CM संग PM मोदी का संवाद
CM संग PM मोदी का संवाद|Social Media
भारत

CM संग PM मोदी का संवाद, लॉकडाउन के बाद क्या होगा एक्जिट प्लान?

कोरोना महामारी और लॉकडाउन खत्‍म होने के बाद आगे की रणनीति को लेकर PM नरेंद्र मोदी आज तमाम राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कर सुझाव मांगे, जानें सुझाव में सभी CM ने क्‍या कहा?

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

राज एक्‍सप्रेस। घातक कोरोना वायरस के चलते देश में लॉकडाउन जारी है और इसकी अवधि 3 मई को खत्म हो रही है। इससे पहले ही अब आगे की रणनीति या एक्जिट प्लान क्या होगा, इसके लिए आज (27 अप्रैल) चौथी बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए अलग-अलग राज्‍यों व केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों के साथ मंथन कर रहे हैं।

राज्यों के मुख्यमंत्रियों संग PM मोदी का सीधा संवाद जारी है और चर्चा हो रही है। बताया जा रहा है कि, PM मोदी द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से की जा रही इस बैठक के दौरान बिहार, ओडिशा, गुजरात, हरियाणा, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश और केंद्रशासित प्रदेश पुडुचेरी के मुख्यमंत्रियों का अपना रुख व्यक्त करने की बारी है। इसके अलावा पूर्वोत्तर से मेघालय और मिजोरम के मुख्यमंत्री भी शामिल होंगे। इस चर्चा में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह भी मौजूद हैं।

ये मंत्री इस बैठक में शामिल नहीं :

वहीं, सूत्रों के अनुसार ये बात सामने आई है कि, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी इस बैठक में शामिल नहीं होंगी, उनकी जगह पर प्रतिनिधि के बैठक में शामिल होने की उम्मीद है। तो वहीं, केरल के मुख्यमंत्री पिनरई विजयन भी इस बैठक में शामिल नहीं हुए हैं। एएनआई ने सूत्रों के हवाले से कहा कि, केरल ने अपने सुझाव लिखित में दिए हैं।

9 राज्यों के CM करेंगे रिपोर्ट पेश :

PM मोदी के साथ चर्चा में करीब 9 राज्यों 'मेघालय, मिजोरम, गुजरात, बिहार, ओडिशा, पुडूचेरी, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा और उत्तराखंड' के मुख्यमंत्री अपनी ओर से रिपोर्ट पेश करेंगे।

लॉकडाउन बढ़ेगा आगे या नहीं :

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हो रही इस बैठक के दौरान PM मोदी मुख्यमंत्रियों से उनके राज्य में कोरोना संक्रमण की स्थिति व नए कंटेनमेंट जोन बनाने के साथ ही कोरोना से निपटने के लिए उठाए जाने वाले कदमों को लेकर बातचीत करेंगे। देखा जाएं तो लॉकडाउन भी 3 मई को खत्म हो रहा है अब आगे का एक्जिट प्लान के लिए सरकार विचार कर रही है। देश में कोरोना की स्थिति को देखते हुए ऐसा प्रतीत होता है कि, लॉकडाउन आगे और भी बढ़ाया जा सकता है।

ऐसा इसलिए कहा जा रहा है, क्‍योंकि PM मोदी ने इससे पहले जब लॉकडाउन की अवधि बढाई थीं तो उस वक्‍त भी मुख्यमंत्रियों की सलाह और प्रस्तावों के बाद ही 3 मई तक लॉकडाउन पार्ट-2 आगे बढ़ाने की घोषण की थी। बता दें कि, PM नरेंद्र मोदी अब तक 3 बार तमाम राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ समीक्षा बैठक कर चुके हैं।

जानें राज्‍यों के CM ने क्‍या-क्‍या सुझाव दिए-

पुडुचेरी के CM ने की ये मांग :

चर्चा के दौरान पुडुचेरी के CM वी. नारायणसामी ने राज्य के स्वास्थ्य संबंधी योद्धाओं के लिए व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण (PPE) और अन्य चिकित्सा उपकरण प्रदान करने के लिए केंद्र के हस्तक्षेप की मांग की करते हुए 3 मई को लॉकडाउन खत्म होने पर उद्योग शुरू करने की इच्छा व्यक्त की और कोविड -19 से लड़ने के लिए भारत सरकार से वित्तीय सहायता मांगी।

पुडुचेरी में तीन लोग कोरोना संक्रमित हैं और उनका इलाज चल रहा है। पुडुचेरी बहुत छोटा राज्य है, उसकी आर्थिक स्थिति बहुत अच्छी नहीं है, इसलिए केंद्र उसे GST के बकाया पैसा तथा अन्य बकाया लौटाए।
वी. नारायणसामी

ओडिशा के CM का कहना :

ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने लॉकडाउन जारी रखने के पक्ष में हैं और उनका कहना है कि, यह महत्वपूर्ण है कि आर्थिक गतिविधियों को इजाजत दी जाए। उन्‍होंने कहा, "मैं केंद्र सरकार से विनती करता हूं कि, हम अर्थव्यवस्था के उपायों को शुरू करें, क्योंकि हम बीमारी पर लगाम लगाने के लिए मिलकर काम कर रहे हैं।''

उत्तराखंड के CM का सुझााव :

उत्तराखंड के CM त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने यह सुझाव दिया कि, पर्यटन और तीर्थयात्री लॉकडाउन से बहुत प्रभावित हुए हैं। पीएम के हस्तक्षेप से हम जल्द ही अपने उद्योग और अर्थव्यवस्था को पुनर्जीवित कर पाएंगे। सभी एहतियाती उपायों पर ध्यान केंद्रित करने के साथ, व्यापार और व्यापार गतिविधियां चरण-वार तरीके से शुरू होनी चाहिए। हमें धीरे-धीरे स्थिति को सामान्य करने के लिए लोगों के जीवन को आसान बनाना होगा।

मेघालय के CM द्वारा दिया गया सुझाव :

मेघालय के मुख्यमंत्री द्वारा प्रधानमंत्री मोदी को लॉकडाउन 3 मई के आगे बढ़ाने का सुझाव दिया।

राज्य सरकार अपनी नीति तैयार करें और किस तरह लॉकडाउन को खोला जाए, इसमें रेड, ग्रीन और ऑरेंज जोन में राज्य अपने इलाकों में लॉकडाउन को खोला जा सकता है, जिन राज्यों में अधिक केस है, वहां लॉकडाउन जारी रहेगा, जिन राज्यों में केस कम है वहां जिलेवार राहत दी जाएगी।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

इस बैठक में PM मोदी ने कहा कि, ''अर्थव्यवस्था को लेकर टेंशन न लें, हमारी अर्थव्यवस्था अच्छी है।''

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co