अगले हफ्ते ग्रीस की यात्रा पर जाने वाले हैं पीएम मोदी
अगले हफ्ते ग्रीस की यात्रा पर जाने वाले हैं पीएम मोदीSyed Dabeer Hussain - RE

अगले हफ्ते ग्रीस की यात्रा पर जाने वाले हैं पीएम मोदी, जानिए इस यात्रा के मायने

ग्रीस के प्रधानमंत्री के विशेष आमंत्रण पर पीएम मोदी ने वहां जाने का फैसला किया है। वह पिछले 40 सालों में ग्रीस का दौरा करने वाले पहले भारतीय प्रधानमंत्री होंगे।

हाइलाइट्स :

  • पीएम मोदी 22 से 24 अगस्त तक दक्षिण अफ्रीका के जोहान्सबर्ग में रहेंगे।

  • पीएम मोदी 25 अगस्त को ग्रीस के आधिकारिक दौरे पर जाएंगे।

  • पीएम मोदी पिछले 40 सालों में ग्रीस का दौरा करने वाले पहले भारतीय प्रधानमंत्री होंगे।

राज एक्सप्रेस। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अगले हफ्ते 15वें ब्रिक्स समिट में शामिल होने के लिए दक्षिण अफ्रीका जाने वाले हैं। पीएम मोदी 22 से 24 अगस्त तक दक्षिण अफ्रीका के जोहान्सबर्ग में रहेंगे। ब्रिक्स समिट के बाद पीएम मोदी 25 अगस्त को ग्रीस के आधिकारिक दौरे पर जाएंगे। ग्रीस के प्रधानमंत्री किरियोकोस मित्सोटाकिस के विशेष आमंत्रण पर पीएम मोदी ने वहां जाने का फैसला किया है। पीएम मोदी का ग्रीस दौरा बेहद ऐतिहासिक होने वाला है। वह पिछले 40 सालों में ग्रीस का दौरा करने वाले पहले भारतीय प्रधानमंत्री होंगे। तो चलिए जानते हैं कि प्रधानमंत्री की ग्रीस यात्रा के क्या मायने हैं?

तुर्की को काउंटर करने की योजना

इस साल तुर्की में आए विनाशकारी भूकंप के बाद भारत वह पहला देश था, जो सबसे पहले मदद लेकर वहां पहुंचा था। हालांकि इसके बावजूद तुर्की का भारत विरोधी रूख बरकरार है। तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तैयप एर्दोगन कई बार कश्मीर मुद्दे पर पाकिस्तान का समर्थन कर चुके हैं। वहीं तुर्की कश्मीर मुद्दे को संयुक्त राष्ट्र में भी उठा चुका है। ऐसे में भारत ग्रीस से अपने रिश्ते मजबूत कर तुर्की को काउंटर कर सकता है। दरअसल भूमध्य सागर में कुछ द्वीपों को लेकर तुर्की और ग्रीस के बीच सालों से विवाद चल रहा है। इसके चलते दोनों देशों के बीच युद्ध जैसे हालत भी बन चुके हैं। ऐसे में भारत लगातार ग्रीस से अपने रक्षा संबंध भी मजबूत कर रहा है।

पीरियस बंदरगाह पर नजर

भारत की नजर ग्रीस के पीरियस बंदरगाह पर भी है। भारत को यूरोपीय देशों के साथ व्यापार करने के लिए इस बंदरगाह की जरूरत है। अफगानिस्तान में तालिबान शासन और अजरबैजान व आर्मेनिया के बीच जंग के चलते भारत के लिए ईरान का चाबहार बंदरगाह अब उतना फायदेमंद नहीं रहा है। ऐसे में पीरियस बंदरगाह के जरिए यूरोप में व्यापार करना भारत के लिए फायदेमंद हो सकता है। हालांकि वर्तमान में पीरियस बंदरगाह पर चीन का कब्जा है, लेकिन भारत ग्रीस की मदद से यह बंदरगाह हथियाना चाहता है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co