मन की बात और सरकार के 7 साल पूरे होने के खास मौके पर PM मोदी के विचार
मन की बात और सरकार के 7 साल पूरे होने के खास मौके पर PM मोदी के विचारPriyanka Sahu -RE

मन की बात और सरकार के 7 साल पूरे होने के खास मौके पर PM मोदी के विचार

मन की बात कार्यक्रम का 77वां संस्करण है और आज मोदी सरकार के 7 साल भी पूरे हो गए हैं, इस दौरान वे अपने मन की बात में क्‍या खास संदेश दे रहे हैं, यहां देखें...

मन की बात: साल 2021 में आज मई माह का आखिरी रविवार है और देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हर माह के आखिरी रविवार को अपने साप्‍ताहिक प्रसिद्ध रेडियो कार्यक्रम 'मन की बात' के माध्यम से राष्ट्र को संबोधित करते आ रहे हैं। मोदी सरकार के आज 30 मई को 7 साल भी पूरे हो गए हैं और आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मन की बात कार्यक्रम का 77वां और इस साल 2021 के मन की बात कार्यक्रम का पांचवा संस्करण है।

प्राकृतिक आपदाओं के बारे में PM के मन की बात :

मन की बात कार्यक्रम के ज़रिए PM नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र को संबोधित करते हुए प्राकृतिक आपदाओं को लेकर भी अपनी बात रखते हुए कहा- अभी-अभी पिछले 10 दिनों में ही देश ने फिर 2 बड़े साइक्लोन 'ताऊ-ते' और पूर्वी coast पर साइक्लोन यास। देश और देश की जनता इनसे पूरी ताकत से लड़ी और कम से कम जनहानि सुनिश्चित की। विपदा की इस कठिन और असाधारण परिस्थिति में साइक्लोन से प्रभावित हुए सभी राज्यों के लोगों ने जिस प्रकार से साहस का परिचय दिया है। उसके लिए मैं आदरपूर्वक सभी नागरिकों की सराहना करना चाहता हूं।

चुनौती कितनी ही बड़ी हो, भारत का विजय का संकल्प भी उतना ही बड़ा रहा है। सेवाभक्ति और अनुशासन ने देश को हर तूफान से बाहर निकाला है। जल-थल-नभ तीनों सेना के सभी जवान कोरोना के खिलाफ लड़ाई में जुटे हुए हैं। पूरे देश को उन पर गर्व है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

PM मोदी ने कहा- केंद्र, राज्य सरकारें और स्थानीय प्रशासन सभी एक साथ मिलकर इस आपदा के सामने करने में जुटे हैं। मैं उन सभी लोगों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करता हूं, जिन्होंने अपने करीबियों को खोया है।

ऑक्सीजन के बारे में बोले PM मोदी :

मन की बात कार्यक्रम में PM मोदी ने कहा- जब ये देश सुनेगा न, देश को गर्व होगा कि लड़ाई हम जीतेंगे, क्योंकि दिनेश उपाध्याय जैसे लाखों-लाखों ऐसे लोग हैं जो जी-जान से जुटे हुए हैं।चुनौती कितनी ही बड़ी हो, भारत का विजय का संकल्प भी उतना ही बड़ा रहा है। सेवाभक्ति और अनुशासन ने देश को हर तूफान से बाहर निकाला है। उन्होंने ऑक्सीजन टैंकर के ड्राइवर से बात की और कहा कि, सुदूर इलाकों में ऑक्सीजन पहुंचाना बड़ी चुनौती है।

जब दूसरी लहर आई अचानक से ऑक्सीजन की मांग कई गुना बढ़ गई, तो बहुत बड़ा चैलेंज था। मेडिकल ऑक्सीजन का देश के दूर-सुदूर हिस्सों तक पहुंचाना अपने आप में बड़ी चुनौती थी। ऑक्सीजन टैंकर ज्यादा तेज चले, छोटी-सी भी भूल हो, तो उसमें बहुत बड़े विस्फोट का खतरा होता है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

मन की बात में PM ने 7 साल के काम का भी किया जिक्र :

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस दौरान NDA सरकार के 7 साल पूरे होने का भी जिक्र करते हुए कहा- आज 30 मई को हम 'मन की बात' कर रहे हैं और संयोग से ये सरकार के 7 साल पूरे होने का भी समय है। इन वर्षों में देश 'सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास' के मंत्र पर चला है। देश की सेवा में हर क्षण समर्पि भाव से हम सभी ने काम किया है।

  • इन 7 वर्षों में जो कुछ भी उपलब्धि रही है, वो देश की रही है, देशवासियों की रही है। कितने ही राष्ट्रीय गौरव के क्षण हमने इन वर्षों में साथ मिलकर अनुभव किए हैं।

  • इन 7 सालों में भारत ने Digital लेनदेन में दुनिया को नई दिशा दिखाने का काम किया है। हम record satellite भी प्रक्षेपित कर रहे हैं और record सड़कें भी बना रहे हैं।

  • इन 7 वर्षों में ही देश के अनेक पुराने विवाद भी पूरी शांति और सौहार्द से सुलझाए गए हैं। पूर्वोत्तर से लेकर कश्मीर तक शांति और विकास का एक नया भरोसा जगा है।

  • इन 7 सालों में हमने साथ मिलकर ही कई कठिन परीक्षाएं भी दी हैं और हर बार हम सभी मजबूत होकर निकले हैं। कोरोना महामारी के रूप में, इतनी बड़ी परीक्षा तो लगातार चल रही है। इस वैश्विक महामारी के बीच भारत, 'सेवा और सहयोग' के संकल्प के साथ आगे बढ़ रहा है।

PM मोदी के मन की बात के अपडेट-

  • कोरोना की शुरुआत में देश में सिर्फ एक ही टेस्टिंग लैब थी, लेकिन आज ढाई हजार से ज्यादा लैब्स काम कर रही हैं। शुरू में कुछ सौ टेस्‍ट एक दिन में हो पाते थे, अब 20 लाख से ज्यादा टेस्‍ट एक दिन में हो रहे हैं।

  • आप सोचिए, हमारे देश में इतना बड़ा संकट आया, इसका ऐसे देश की हर एक व्यवस्था पर पड़ा। कृषि व्यवस्था ने खुद को इस हमले से काफी हद तक सुरक्षित रखा। सुरक्षित ही नहीं रख, बल्कि प्रगति भी की, आगे भी बढ़ी।

  • एक आदिवासी इलाके से कुछ साथियों ने मुझे एक संदेश भेजा था कि सड़क बनने के बाद पहली बार उन्हें ऐसा लगा कि वो भी बाकी दुनिया से जुड़ गए हैं। ऐसे ही कहीं कोई बैंक खाता खुलने की ख़ुशी साझा करता है। इन 7 सालों में आप सबकी ऐसी करोड़ों खुशियों में, मैं शामिल हुआ हूं।

  • मुझे कितने ही देशवासियों के संदेश, उनके पत्र देश के कोने-कोने से मिलते हैं। कितने ही लोग देश को धन्यवाद देते हैं कि 70 साल बाद उनके गांव में पहली बार बिजली पहुंची है। कितने ही लोग कहते हैं कि हमारा भी गाँव अब पक्की सड़क से, शहर से जुड़ गया है।

  • आजादी के बाद 7 दशकों में हमारे देश के केवल साढ़े तीन करोड़ ग्रामीण घरों में ही पानी के connection थे। लेकिन पिछले 21 महीनों में ही साढ़े चार करोड़ घरों को साफ पानी के connection दिए गए हैं।

  • एक नया विश्वास देश में आयुष्मान योजना से भी आया है। जब कोई गरीब मुफ्त इलाज से स्वस्थ होकर घर आता है तो उसे लगता है कि उसे नया जीवन मिला है।

  • हमने पहली वेब में भी पूरे हौंसले के साथ लड़ाई लड़ी थी, इस बार भी वायरस के खिलाफ चल रही लड़ाई में भारत विजयी होगा। दो गज दूरी, मास्क से जुड़े नियम हों या फिर वैक्‍सीन, हमें ढिलाई नहीं करनी है। यही हमारी जीत का रास्ता है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co