Mann Ki Baat: कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच आज PM मोदी ने दिया ये खास संदेश
Mann Ki Baat: कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच आज PM मोदी ने दिया ये खास संदेशPriyanka Sahu -RE

Mann Ki Baat: कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच आज PM मोदी ने दिया ये खास संदेश

Mann Ki Baat: आज मार्च माह का आखिरी रविवार है, इस दौरान देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने साप्‍ताहिक प्रसिद्ध रेडियो कार्यक्रम 'मन की बात' के माध्यम से राष्ट्र को संबोधित कर रहे हैं...

Mann Ki Baat: साल 2021 में आज मार्च माह का आखिरी रविवार है और देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हर माह के आखिरी रविवार को अपने साप्‍ताहिक प्रसिद्ध रेडियो कार्यक्रम 'मन की बात' के माध्यम से राष्ट्र को संबोधित कर रहे हैं। आज उनके मन की बात कार्यक्रम का 75वां और इस साल 2021 के मन की बात कार्यक्रम का तीसरा संस्करण है

श्रोताओं को व्यक्त किया आभार :

मन की बात में PM मोदी ने कहा- मैं आपका बहुत-बहुत धन्यवाद करता हूँ कि, आपने इतनी बारीक नज़र से ‘मन की बात’ को फॉलो किया है और आप जुड़े रहे हैं। ये मेरे लिए बहुत ही गर्व का विषय है, आनंद का विषय है। मैं आज इस 75वें एपिसोड के समय सबसे पहले ‘मन की बात’ को सफल बनाने के लिए, समृद्ध बनाने के लिए और इससे जुड़े रहने के लिए हर श्रोता का बहुत-बहुत आभार व्यक्त करता हूँ।

मन की बात कार्यक्रम में PM मोदी ने बताया- किसी स्वाधीनता सेनानी की संघर्ष गाथा हो, किसी स्थान का इतिहास हो, देश की कोई सांस्कृतिक कहानी हो, ‘अमृत महोत्सव’ के दौरान आप उसे देश के सामने ला सकते हैं, देशवासियों को उससे जोड़ने का माध्यम बन सकते हैं। आप देखिएगा, देखते ही देखते ‘अमृत महोत्सव’ ऐसे कितने ही प्रेरणादायी अमृत बिंदुओं से भर जाएगा और फिर ऐसी अमृत धारा बहेगी जो हमें भारत की आज़ादी के सौ वर्ष तक प्रेरणा देगी। देश को नई ऊँचाई पर ले जाएगी, कुछ-न-कुछ करने का जज्बा पैदा करेगी।

आज़ादी के लड़ाई में हमारे सेनानियों ने कितने ही कष्ट इसलिए सहे, क्योंकि, वो देश के लिए त्याग और बलिदान को अपना कर्तव्य समझते थे। उनके त्याग और बलिदान की अमर गाथाएँ अब हमें सतत कर्तव्य पथ के लिए प्रेरित करें।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

जनता कर्फ्यू काे लेकर दिए ये विचार :

PM मोदी ने मन की बात के दौरान कहा- पिछले वर्ष ये मार्च का ही महीना था, देश ने पहली बार जनता कर्फ्यू शब्द सुना था, लेकिन इस महान देश की महान प्रजा की महाशक्ति का अनुभव देखिये, जनता कर्फ्यू पूरे विश्व के लिए एक अचरज बन गया था। अनुशासन का ये अभूतपूर्व उदाहरण था, आने वाली पीढ़ियाँ इस एक बात को लेकर के जरुर गर्व करेगी।

कोरोना से लड़ाई का मंत्र जरुर याद रखे-

उसी प्रकार से हमारे कोरोना वारियर्स के प्रति सम्मान, आदर, थाली बजाना, ताली बजाना, दिया जलाना। आपको अंदाजा नहीं है कोरोना वारियर्स के दिल को कितना छू गया था वो, और, वो ही तो कारण है, जो पूरी साल भर, वे, बिना थके, बिना रुके, डटे रहे। इन सबके बीच, कोरोना से लड़ाई का मंत्र भी जरुर याद रखिए - ‘दवाई भी - कड़ाई भी’

साथ ही PM मोदी ने देश के लोगों से की वैक्सीन लगवाने की भी अपील की।

मिताली राज को दी बधाई :

इस दौरान PM मोदी ने महिला क्रिकेटर मिताली राज को बधाई देते हुए कहा- मिताली जी हाल ही में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में दस हजार रन बनाने वाली पहली भारतीय महिला क्रिकेटर बनी हैं। उनकी इस उपलब्धि पर बहुत-बहुत बधाई। ये दिलचस्प है, इसी मार्च महीने में, जब हम महिला दिवस सेलिब्रेट कर रहे थे, तब कई महिला खिलाड़ियों ने मेडल्‍स और रिकॉर्ड अपने नाम किये हैं। आज एजुकेशन से लेकर एन्त्रेप्रेंयूर्शिप तक, सशस्त्र फाॅर्स से लेकर साइस & टेक्‍‍‍नो टेक्नोलॉजी तक, हर जगह देश की बेटियाँ, अपनी, अलग पहचान बना रही हैं।

PM मोदी ने कहा- मन की बात के दौरान, मैंने, पर्यटन के विभिन्न पहलुओं पर अनेक बार बात की है, लेकिन, ये light house, Tourism के लिहाज से unique होते हैं। अपनी भव्य संरचनाओं के कारण Light Houses हमेशा से लोगों के लिए आकर्षण के केंद्र रहे हैं। पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए भारत में भी 71 Light Houses Identify किये गए हैं। इन सभी light house में उनकी क्षमताओं के मुताबिक Museum, Amphi-Theatre, Open Air Theatre, Cafeteria, Children’s Park, Eco Friendly Cottages और Landscaping तैयार किये जाएंगे।

PM ने एक यूनिक लाइटहाउस के बारे में बताया-

मन की बात में PM मोदी ने एक Unique Light House के बारे में ये बताया कि, ''ये लाइटहाउस गुजरात के सुरेन्द्र नगर जिले में जिन्झुवाड़ा नाम के एक स्थान में है।''

जानते हैं, ये लाइट हाउस क्यों खास है?

''ये light house जहां है, वहाँ से अब समुद्र तट सौ किलोमीटर से भी अधिक दूर है। आपको इस गाँव में ऐसे पत्थर भी मिल जाएंगे, जो यह बताते हैं कि, यहाँ, कभी, एक व्यस्त बंदरगाह रहा होगा। यानि इसका मतलब ये है कि पहले Coastline जिन्झुवाड़ा तक थी।''

अभी कुछ दिन पहले World Sparrow Day मनाया गया। Sparrow यानि गोरैया। कहीं इसे चकली बोलते हैं, कहीं चिमनी बोलते हैं, कहीं घान चिरिका कहा जाता है। आज इसे बचाने के लिए हमें प्रयास करने पड़ रहे हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

मन की बात में PM मोदी द्वारा बताई गई बातें-

  • मेरे बनारस के एक साथी इंद्रपाल सिंह बत्रा जी ने ऐसा काम किया है, जिसे मैं, ‘मन की बात’ के श्रोताओं को जरूर बताना चाहता हूं। बत्रा जी ने अपने घर को ही गोरैया का आशियाना बना दिया है।

  • ओड़िशा के केंद्रपाड़ा के रहने वाले बिजय जी ने 12 साल, मेहनत करके, अपने गांव के बाहर, समुद्र की तरफ 25 एकड़ का mangrove जंगल खड़ा कर दिया। आज ये जंगल इस गाँव की सुरक्षा कर रहा है।

  • आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु और केरल से प्रेरक जीवन यात्रा। ये शोभनीय प्रतिभाएँ हमारे लोगों को धन्य हैं।

  • हमें नया तो पाना है और वही तो जीवन होता है, लेकिन साथ-साथ पुरातन गँवाना भी नहीं है। हमें बहुत परिश्रम के साथ अपने आस-पास मौजूद अथाह सांस्कृतिक धरोहर का संवर्धन करना है, नई पीढ़ी तक पहुँचाना है।

  • कार्बी आंगलोंग जिले के ‘सिकारी टिस्सौ’ जी पिछले 20 सालों से कार्बी भाषा का documentation कर रहे हैं। उन्हें अपने इस प्रयासों के लिए कई जगह प्रशंसा भी मिली है और अवार्ड भी मिले हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co