ऑक्सीजन कमी के भयावह पर एक्‍शन में PM मोदी-समीक्षा बैठक कर दिए ये निर्देश
ऑक्सीजन कमी के भयावह पर एक्‍शन में PM मोदी-समीक्षा बैठक कर दिए ये निर्देशSocial Media

ऑक्सीजन कमी के भयावह पर एक्‍शन में PM मोदी-समीक्षा बैठक कर दिए ये निर्देश

देशभर में ऑक्सीन की कमी को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक्‍शन में आकर हाईलेवल समीक्षा बैठक की और अस्पतालों को ऑक्सीजन की सप्लाई को लेकर ये निर्देश जारी किए है...

दिल्‍ली, भारत। देश में महामारी के संकटकाल न जाने कब रूकेगा। कोविड 1 के मुकाबले कोविड 2 में हालात चिंताजनक नजर आ रहे हैं। देश के कई राज्‍यों में कोरोना से जमकर तबाही मची हुई है और अब इंसान इस घातक वायरस के आगे बेबस नजर आ रहा है। फिर चाहे वो हॉस्पिटल हो या फिर श्मशानों से लेकर कब्रिस्तान, हर शहर से रोजाना डराने वाली तस्वीरें सामने आ रहीं हैं। इन सबके बीच अब कई बड़े शहरों के अस्पतालों में ऑक्सीजन की भारी कमी की समस्या भी आन खड़ी हुई, जिससे हालात ओर भी खराब हो रहे है।

ऑक्सीन की कमी को लेकर PM की हाईलेवल बैठक :

कोरोना की दूसरी लहर जनता पर कहर बनकर टूट रही है, हर तरफ चिताएं हैं। तो वहीं हॉस्पिटलों में मरीजों की लंबी कतारे लगी हुई है। देश में लगातार बढ़ रहे कोरोना के मामलों के बीच अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी की भयावह स्थिति का इस कदर हाहाकार मचा हुआ है कि, कई जगहों पर मरीजों को भर्ती तक नहीं किया जा रहा है। इस दौरान कुछ राज्यों ने PM से ऑक्सीजन के लिए मदद मांगी है और आज शुक्रवार को देशभर में ऑक्सीन की कमी को लेकर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक्‍शन में आकर हाईलेवल समीक्षा बैठक की, जिसमें वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री, स्वास्थ्य मंत्री, सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री, इस्पात मंत्री भी शामिल हुए।

इस बैठक में प्रधानमंत्री ने सभी मंत्रालयों के बीच आपसी समन्वय और राज्य सरकारों के साथ सहयोग सुनिश्चित करने को कहा। साथ ही ऑक्सीजन सप्‍लाई पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस बैठक में ये निर्देश दिए है-

  • इस बैठक में PM मोदी ने अस्पतालों को ऑक्सीजन की सप्‍लाई सही तरीके से करने के निर्देश दिए।

  • समीक्षा बैठक में कोविड-19 पीड़ित मरीजों के इलाज में जो कमी हो रही है। उसे पूरा करने के लिए ऑक्सीन का आयात करने की हरी झंडी दे दी गई है।

  • देश के किसी भी राज्य में ऑक्सीन की आपूर्ति के हर संभव उपाय किए जाएं। यही घरेलू उत्पादकों से ऑक्सीन की मांग पूरी नहीं होती है तो इसका आयात भी किया जाए।

PM ने ऑक्सीजन की बर्बादी न हो पर कही ये बात :

इसके साथ ही महाराष्ट्र सहित कई राज्यों में ऑक्सीजन की किल्लत के बीच केंद्र की मोदी सरकार ने राज्यों से कहा है कि, ''वे मेडिकल ऑक्सीजन का सावधानीपूर्वक इस्तेमाल करें और यह सुनिश्चित करें कि ऑक्सीजन की बर्बादी न हो।''

देश के इन राज्यों में ऑक्सीजन की ज्यादा डिमांड :

तो वहीं, अभी तक सामने आई जानकारी के अनुसार और PM की इस समीक्षा बैठक में बताया गया कि, ''इस समय देश के 12 राज्यों महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, गुजरात, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, छत्तीसगढ़, कर्नाटक, केरल, तमिलनाडु, पंजाब, हरियाणा और राजस्थान में ऑक्सीजन की ज्यादा मांग है।'' साथ ही अधिकारियों द्वारा ये भी बताया गया है कि, ''देश में आने वाले 30 अप्रैल तक 6593 टक तक ऑक्सीन की डिमांड हो सकती है। इसी हिसाब से ऑक्सीन के 24 घंटे निर्माण की तैयारी चल रही है।''

विदेशों से ऑक्सीजन आयात का फैसला :

जानकारी के लिए ये भी बताते चले कि, सरकार ने विदेशों से ऑक्सीजन आयात करने का फैसला किया है। इस बारे में सरकार की ओर से जारी हुए बयान में कहा गया- कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए ऑक्सीजन आयात किया जाएगा। यानी देश में जल्द ही अस्पतालों में इस्तेमाल होने वाली ऑक्सीजन मिलने लगेगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co