विश्व जल दिवस 2021 पर PM मोदी ने जल शक्ति अभियान शुरुकर दिया ये बड़ा संदेश
विश्व जल दिवस 2021 पर PM मोदी ने जल शक्ति अभियान शुरुकर दिया ये बड़ा संदेशTwitter

विश्व जल दिवस 2021 पर PM मोदी ने जल शक्ति अभियान शुरुकर दिया ये बड़ा संदेश

विश्व जल दिवस 2021 के मौके पर PM मोदी ने जल शक्ति अभियान शुरु कर कहा-आज भारत में पानी की समस्या के समाधान के लिए कैच द रैन की शुरुआत के साथ ही केन बेतवा लिंक नहर के लिए भी बहुत बड़ा कदम उठाया गया है।

विश्व जल दिवस 2021: आज 22 मार्च को दुनियाभर में विश्व जल दिवस मनाया जा रहा है। पानी हमारे लिए एक ऐसी धरोहर है, जिसे आने वाली पीढ़ी के लिए संभालकर रखना बहुत जरूरी है। पानी के बिना जीवन ही संभव नहीं है और दुनिया को पानी की जरूरत से अवगत कराने के मकसद से ही संयुक्त राष्ट्र ने विश्व जल दिवस मनाने की शुरुआत की थी। तो वहीं, इस साल 2021 के विश्व जल दिवस (World Water Day) के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 'जल शक्ति अभियान' की शुरुआत की।

पानी की समस्या के समाधान के लिए 'कैच द रैन' की शुरुआत :

जल शक्ति अभियान की शुरुआत करने के साथ ही PM मोदी ने जलसंकट से निपटने के उपायों को अपनाने वाले कर्नाटक के बीदर, राजस्थान के बूंदी व उत्तराखंड के टिहरी पंचायतों से चर्चा की और कहा- आज भारत में पानी की समस्या के समाधान के लिए 'कैच द रैन' की शुरुआत के साथ ही केन बेतवा लिंक नहर के लिए भी बहुत बड़ा कदम उठाया गया है। अटल जी ने उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के लाखों परिवारों के हित में जो सपना देखा था, उसे साकार करने के लिए ये समझौता अहम है।

भारत वर्षा जल का जितना बेहतर प्रबंधन करेगा उतना ही भूमिगत जल पर देश की निर्भरता कम हो जाएगी, इसलिए ‘Catch the Rain’ जैसे अभियान चलाए जाने और सफल होना जरूरी है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

हर योजना पर तेजी से काम हो रहा :

प्रधानमंत्री मोदी ने बताया कि, ''प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना हो या हर खेत को पानी अभियान, ‘Per Drop More Crop’ अभियान हो या नमामि गंगे मिशन, जल जीवन मिशन हो या अटल भूजल योजना, सभी पर तेजी से काम हो रहा है।''

आज जब हम जब तेज़ विकास के लिए प्रयास कर रहे हैं, तो ये जल सुरक्षा के बगैर प्रभावी जल प्रबंधन के बिना संभव ही नहीं है। भारत के विकास का विजन, भारत की आत्मनिर्भरता का विजन, हमारे जल स्रोतों पर निर्भर है, हमारी Water Connectivity पर निर्भर है।

पानी की टेस्टिंग पर पहली बार गंभीरता से काम :

प्रधानमंत्री ने आगे ये भी कहा- आजादी के बाद पहली बार पानी की टेस्टिंग को लेकर किसी सरकार द्वारा इतनी गंभीरता से काम किया जा रहा है और मुझे इस बात की भी खुशी है कि पानी की टेस्टिंग के इस अभियान में हमारे गांव में रहने वाली बहनों-बेटियों को जोड़ा जा रहा है। सिर्फ डेढ़ साल पहले हमारे देश में 19 करोड़ ग्रामीण परिवारों में से सिर्फ साढ़े 3 करोड़ परिवारों के घर नल से जल आता था। मुझे खुशी है कि 'जल जीवन मिशन' शुरू होने के बाद इतने कम समय में ही लगभग 4 करोड़ नए परिवारों को नल का कनेक्शन मिल चुका है।

वर्षा जल से संरक्षण के साथ ही हमारे देश में नदी जल के प्रबंधन पर भी दशकों से चर्चा होती रही है। देश को पानी संकट से बचाने के लिए इस दिशा में अब तेजी से कार्य करना आवश्यक है। केन-बेतवा लिंक प्रोजेक्ट भी इसी विजन का हिस्सा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

केन-बेतवा लिंक परियोजना से संबंधित दस्तावेजों पर हस्ताक्षर :

बता दें कि, इसी दौरान आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने केन-बेतवा लिंक परियोजना से संबंधित दस्तावेजों पर हस्ताक्षर किए।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co