश स्टार्टअप इंडिया, मेक इन इंडिया और आत्मनिर्भर भारत जैसे अभियान चला रहा है। स्पेस सेक्टर से लेकर एनवॉयरनमेंट और क्लाइमेट से जुड़े चैलेंज तक भारत आज पूरी दुनिया के भविष्य के लिए काम कर रहा है।

  • देशभर में कुल 75 अमृत सरोवरों की स्थापना की जा रही है। आपको अपने परिवार और दोस्तों के साथ अपने पड़ोसी अमृत सरोवर पर जाकर, आनंद लेना और योगदान देकर इस महान पहल में शामिल होना चाहिए।

  • इस साल हमारा भारत जी-20 की अध्यक्षता भी कर रहा है। ये भारत के लिए एक बड़ा अवसर है। आप इसके बारे में भी जरूर पढ़ें, स्कूल, कॉलेज में भी इससे जुड़ी चर्चा करें। इस समय देश अपनी विरासत पर गर्व और गुलामी की मानसिकता से मुक्ति का संकल्प लेकर आगे बढ़ रहा है।

  • जैसा कि भारत जी20 के अध्यक्ष पद पर आसीन हुआ है, आप सभी के लिए इसके बारे में जानना और जानना बहुत महत्वपूर्ण हो जाता है। देश की विरासत को संरक्षित और संरक्षित करना आपकी जिम्मेदारी है और सच्चे अर्थों में राष्ट्र निर्माण की दिशा में अपना सर्वश्रेष्ठ देना है।

  • आपको देश की महान पारंपरिक प्रथाओं को अपनाना चाहिए और उन्हें संजोना चाहिए - आपको योग का अभ्यास करना चाहिए, एक स्वस्थ जीवन शैली का नेतृत्व करना चाहिए।

    आपको पर्यावरण की रक्षा और अधिक से अधिक पेड़ लगाना सुनिश्चित करना चाहिए।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस यूट्यूब चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। यूट्यूब पर @RajExpressHindi के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co